Prayagraj News: भदोही के बालक की गंगा नदी में डूबने से मौत, शादी समारोह में हंडिया आया था

भदोही जिले का 10 वर्षीय शानू हासमी मां के साथ हंडिया निवासी अपने मौसा हासमी के घर शादी समारोह में आया हुआ था। मंगलवार को कुछ साथियों के साथ वह गंगा स्नान करने के लिए टेला गंगा घाट पर पहुंचा। गंगा में डूबने से उसकी मौत हो गई।

Brijesh SrivastavaPublish: Tue, 17 May 2022 02:23 PM (IST)Updated: Tue, 17 May 2022 02:23 PM (IST)
Prayagraj News: भदोही के बालक की गंगा नदी में डूबने से मौत, शादी समारोह में हंडिया आया था

प्रयागराज, जेएनएन। भदोही जिले के एक बालक की प्रयागराज जनपद में गंगा नदी में डूबने से मौत हो गई। हादसा मंगलवार को हंडिया इलाके के गंगा घाट पर हुआ। कुछ किशोर साथियों के साथ वह भी स्‍नान करने पहुंचा था। नहाने के दौरान गहरे पानी में डूबने लगा। चीख-पुकार पर घाट पर मौजूद लोगों ने उसे बचाने का प्रयास किया लेकिन गहरी धारा में वह समा गया। पुलिस ने गोताखोरों की मदद से बालक का शव बरामद कर लिया है।

10 वर्षीय जमील दोस्‍तों संग गंगा स्‍नान को गया था : हंडिया कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत बरौत चौकी इलाके में टेला गंगा घाट पर हादसा हुआ। भदोही जिले के छनौरा गांव निवासी 10 वर्षीय शानू हासमी पुत्र स्वर्गीय जमील अपनी मां नजमा बेगम के साथ हंडिया कोतवाली क्षेत्र के टेला गांव निवासी अपने मौसा हासमी के घर शादी समारोह में इन दिनों आया हुआ था मंगलवार की सुबह कुछ साथियों के साथ वह गंगा स्नान करने के लिए टेला गंगा घाट पर पहुंचा।

गोताखोरों ने शव ढूंढा : साथियां के साथ स्नान करते समय शानू गहरे पानी में चला गया और डूबने लगा। यह देख उसके साथी चीखने-चिल्‍लाने लगे। यह देख घाट पर मौजूद कुछ लोगों ने उसे बचाने का असफल प्रयास किया। शानू गहरे पानी में समा चुका था। जानकारी होने पर शानू के परिवार के लोग भी बिलखते हुए पहुंचे। तब तक सूचना पर पहुंची बरौत चौकी इंचार्ज सूर्य प्रकाश दुबे मय फोर्स घटनास्थल पर पहुंच चुके थे। पुलिस ने गोताखोरों की मदद से शानू का गंगा नदी से शव बरामद किया। पंचनामा भरकर शव स्‍वजनों को सौंपा। यमुनापार के मेजा थाना क्षेत्र में भी गंगा नदी में एक युवक के डूबने की सूचना मिल रही है। बताते हैं कि गंगा स्नान के दौरान युवक नदी में डूब गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने गोताखारों को बुलवा लिया है। गाेताखोर युवक की तलाश कर रहे हैं।

Edited By Brijesh Srivastava

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept