प्रयागराज में युवक को मारी चार गोलियां, सरेशाम ताबड़तोड़ फायरिंग से मची भगदड़

पुलिस ने बताया कि पांडर गांव निवासी आशीष त्रिपाठी उर्फ गुड्डू पुत्र मंगला प्रसाद त्रिपाठी को आपसी विवाद के चलते गोलियां मारी गई हैं। उसे एसआरएन अस्पताल ले जाया गया। घटनास्थल पर फायरिंग के बाद दहशत फैल गई थी। हमलावरों के भागने के बाद लोग घटनास्थल की तरफ जुटे

Ankur TripathiPublish: Tue, 17 May 2022 07:37 PM (IST)Updated: Tue, 17 May 2022 10:12 PM (IST)
प्रयागराज में युवक को मारी चार गोलियां, सरेशाम ताबड़तोड़ फायरिंग से मची भगदड़

प्रयागराज, जेएनएन। जनपद के यमुनापार में पांडर पेट्रोल पंप कालिका का पूरा के पास आशीष त्रिपाठी उर्फ गुड्डू (35) को मंगलवार शाम चार गोलियां मारी गईं। तीन गोली उसके पेट और एक गर्दन में लगी है। उसे स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत नाजुक है। जसरा बाजार के रहने वाले व्यापारी धर्मेंद्र केसरवानी पर गोली मारने का आरोप लगा है। बारा पुलिस के मुताबिक अभी तक की जांच में रुपये के लेन-देन को लेकर घटना की बात सामने आ रही है।

गोलियों की तड़तड़ाहट से फैल गई थी दहशत

बारा में पांडर गांव निवासी मंगला प्रसाद त्रिपाठी सेवानिवृत्त शिक्षक हैं। उनके तीन पुत्रों में सबसे बड़ा आशीष त्रिपाठी मंगलवार शाम जसरा बाजार स्थित धर्मेंद्र केसरवानी के किराने की दुकान पर गया था। यहां धर्मेंद्र के घरवालों से उसकी कुछ कहासुनी हुई। इसके बाद वह बाइक लेकर पांडर पेट्रोल पंप कालिका का पूरा के पास पहुंचा। यहां धर्मेंद्र की सीमेंट की दुकान है। दुकान की देखरेख उसका पुत्र करता है। यहां भी कुछ विवाद हुआ। अभी झगड़ा चल ही रहा था कि पीछे से धर्मेंद्र केसरवानी बाइक से पहुंचा। इसके बाद उसने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से आशीष पर गोलियां बरसा दीं। चार गोली लगते ही आशीष वहीं खून से लथपथ होकर गिर पड़ा।

पिस्टल लहराते भाग गया आरोपित हमलावर

धर्मेंद्र पिस्टल लहराते हुए वहां से भाग गया। कुछ देर बाद स्वजनों के साथ बारा पुलिस मौके पर पहुंची। घायल युवक को स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल लाकर भर्ती कराया गया। एसपी यमुनापार सौरभ दीक्षित का कहना है कि आशीष के घरवालों ने अभी कोई तहरीर नहीं दी है, जिस कारण मुकदमा दर्ज नहीं किया गया है। धर्मेंद्र की तलाश की जा रही है। उसके घरवालों से पूछताछ की गई तो बताया गया कि आशीष ने आठ बोरी सीमेंट लिया था। इसके रुपये नहीं दिए थे। मंगलवार को वह फिर दो बाेरी सीमेंट मांग रहा था, जिस पर पिछला रुपये देने को कहा गया। इसी बात को लेकर विवाद हुआ था। हालांकि, मामले की जांच की जा रही है। दुकान बंद कर दुबक गए लोगताबड़तोड़ फायरिंग से घटनास्थल के आसपास रहने वाले लोगों में अफरातफरी मच गई। दुकानदार दुकान बंद कर भीतर ही दुबक गए। पुलिस जब मौके पर पहुंची, तब जाकर लोग दुकान और घरों से बाहर निकले। उधर, जसरा बाजार के व्यापारियों को घटना की जानकारी हुई तो उन्होंने भी दुकानें बंद कर दी।

रिट सेल प्रभारी वीरेंद्र यादव बने मानधाता थाना प्रभारी

प्रतापगढ़ मे काम में लापरवाही बरतने पर मानधाता एसओ उदयवीर सिंह को एसपी ने लाइन हाजिर कर दिया है। रिट सेल प्रभारी वीरेंद्र यादव को मानधाता एसओ बनाया गया है। इसके साथ प्रशिक्षु सीओ विनय साहनी को जेठवारा थाने का प्रभारी बनाया गया है। पुलिस कार्यालय में एसपी को जन सुनवाई के दौरान मानधाता एसओ की लगातार शिकायतें मिल रही थीं। अमूमन फरियादियों से सलीके पेश नहीं आने, पीड़ित का मुकदमा नहीं दर्ज करने, फर्जी एफआइआर दर्ज करने जैसी शिकायतें थी। एसपी ने मानधाता एसओ को कार्यप्रणाली में सुधार लाने की चेतावनी दी थी। फिर भी रवैए में सुधार नहीं आया, इस पर एसपी ने मानधाता एसओ उदयवीर सिंह को लाइन हाजिर कर दिया। उनकी जगह रिट सेल प्रभारी रहे वीरेंद्र यादव को एसओ बनाया गया है। प्रशिक्षण सीओ विनय साहनी को जेठवारा थाने का प्रभारी बनाया गया है। एसपी सतपाल अंतिल ने बताया कि मानधाता एसओ की लगातार शिकायतें मिल रहीं थी। इसलिए लाइन हाजिर किया गया है।

Edited By Ankur Tripathi

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept