Prayagraj Weather Update ​​​​​अचानक मौसम ने ली संगमनगरी में करवट, बूंदाबांदी और ठंड ने कंपाया

प्रयागराज और आसपास कौशांबी तथा प्रतापगढ़ में शनिवार को सुबह से सर्द हवाएं चलने लगीं। सड़कों पर कोहरा था जबकि आसमान में बादलों ने भी डेरा जमाए रखा। इससे गलन भी बढ़ गई। कुछ ही देर में बाद हल्की बूंदाबांदी शुरू हो गई। इसके बाद गलन भी बढ़ गई

Ankur TripathiPublish: Sat, 22 Jan 2022 11:39 AM (IST)Updated: Sat, 22 Jan 2022 11:39 AM (IST)
Prayagraj Weather Update ​​​​​अचानक मौसम ने ली संगमनगरी में करवट, बूंदाबांदी और ठंड ने कंपाया

प्रयागराज, जेएनएन। संगमनगरी में मौसम ने शनिवार को फिर से अंगड़ाई ली। बूंदाबांदी के साथ सर्द हवाएं चलनी लगीं। इससे गलन भी बढ़ गई। ठंड बढ़ने से लोग कांप उठे। हालात तो यह रहे कि गरम कपड़ों में लिपटे लोग भी कांपते रहे। चौराहों पर जहां भी अलाव जलते दिखे। वहां पर लोगों की भीड़ भी नजर आई। हर कोई ठंड से बचने में जुटा रहा।

नीचे कोहरा और ऊपर बादलों का डेरा

प्रयागराज और आसपास के जनपदों कौशांबी तथा प्रतापगढ़ में शनिवार को सुबह से ही सर्द हवाएं चलने लगीं। सड़कों पर कोहरा था जबकि आसमान में बादलों ने भी डेरा जमाए रखा। इससे गलन भी बढ़ गई। कुछ ही देर में बाद हल्की बूंदाबांदी शुरू हो गई। इसके बाद गलन भी बढ़ गई। ठंड ऐसी कि लोग कांपते रहे। सड़कों पर वाहनों की रफ्तार भी थमी सी रही। कुछ देर बाद जब बूंदाबांदी थमी तो लोग फिर से बाहर निकले। मौसम विभाग की मानें तो शनिवार को न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 9.4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। इसके अलावा अधिकतम तापमान 23.1 डिग्री रिकार्ड किया गया। वातावरण में 71 से 95 फीसद तक नमी दर्ज की गई। मौसम विभाग की मानें तो ऐसे ही दिन भर मौसम रहेगा। रह-रहकर बारिश भी होगी। इसके चलते गलन भी बढ़ेगी। मौसम विज्ञानी डाक्टर शैलेंद्र राय ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के चलते अचानक मौसम में यह बदलाव आया है। कुछ दिन सर्दी लोगों को और सताएगी। इसके बाद लोगों को ठंड से राहत मिलेगी।

एक दिन पहले गुनगुनी धूप ने रिझाया था

एक दिन पहले शुक्रवार को प्रयागराज का मौसम काफी खुशनुमा था। सुबह से ही हल्की धूप से लोगों को काफी राहत मिली। दिनभर धूप रही। यह मौसम काफी दिन बाद देखने को मिला। धूप से अनुमान जताया जा रहा था कि शनिवार को भी मौसम अपेक्षाकृत साफ रहेगा। हालांकि, मौसम ने अचानक करवट लिया और पूरे शहर को कंपा दिया।

Edited By Ankur Tripathi

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept