यूपी टीईटी में विज्ञान व सीडीपी के प्रश्‍न पत्रों ने ठंड में छुड़ाए अभ्‍यर्थियों के पसीने, पहली पाली में 1906 रहे गैरहाजिर

28 नवंबर 2021 को पेपर लीक होने के चलते यूपी टीईटी रद की गई थी। अब करीब दो महीने बाद अभ्यर्थियों ने फिर परीक्षा दी। कड़ाके की ठंड के बीच विज्ञान व चाइल्ड डेवलपमेंट एंड पैडागोजी (सीडीपी) विषयों के कठिन सवालों ने अभ्यर्थियों के पसीने छुड़ाए।

Anil KushwahaPublish: Mon, 24 Jan 2022 09:30 AM (IST)Updated: Mon, 24 Jan 2022 09:45 AM (IST)
यूपी टीईटी में विज्ञान व सीडीपी के प्रश्‍न पत्रों ने ठंड में छुड़ाए अभ्‍यर्थियों के पसीने, पहली पाली में 1906 रहे गैरहाजिर

अलीगढ़, जागरण संवाददाता। कोरोना संक्रमण के दौर में रविवार को जिले में उत्तरप्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी टीईटी) का आयोजन कराया गया। सुबह 10 से 12.30 बजे और दोपहर 2.30 से शाम पांच बजे की दो पालियों में परीक्षा कराई गई। पहली पाली में प्राइमरी सेक्शन की परीक्षा के लिए पंजीकृत 18,888 अभ्यर्थियों में 16982 हाजिर व 1906 गैरहाजिर रहे। दूसरी पाली में अपर प्राइमरी सेक्शन की परीक्षा के लिए पंजीकृत 12726 अभ्यर्थियों में से 11279 हाजिर व 1447 गैरहाजिर रहे। कोरोना गाइडलाइंस के बीच शांतिपूर्ण ढंग से नकलविहीन परीक्षा कराई गई। कड़ाके की ठंड के बीच विज्ञान व चाइल्ड डेवलपमेंट एंड पैडागोजी (सीडीपी) विषयों के कठिन सवालों ने अभ्यर्थियों के पसीने छुड़ाए। 28 नवंबर 2021 को पेपर लीक होने के चलते परीक्षा रद की गई थी। अब करीब दो महीने बाद अभ्यर्थियों ने फिर परीक्षा दी। 

सीसीटीवी कैमरों से हुई परीक्षा केंद्रों की निगरानी

डीएम सेल्वा कुमारी जे. ने भी परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया। सीसी टीवी कैमरों के जरिए भी केंद्रों की विभिन्न कक्षाओं में चल रही परीक्षा पर नजर रखी। डीआइओएस डा. धर्मेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि केंद्रों के मुख्य गेट पर थर्मल स्क्रीनिंग व हैंड सैनिटाइज कराकर ही अभ्यर्थियों को प्रवेश दिया गया। मास्क लगाने व शारीरिक दूरी के नियम का पालन भी कराया गया। सुबह की पाली के लिए 38 व दूसरी पाली के लिए 26 केंद्रों का निर्धारण किया गया था। प्रश्नपत्र व ओएमआर शीट खुलने व सील होने की वीडियो रिकार्डिंग भी कराई गई। पहली पाली में 19 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 38 स्टेटिक मजिस्ट्रेट, 76 विभागीय पर्यवेक्षक व 13 सचल दल लगाए गए थे। दूसरी पाली में 13 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 26 स्टेटिक मजिस्ट्रेट, 52 विभागीय पर्यवेक्षक व नौ सचल दलों की निगरानी में परीक्षा कराई गई। केंद्रों के बाहर पुलिस बल भी मौजूद रहा। किसी केंद्र पर नकल जैसी गतिविधि नहीं पकड़ी हुई। वहीं दूसरी ओर परीक्षा केंद्रों से बाहर आए अभ्यर्थियों ने बताया कि प्राइमरी सेक्शन का पेपर काफी आसान व अपर प्राइमरी सेक्शन का पेपर कठिन आया था।

विद्यार्थियों के बोल

परीक्षा की काफी लंबे समय से तैयारी कर रहे थे। पेपर काफी आसान आया था। मगर विज्ञान व सीडीपी के प्रश्न कुछ कठिन आए थे। इसमें समय भी काफी लगा। परीक्षा बढ़िया हुई है।

विनोद कुमार, सिकंदराराऊ

पेपर न आसान था न कठिन। मजबूत तैयारी की थी। सभी प्रश्न हल किए। कुछ प्रश्नों ने काफी परेशान किया। इनको हल करने में समय भी लगा। मगर परीक्षा काफी शानदार हुई है।

रेनू सिंह, जयगंज

लंबी तैयारी के बाद परीक्षा दी है। कोरोना संक्रमण से बचने की चुनौती भी थी। सीडीपी के प्रश्न कुछ कठिन थे लेकिन तैयारी बेहतर की थी, परीक्षा बढ़िया हुई। अच्छे स्कोर की उम्मीद है।

ज्योति शर्मा, क्वार्सी

आनलाइन माध्यम से काफी तैयारी की थी। सभी प्रश्न हल किए। कुछ प्रश्न जरूर कठिन थे, जिनको हल करने में समय भी लगा। मगर पूरा पेपर किया, बेहतर परीक्षा हुई है। अब परिणाम का इंतजार है।

शालू, पीएसी

Edited By Anil Kushwaha

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept