This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

हाथरस में पुलिस की बदमाशों से मुठभेड़, दो गोली लगने से घायल

मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर सादाबाद बरामई बंबा के पास शुक्रवार सुबह पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हो गई।

Sandeep SaxenaFri, 13 Mar 2020 12:55 PM (IST)
हाथरस में पुलिस की बदमाशों से मुठभेड़, दो गोली लगने से घायल

हाथरस जेएनएन। मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर सादाबाद बरामई बंबा के पास शुक्रवार सुबह पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हो गई। बदमाशों को पुलिस ने पकडऩे की कोशिश की, लेकिन बदमाशों ने फायरिंग कर दी। जवाबी फायरिंग करने पर दो बदमाशों को गोली लग गई। एसओजी और सादाबाद कोतवाली पुलिस व मौके पर पहुंचे कप्तान बदमाशों का सादाबाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले आए। यहां बदमाशों का इलाज चल रहा है।

पुलिस वैन से भागा था बदमाश मुकेश

 पुलिस के मुताबिक पकड़े बदमाश शातिर हैं। सोनवीर उर्फ सोनू पुत्र भूरी सिंह  निवासी दाहिनी  शिकोहाबाद व मुकेश उर्फ छोटू अलीगढ़ में पुलिस वैन की जाली काट भागा था। दूसरा बदमाश राजकुमार उर्फ अजय है। बदमाश अजय और मुकेश गोली लगने से घायल हुए हैं।

अलीगढ़ से हाथरस के दो कुख्यात अपराधी पुलिस वैन से ऐसे हुए थे फरार

अलीगढ़। जिला कारागार से हाथरस कलेक्ट्रेट स्थित किशोर न्याय बोर्ड पेशी पर ले जाए गए हाथरस जिले के दो कुख्यात अपराधी वापसी के दौरान पुलिस वैन से फरार हो गए थे। दोनों मडराक टोल से लेकर कारागार के बीच कहां फरार हुए, इसकी भनक तक साथ चल रहे सुरक्षा स्टाफ को नहीं लगी। जब पुलिस वैन कारागार आकर रुकी तो दोनों को गायब देख सुरक्षा स्टाफ के होश उड़ गए थे। इस वैन के दरवाजे की जाली टूटी हुई थी। सिपाही अफरोज और हैड कांस्टेबल फिरोज को एसपी हाथरस ने निलंबित कर दिया था। कारागार प्रशासन के साथ-साथ अलीगढ़-हाथरस पुलिस में भी हड़कंप मच गया था। सुरक्षा स्टाफ को हिरासत में लेकर उनके खिलाफ सिविल लाइंस थाने में मुकदमे दर्ज करा दिए थे। हाथरस पुलिस ने सगीर (26 वर्ष) पुत्र मुन्ने खां निवासी धुवई थाना हसायन हाथरस को 30 नवंबर 2018 को जेल भेजा था, जबकि मुकेश उर्फ गुड्डू (28 वर्ष) पुत्र शंकर लाल निवासी समदपुर सादाबाद हाथरस हाल निवासी दयाल गार्डन आगरा को 12 अक्तूबर 2017 को जेल भेजा था। इन दोनों बंदियों की दो अलग-अलग पुराने मुकदमों में किशोर न्याय बोर्ड हाथरस कलेक्ट्रेट में शनिवार को तलबी थी क्योंकि इन वारदातों के समय ये दोनों किशोर थे।

Edited By Sandeep Saxena

अलीगढ़ में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

blinkLIVE

Saridon #NoMoreHidingHeadaches विषय पर चर्चा

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!