20 दिन में ही पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष तेजवीर ने छोड़ दी रालोद, बसपा का थामा दामन

UP Assembly Elections 2022 तेजवीर गुड्डू को 30 दिसंबर को दिल्ली स्थित रालोद मुख्यालय पर रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी ने रालोद में शामिल करने की घोषणा की थी। मंगलवार को तेेजवीर सिंह गुड्डू ने पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व सांसद बाबू मुनकाद अली से मुलाकात की थी।

Anil KushwahaPublish: Thu, 20 Jan 2022 08:19 AM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 08:46 AM (IST)
20 दिन में ही पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष तेजवीर ने छोड़ दी रालोद, बसपा का थामा दामन

अलीगढ़, जागरण संवाददाता। UP Assembly Elections 2022 पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष तेजवीर सिंह गुड्डू मात्र 20 दिन ही रालोद में रहे। बुधवार को यह बसपाई में शामिल हो गए। इन्हें बसपा के के मंडल के मुख्य सेक्टर प्रभारी सूरज सिंह ने मसूदाबाद आवास विकास कालोनी स्थित आवास पर पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई।

30 दिसंबर को रालोद में शामिल हुए थे तेजवीर सिंह 

तेजवीर गुड्डू को 30 दिसंबर को दिल्ली स्थित रालोद मुख्यालय पर रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी ने रालोद में शामिल करने की घोषणा की थी। मंगलवार को खैर रोड स्थित कैंप कार्यालय पर तेेजवीर सिंह गुड्डू ने पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व सांसद बाबू मुनकाद अली से मुलाकात की थी। इसके बाद मंडल के मुख्य सेक्टर प्रभारी सूरज सिंह व अशोक सिंह ने तेजवीर सिंह गुड्डू के पार्टी में शामिल होने की पटकथा लिखी। बसपा के वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को तेजवीर सिंह गुड्डू के छोटे पुत्र कार्तिक चौधरी की पत्नी चारू चौधरी को खैर सुरक्षित विधानसभा से चुनाव लड़ाने का प्रस्ताव भेजा। जिस पर शीर्ष नेतृत्व ने बुधवार को देर रात अपनी सहमति जताई। एमबीबीएस छात्रा चारू चौधरी के नाम की घोषणा के बाद तेजवीर सिंह गुड्डू के जापान हाउस स्थित आवास पर समर्थकों का जमावड़ा लगा रहा। वहीं तेजवीर गुड्डू के बड़े बेटा दीपक चौधरी व कार्तिक चौधरी को समर्थकों के साथ मुख्य सेक्टर प्रभारी सूरज सिंह ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई। इस मौके पर मंडल के मुख्य सेक्टर प्रभारी अशोक सिंह, रणवीर सिंह कश्यप, सुरेश गौतम, मुकेश चंद्र, गजराज सिंह विमल, बिजेंद्र सिंह विक्रम, चौधरी हरजीत सिंह, अर्जुन स्वामी,शहर विधानसभा अध्यक्ष क्षत्रपाल सिंह, प्रभारी साहब सिंह आदि मौजूद थे। तेजवीर गुड्डू ने कहा कि वे पार्टी की नीतियों से प्रभावित होकर बसपा में शामिल हुए हैं। अब बसपा सुप्रीमों मायावती के मिशन को आगे बढ़ाएंगे। क्षेत्र की जनता उनके साथ हैं। वे किसान, मजदूर, गरीबों के हक दिलाने के लिए बसपा में शामिल हुए हैं। क्षेत्र की जनता की मांग पर ही उनकी पुत्रवधु चुनावी समर में उतरेंगी। वह पढ़ी लिखी व शिक्षित है। युवाओं की आवाज बनकर उभरेंगी।

Edited By Anil Kushwaha

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept