अलीगढ़ में ट्रक व निजी बस में टक्‍कर, एक की मौत, 10 घायल

उत्‍तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के थाना गांधीपार्क क्षेत्र में बौनेर के पास मंगलवार की दोपहर बाद ट्रक व निजी बस की आमने सामने भिड़ंत हुई है। इसमें कई लोग घायल हुए हैं। हादसे के दौरान यात्रियों में मची चीख पुकार से आसपास के लोग मौके पर आ गए।

Sandeep Kumar SaxenaPublish: Tue, 18 Jan 2022 03:35 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 06:16 PM (IST)
अलीगढ़ में ट्रक व निजी बस में टक्‍कर, एक की मौत, 10 घायल

अलीगढ़, जागरण संवाददाता। उत्‍तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के  महुआखेड़ा थाना क्षेत्र के धनीपुर हवाई पट्टी के पास मंगलवार दोपहर को बड़ा हादसा हुआ। ट्रक व निजी बस के बीच आमने-सामने भिड़ंत में अकराबाद के नगरिया चाहरम पट्टी निवासी 40 वर्षीय उर्मिला पत्नी नन्हे सिंह की मौत हो गई। हादसे में 11 लोग घायल हैं। इनमें चार-पांच लोगों की हालत गंभीर है, जिन्हें जेएन मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। अन्य घायल निजी अस्पतालों में हैं। घायल अलीगढ़ जिले के ही हैं। हादसा इतना जबरदस्त था कि बस का एक तरफ का हिस्सा पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। हादसे के बाद हाईवे पर जाम लग गया। पुलिस ने रास्ता रोककर क्षतिग्रस्त वाहनों को हटाकर यातायात को सुचारू करवाया। हादसे के दौरान यात्रियों में मची चीख पुकार से आसपास के लोग मौके पर आ गए। घायलों को जिला अस्पताल भिजवाया गया है।

घर पर ही सही देखभाल से कोरोना को दे मात

 अलीगढ़ः कोविड-19 के मामले बढ़ जरूर रहे हैं, लेकिन पहली दो लहरों जैसी गंभीर स्थिति संक्रमितों में इस बार नहीं देखी जा रही है । बहुत से लोगों में तो कोई खास लक्षण नजर नहीं आ रहे हैं, फिर भी उनकी रिपोर्ट पाजिटिव आ रही है । ऐसी स्थिति में घर पर ही रहकर कोविड प्रोटोकाल का पालन व सही देखभाल से उपचार संभव है। स्वास्थ्य महानिदेशालय से जारी दवाओं का सेवन करते हुए कोरोना को आसानी से मात दिया जा सकता है । इसके साथ ही सरकार द्वारा कोविड की जांच, उपचार और रेफर के लिए बनाए गए इंटीग्रेटेड कमांड व कंट्रोल सेंटर से संक्रमितों की निगरानी की जा रही है और जरूरी परामर्श भी दिया जा रहा है ।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. नीरज त्यागी ने बताया कि स्वास्थ्य महानिदेशालय ने इस बार कोविड को मात देने के लिए समिति द्वारा निर्धारित दवाओं की सूची जारी करने के साथ ही कोरोना से निपटने के लिए की गईं तैयारियों और बरती जाने वाली सावधानियों का भी जिक्र किया है । पत्र के मुताबिक इंटीग्रेटेड कमांड व कंट्रोल सेंटर से होम आइसोलेशन के पात्र मरीजों के स्वास्थ्य की स्थिति की निरंतर निगरानी की जा रही है । किसी होम आइसोलेटेड मरीज के लक्षण युक्त हो जाने या उसे चिकित्सकीय सहायता की जरूरत होने पर इलाज व संदर्भन की सुविधा मिल रही है । इसके अलावा जन सामान्य को कोविड से बचाव के उपायों और प्रदेश में उपलब्ध कोविड की जांच व इलाज की उपलब्ध सेवाओं के बारे में अवगत कराया जा रहा है । चिकित्सीय सलाह की सुविधा पूरे समय के लिए उपलब्ध है ।

Edited By Sandeep Kumar Saxena

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept