बुजुर्गों व दिव्‍यांग मतदाता सहमति पत्र भरेंगे और घर से ही कर सकेंगे मतदान

80 साल से ऊपर के बुजुर्ग व दिव्यांग मतदाताओं को मतदान से दो दिन पहले ही घर से वोट डालने का मौका मिल जाएगा। निर्वाचन विभाग ने इसकी तैयारी कर ली है। वीडियोग्राफी की निगरानी में पोलिंग पार्टियां घर-घर जाकर इन मतदाताओं से पोस्टल बैलेट के माध्यम से मतदान कराएंगी।

Anil KushwahaPublish: Tue, 18 Jan 2022 10:07 AM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 10:23 AM (IST)
बुजुर्गों व दिव्‍यांग मतदाता सहमति पत्र भरेंगे और घर से ही कर सकेंगे मतदान

सुरजीत पुंढीर, अलीगढ़ । 80 साल से ऊपर के बुजुर्ग व दिव्यांग मतदाताओं को मतदान से दो दिन पहले ही घर से वोट डालने का मौका मिल जाएगा। निर्वाचन विभाग ने इसकी तैयारी कर ली है। वीडियोग्राफी की निगरानी में पोलिंग पार्टियां घर-घर जाकर इन मतदाताओं से पोस्टल बैलेट के माध्यम से मतदान कराएंगी। हालांकि, इसके लिए इन मतदाताओं को सहमति पत्र देना अनिवार्य होगा। बीएलओ के माध्यम से यह सहमति पत्र भरे जा रहे हैं। जिले में अब तक दो हजार से अधिक मतदाताओं के सहमति पत्र भरे जा चुके हैं। अगर कोई दिव्यांग व बुजुर्ग मतदाता सहमति पत्र नहीं भरता है तो वह बूथ पर जाकर भी ईवीएम से मतदान कर सकता है।

अलीगढ़ में दस फरवरी का मतदान

चुनाव आयोग ने जिले की सात विधानसभा सीटों पर 10 फरवरी को मतदान की घोषणा की है। ऐसे में निर्वाचन विभाग तेजी से तैयारियां में जुटा हुआ है। चुनावों को लेकर इस बार युवाओं से लेकर बुजुर्ग तक में खासा उत्साह है। 18 से 19 साल के बीच के मतदाता पहली बार चुनावों में वोट डालेंगे। वहीं, कोरोना के चलते 80 से ऊपर के अधिक मतदाताओं व दिव्यांगजन को घर से वोट डालने का मौका दिया है। पोस्टल बैलेट से इनसे वोट डलवाया जाएगा। हालांकि, इसके लिए ऐसे मतदाताओं को फार्म डी 12 भरना अनिवार्य है। यह फार्म सहमति पत्र है। अगर बुजुर्ग व दिव्यांग मतदाता यह फार्म नहीं भरते हैं तो वह बूथ पर जाकर ईवीएम से भी वोट डाल सकते हैं।

ऐसे काम करेंगी पोलिंग पार्टियां

जिले में जितने बुजुर्ग व दिव्यांग मतदाताओं के सहमति पत्र निर्वाचन विभाग के पास आ जाएंगे। विभागीय अफसर विधानसभा संबंधित पोलिंग पार्टियों को पोस्टल बैलेट थमा देंगे। चुनाव से दो दिन पहले पोलिंग पार्टियां अपने क्षेत्र में जांएगी। पोलिंग पार्टी के साथ पुलिस, माइक्रो आब्जर्वर व वीडियोग्राफी टीम भी होगी। वीडियोग्राफी की निगरानी में टीम पोस्टल बैलेट को मतदाता को देगी। इसके बाद मतदाता उस बैलेट पर मुहर लगाएगा और लिफाफा बंद करके टीम को थमा देगा। टीम के सदस्य उस लिफाफे को संबंधित बाक्स में डाल देगी और मतगणना को भेज देगी। टीम को अगर एक बार मतदाता घर पर नहीं मिलता है तो उसके यहां कुछ घंटे बाद दोबारा भी भ्रमण किया जाएगा।

खास बिंदु

  • -46820 है जिले में 80 साल से अधिक उम्र के मतदाताओं की संख्या
  • -15 हजार करीब जिले में दिव्यांग मतदाता भी हुए हैं चिह्नित
  • -इनमें से अब तक महज दो हजार मतदाताओं ने ही भरे हैं सहमति पत्र
  • -जिले के कुल 3117 बूथों पर होना है विधानसभा चुनाव का मतदान

सर्विस वोटर्स को डाक मतपत्र की मिलेगी सुविधा

विधानसभा चुनाव में जरूरी सेवाओं में लगे मतदाताओं को डाक मत पत्र से वोट डालने का मौका मिलेगा। उप जिला निर्वाचन अधिकारी राकेश पटेल ने बताया कि सूचना विभाग, डाक विभाग, यातायात विभाग, रेलवे, विद्युत विभाग, सिविल एविएशन, मेट्रो रेल कारपोरशन, दूरदर्शन व बीएसएल के अधिकारी व कर्मचारियों को इसमें शामिल किया गया है। इन विभागों के कर्मचारी फार्म डी 12 भरकर संबंधित रिटर्निंग आफिसर को जमा कर देंगे। इसके बाद ही वह डाक मतपत्र का लाभ मिलेगा।

इनका कहना है

चुनाव आयोग ने पहली बार बुजुर्ग व दिव्यांग मतदाताओं को घर से वोट डालने का मौका दिया है। जिले में ऐसे सभी मतदाताओं से सहमति पत्र भरवाए जा रहे हैं। अब तक दो हजार से अधिक सहमति पत्र भरे जा चुके हैं। इन सभी मतदाताओं को घर से वोट डालने का मौका मिलेगा। अगर कोई बुजुर्ग व दिव्यांग चाहे तो बूथ पर जाकर भी वोट डाल सकता है।

डीपी पाल, एडीएम प्रशासन

Edited By Anil Kushwaha

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept