अलीगढ़ में 177 कोरोना संक्रमित मिले, 249 मरीज हो गए स्वस्थ

जिले में सक्रिय मरीजों की संख्या रह गई है 1304।

JagranPublish: Sat, 22 Jan 2022 02:05 AM (IST)Updated: Sat, 22 Jan 2022 02:05 AM (IST)
अलीगढ़ में 177 कोरोना संक्रमित मिले, 249 मरीज हो गए स्वस्थ

जासं, अलीगढ़ : जिले में कोरोना संक्रमित नए रोगियों के मिलने का सिलसिला जारी है। शुक्रवार को 177 लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। संक्रमण अब देहात तक पहुंच गया है। कुल संक्रमितों में 60 से अधिक ग्रामीण क्षेत्र के हैं। रिकवरी रेट में निरंतर सुधार है। 249 मरीज स्वस्थ हो गए हैं। इससे सक्रिय रोगियों की संख्या 1304 रह गई है।

यहां मिले संक्रमित : टप्पल में 10, इगलास के नौ, लोधा के तीन, चंडौस के 10, अकराबाद के सात, खैर के 10 व जवां के 11 रोगी संक्रमित निकले। वहीं, शहरी क्षेत्र के नंदनवन मेलरोज, अवंतिका फेज-दो, सासनी गेट लोधीपुरम, नगला मौलवी, जीवनगढ़, ज्ञान सरोवर कालोनी, शताब्दी नगर, कुलदीप विहार, राधा कुंज, इंजीनियरिग कालोनी, अचला नगला, प्रेम नगर आदि इलाकों में संक्रमित मरीज निकले।

1254 कंटेनमेंट जोन : जिले में कोरोना संक्रमण फैलने से सक्रिय कंटेनमेंट जोन की संख्या भी निरंतर बढ़ रही है। शुक्रवार को यह संख्या 1254 रही। यह संख्या 104 कंटेनमेंट जोन कम होने के बाद हुई। स्वास्थ्य विभाग की निगरानी समितियों ने विभिन्न क्षेत्रों में जाकर 287 घरों का भ्रमण किया। 212 मेडिकल किट बांटी गईं।

25 हजार से अधिक को टीका : जिले में शुक्रवार को 308 टीमों ने स्वास्थ्य केंद्रों, सार्वजनिक स्थलों व डोर-टू-डोर डाकर 25 हजार 893 कोरोनारोधी टीके लगवाए। अब तक 42.76 लाख टीके लगाए जा चुके हैं। 27.29 लाख लाभार्थियों को पहला टीका व 15.33 लाख को दोनों टीके लग चुके हैं। 13 हजार 783 लोगों ने प्रिकाशन डोज भी ले ली है।

........

प्री-बोर्ड व वार्षिक परीक्षा से

पहले दिखानी होगी रिपोर्ट

जासं, अलीगढ़ : माध्यमिक विद्यालयों में हाईस्कूल व इंटर के 15 से 18 वर्ष आयु के विद्यार्थियों को प्री-बोर्ड और वार्षिक परीक्षा से पहले अपनी वैक्सीनेशन रिपोर्ट विद्यालय में पेश करनी होगी। विद्यालयों में उक्त आयु वर्ग के विद्यार्थियों के शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन कराने को लेकर ये व्यवस्था जिलास्तर पर बनाई गई है। वार्षिक परीक्षा के प्रवेशपत्र लेने से पहले भी वैक्सीनेशन रिपोर्ट दिखानी होगी। 15 से 18 वर्ष आयु के किशोरों को कोविड-19 वैक्सीन लगाने में शैक्षणिक संस्थानों का अहम रोल है। नौवीं से 12वीं तक के इस आयु वर्ग के विद्यार्थियों को वैक्सीन लगवाई भी जा रही है। अभी भी कालेजों में कहीं 80 फीसद तो कहीं 90 फीसद विद्यार्थी ही वैक्सीनेशन का लाभ ले सके हैं। सभी बोर्ड परीक्षार्थी वैक्सीनेशन कराएं इसलिए ये बाध्यता की गई है। विद्यालय में रिपोर्ट जमा करनी होगी। डीआइओएस डा. धर्मेंद्र कुमार शर्मा ने कहा कि सभी प्रधानाचार्यों को निर्देश दिए गए हैं कि विद्यालयों में उक्त आयु वर्ग के सौ फीसद विद्यार्थियों को वैक्सीन लगवाकर प्रमाणपत्र पेश किया जाए।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept