भाकियू के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता राकेश टिकैत बोले- विधानसभा चुनाव पर जाति व धार्मिक मुद्दे हावी हैं

भाकियू टिकैत गुट के जिलाध्यक्ष अनुज सिंह का कहना है कि तीन दिन तक राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत यहां रहेंगे। किसानों की समस्याओं का कैसे समाधान हो और किसान कैसे खुशहाल बनें इस पर मंथन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि चिंतन शिविर में कई राज्यों से किसान आएंगे।

Brijesh SrivastavaPublish: Sun, 16 Jan 2022 12:04 PM (IST)Updated: Sun, 16 Jan 2022 04:09 PM (IST)
भाकियू के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता राकेश टिकैत बोले- विधानसभा चुनाव पर जाति व धार्मिक मुद्दे हावी हैं

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुट के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि राष्ट्रीय चिंतन शिविर में किसानों के तमाम मुद्दों को लेकर चर्चा की जाएगी। इस समय धान खरीद का बहुत बड़ा मुद्दा है। इसे लेकर गहनता से मंथन होगा। उन्होंने कहा कि पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव पर किसान मुद्दों से अधिक जाति और धार्मिक मुद्दे हावी हैं। हिंदू, मुस्लिम और जिन्ना का राग अलापा जा रहा है। यह सब सिर्फ 15 मार्च तक ही चलेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में हो रहे चुनाव से उन्हें कोई मतलब नहीं है। जो जिसे वोट देना चाहता है उसे दे। कहा कि सरकार चाहे जिसकी बने लेकिन विपक्ष को मजबूत होना चाहिए।

राकेश टिकैत का प्रयागराज में भव्‍य स्‍वागत

भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुट के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत आज रविवार की दोपहर प्रयागराज पहुंचे। बमरौली एयरपोर्ट पर उनका भव्‍य स्‍वागत कार्यकर्ताओं ने किया। भारतीय किसान यूनियन के परेड मैदान पर आयोजित तीन दिवसीय चिंतन शिविर में वे भाग लेंगे। यूनियन के पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं और किसानों के साथ वे तमाम मुद्दों पर चर्चा करेंगे। साथ ही किसानों की हक की लड़ाई लड़ने के लिए रणनीति बनाएंगे। चुनावी मौसम में किसानों के इस चिंतन शिविर को काफी अहम माना जा रहा है।

16 से 18 जनवरी तक प्रयागराज में चिंतन शिविर

भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुट के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत का रविवार दोपहर दिल्ली से प्रयागराज के बमरौली एयरपोर्ट पर आगमन हुआ। यहां से वे सीधे परेड मैदान में चिंतन शिविर में पहुंचेंगे। 16 से 18 जनवरी तक चलने वाले चिंतन शिविर में चरणबद्ध तरीके से मुद्दाें पर विचार-विमर्श किया जाएगा। इसमें सर्वप्रथम मिनिमम सपोर्ट प्राइस (एमएसपी) पर चर्चा होगी। किसान इसे सबसे बड़ा मुद्दा मनाते हैं। इसके अलावा धान खरीद में हो रही मनमानी और किसानों के शोषण का मुद्दा भी उठाया जाएगा।

प्रयागराज में बनेगी रणनीति

छह माह तक किन-किन मुद्दों को लेकर आवाज उठाई जाएगी, इस पर रणनीति बनाई जाएगी। जून के अंतिम सप्ताह में फिर बैठक की घोषणा होगी और आगे की रणनीति पर चर्चा होगी।

कोरोना गाइडलाइन का पालन होगा : अनुज सिंह

जिलाध्यक्ष अनुज सिंह का कहना है कि तीन दिन तक राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत यहां रहेंगे। किसानों की समस्याओं का कैसे समाधान हो और किसान कैसे खुशहाल बनें, इस पर मंथन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि चिंतन शिविर में कई राज्यों से किसान आएंगे। कोरोना को लेकर जो नियम बनाए गए हैं, उसका पालन करते हुए कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।

Edited By Brijesh Srivastava

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept