मतदाता दिवस 2022: वोट से है अपना शासक चुनने की आजादी, जानेंं विस्‍तार से

Mangalayatan University प्रत्येक वर्ष राष्ट्रीय मतदाता दिवस देश के नागरिकों को राष्ट्र के प्रति अपने कर्तव्य को याद दिलाने के लिए मनाया जाता है। यह दिवस यह भी बताता है कि भारत जैसे सबसे बड़े लोकतांत्रित देश में मतदान कितना जरूरी है।

Sandeep Kumar SaxenaPublish: Tue, 25 Jan 2022 05:25 PM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 05:25 PM (IST)
मतदाता दिवस 2022: वोट से है अपना शासक चुनने की आजादी, जानेंं विस्‍तार से

अलीगढ़, जागरण संवाददाता। प्रत्येक वर्ष राष्ट्रीय मतदाता दिवस देश के नागरिकों को राष्ट्र के प्रति अपने कर्तव्य को याद दिलाने के लिए मनाया जाता है। यह दिवस यह भी बताता है कि भारत जैसे सबसे बड़े लोकतांत्रित देश में मतदान कितना जरूरी है। मंगलवार को इगलास तहसील के मंगलायतन विश्वविद्यालय में पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग द्वारा राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर वेबिनार का आयोजन किया गया। वेबिनार में वक्ताओं ने ‘‘लोकतंत्र में वोट का महत्व‘‘ विषय पर अपने विचार रखते हुए कहा कि हम वोट की ताकत से एक अच्छा प्रतिनिधि चुनकर देश को विकास और तरक्की के पथ ले जा सकते हैं।

अपना शासक चुनने की आजादी

मुख्य वक्ता स्टडी हॉल कॉलेज लखनऊ के डीन डा. हिमांशु प्रताप सिंह ने कहा कि लोकतंत्र में वोट महत्वपूर्ण स्तंभ है। जनता को स्वयं अपना शासक चुनने की आजादी होती है। देश में महिलाओं की भागीदारी के साथ वोट का प्रतिशत बहुत कम है इसे बढ़ाने की आवश्यकता है। एक दुर्भाग्य यह भी है कि यहां जाति, धर्म व भाषा के नाम पर वोटिंग की जाती और मुद्दे गायब रहते हैं, हमें इन सबसे ऊपर उठकर सही प्रतिनिधि का चुनाव करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार बनाने में यूथ महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। वोट की जो ताकत जनता के पास है इसे समझने की आवश्यकता है। पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के अध्यक्ष डा. संतोष गौतम ने कहा कि वोट से आप अपने भविष्य को बनाते हैं। युवाओं को लोकतांत्रित परंपरा को बरकरार रखने के लिए धर्म, जाति व किसी भी प्रलोभन से प्रभावित हुए बिना निर्भीक होकर वोट देना चाहिए। मजबूत लोकतंत्र के लिए एक-एक वोट महत्वपूर्ण है।

पहचानेंं उंगलिलयों की ताकत 

प्रवक्ता मनीषा उपाध्याय ने कहा कि हमारी उंगली में वह ताकत है जो किसी भी सरकार को उठाने व गिराने का दम रखती है। मतदान अधिकार से ज्यादा कर्तव्य है। कार्यक्रम का संचालन प्रवक्ता मयंक जैन ने किया। कार्यक्रम के आयोजन मंविवि के एनएसएस इकाई की सहभागिता रही। वेबिनार में डा. शिव कुमार, डा. देवप्रकाश दहिया, लव मित्तल, भावना वशिष्ठ, भूमि वार्ष्णेय, दीपम गुप्ता, मंजीत, कृपा अरोरा आदि मौजूद रहे।

Edited By Sandeep Kumar Saxena

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम