प्रयागराज में पेयजल समस्‍या नहीं झेलेंगे लोग, मोहल्लों में खामी दूर करेगी इंजीनियरों की टीम

जलकल के महाप्रबंधक हरिश्चंद्र वाल्मीकि ने बताया कि इंजीनियरों की टीम उन स्थानों का सर्वे सबसे पहले करेगी जहां पर लगातार दूषित पानी की शिकायत हो रही है। सर्वे के बाद यहां पी पाइप लाइन बदली जाएगी। जहां पर लोप्रेशर की समस्या है वहां पर एक पाइप लाइन बिछाई जाएगी।

Brijesh SrivastavaPublish: Tue, 17 May 2022 01:05 PM (IST)Updated: Tue, 17 May 2022 01:05 PM (IST)
प्रयागराज में पेयजल समस्‍या नहीं झेलेंगे लोग, मोहल्लों में खामी दूर करेगी इंजीनियरों की टीम

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। प्रयागराज में दूषित पानी की समस्या से नगरवासियों को जल्द ही राहत मिलने वाली है। जलकल की ओर दूषित पानी की किस कारण से और क्यों आ रहा है, इस समस्या को जानने के लिए इंजीनियरों की आठ विशेष टीम बनाई जाएगी। यह टीम उन क्षेत्रों का सर्वे करेंगी जहां पर पिछले कई दिनों से दूषित पानी और लो प्रेशर की समस्या से लोग परेशान हैं।

शहर के किन इलाकों में अधिक है पेयजल किल्‍लत : शहर में करेली, दारागंज, शिवकुटी, सलोरी, सोहबतियाबाग, धूमनगंज, एलनगंज, झलवा, कटरा, लूकरगंज सहित शहर के कई हिस्सों में पेयजल की समस्या बनी हुई है। पिछले दिनी हुई नगर निगम में सदन की बैठक के दौरान भी पानी की समस्या को लेकर हंगामा हुआ था। उस दौरान सदन में जल समस्या को दूर करने की बात कही गई है।

बोले, जलकल विभाग के महाप्रबंधक : जलकल के महाप्रबंधक हरिश्चंद्र वाल्मीकि ने बताया कि इंजीनियरों की टीम उन स्थानों का सर्वे सबसे पहले करेगी जहां पर लगातार दूषित पानी की शिकायत हो रही है। सर्वे के बाद यहां पी पाइप लाइन बदली जाएगी। इसके अलावा जहां पर लोप्रेशर की समस्या है वहां पर एक पाइप लाइन बिछाई जाएगी। बारिश के पहले इंजीनियरों की टीम समस्याओं की रिपोर्ट तैयार करगी।

आठ हजार घरों में एक सप्‍ताह से जल संकट : शहर के भरद्वाजपुरम (अल्लापुर) में आठ हजार लोग एक सप्ताह से पेयजल संकट झेल रहे हैं। से छुटकारा नहीं मिला पाया है। तुलसी पार्क में लगे बड़े टयूबवेल से गंदा पानी 10 मई से निकल रहा है। जलकल की टीम इसे ठीक करने का प्रयास तो कर रही है लेकिन टयूबवेल से गंदा पानी ही निकल रहा है।। जलकल के महाप्रबंधक भी इस क्षेत्र में पेयजल का दुरुस्त करने के लिए मौका मुआयना किया फिर भी समस्या जस की तस बनी हुई है।

खरीदकर पी रहे पानी : एक सप्ताह से वाटर टैंकर से कुछ मोहल्लों में पानी की आपूर्ति की जा रही है। ज्यादातर लोग पानी खरीद कर पी रहे हैं। जलकल के महाप्रबंधक हरिश्चंद्र वाल्मीकि तुलसी पार्क गए। टयूबवेल से पानी के साथ बालू, मिट्टी आने से दूसरे स्थान पर नया टयूबवेल दो दिन के भीतर लगवाने का भरोसा दिलाया है।

Edited By Brijesh Srivastava

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept