बीए छात्रा हत्याकांड: वहां होता था नशेड़ियों का जमावड़ा लेकिन अनदेखी करती रही प्रयागराज पुलिस

छात्रा के साथ हैवानियत और हत्या करने का संदेह कुछ नशेड़ियों पर भी जताया जा रहा है। आराेपित अमन ने अपने बयान में कहा है कि जंगल में मारपीट करने वाले उधर ही घूमते रहते हैं। पुलिस को पता चला है कि वहां अराजकत्वों का जमावड़ा लगता है।

Ankur TripathiPublish: Thu, 27 Jan 2022 08:17 AM (IST)Updated: Thu, 27 Jan 2022 08:17 AM (IST)
बीए छात्रा हत्याकांड: वहां होता था नशेड़ियों का जमावड़ा लेकिन अनदेखी करती रही प्रयागराज पुलिस

प्रयागराज, जेएनएन। शहर के सलोरी इलाके में आइईआरटी के पीछे जंगल में बीए की छात्रा को हैवानियत के बाद कत्ल करने की घटना में पुलिस को नशेड़ियों पर शक है। वहां स्मैक और गांजा का नशा करने वाले जुटते रहे हैं। पुलिस को इसकी शिकायत मिलती रही है लेकिन कभी कोई सख्त कदम नहीं उठाया जिसका नतीजा सामने है। यह तो बड़ी और खौफनाक वारदात है जिसकी तहकीकात हो रही है लेकिन असल में ये नशेड़ी अक्सर छेड़खानी और छिनैती करते रहते हैं जिसकी पुलिस केस तक नहीं दर्ज करती है।

​​​​​पुलिस की शह पर गांजा और स्मैक का कारोबार

छात्रा के साथ हैवानियत और हत्या करने का संदेह कुछ नशेड़ियों पर भी जताया जा रहा है। आराेपित अमन ने अपने बयान में कहा है कि जंगल में मारपीट करने वाले उधर ही घूमते रहते हैं। घटना स्थल और आसपास की जांच में पुलिस को पता चला है कि वहां अराजकत्वों का जमावड़ा लगता है। शराब, स्मैक, गांजा पीने वाले दिन ढलते ही पहुंचने लगते हैं। मगर चौंकाने वाली बात यह भी है कि बघाड़ा, सलोरी, गोविंदपुर समेत कई इलाके में गांजा, स्मैक का बड़ा कारोबार होता है। करीब दो साल पहले कर्नलगंज थाने में तैनात एक सिपाही को गांजा तस्करों के संपर्क होने के चलते निलंबित किया गया था। वह हाल ही होलागढ़ से लाइन हाजिर हुआ, मगर कर्नलगंज इलाके में अक्सर तस्करों की गाड़ी से घूमता रहता है। उसके साथ कर्नलगंज थाने का कारखास सिपाही भी रहता है। ऐसे में अपराधियों के साथ गांठ में इनकी भी भूमिका होने की बात कही जा रही है। पुलिस अधिकारियों के पास कुछ इसी तरह की जानकारी पहुंची है, जिसे ध्यान में रखते हुए छानबीन चल रही है। कई संदिग्धों को उठाकर पूछताछ भी की जा रही है।

ब्राम्हण समाज में गहरी नाराजगी

घटना को लेकर ब्राम्हण समाज में भी गहरी नाराजगी है। छात्र और छात्राओं में आक्रोश व्याप्त है। वारदात को लेकर इंटरनेट मीडिया पर भी तरह-तरह की प्रतिक्रिया व्यक्त की जा रही है। कुछ लोग घटना की वजह बिगड़ती कानून-व्यवस्था बता रहे तो कुछ पुलिस व प्रशासन पर हीलाहवाली की वजह को जिम्मेदार मान रहे हैं। पोस्टमार्टम हाउस पर मौजूद रहे छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष संजय तिवारी समेत तमाम लोगों ने घटना की निंदा करते हुए दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग की।

Edited By Ankur Tripathi

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept