UP Chunav 2022: आगरा में जूता कारीगरों ने मतदान का बहिष्कार, बूट फैक्ट्रियों पर लगाया ताला

UP Assembly Election 2022 आगरा में सरकारी नीतियों से लगा बूट फैक्ट्रियों पर ताला। बूट मैन्यूफैक्चरर्स एसोसिएशन व कारीगरों ने किया फैक्ट्री के बाहर प्रदर्शन। चार से पांच हजार कारीगर हुए बेरोजगार कई फैैक्ट्रियां व मकान बिक गए।

Tanu GuptaPublish: Tue, 25 Jan 2022 04:40 PM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 04:40 PM (IST)
UP Chunav 2022: आगरा में जूता कारीगरों ने मतदान का बहिष्कार, बूट फैक्ट्रियों पर लगाया ताला

आगरा, जागरण संवाददाता। बूट मैन्यूफैक्चरर्स एसोसिएशन ने सरकारी नीतियों की वजह से 35 बूट फैक्ट्रियों पर ताला लगने की वजह से मतदान का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है। एसोसिएशन के सदस्यों व बेरोजगार हो चुके कारीगरों ने सोमवार को शाहगंज के शिवदासानी क्षेत्र में एक फैक्ट्री के बाहर प्रदर्शन किया। उनका कहना था कि चार से पांच हजार कारीगर बेरोजगार हो चुके हैं और बैंकों की रिकवरी के चलते कई फैक्ट्रियां व मकान बिक चुके हैं।

एसोसिएशन के सचिव अनिल महाजन ने बताया कि सरकारी नीतियों की वजह से ताजनगरी में फल-फूल रहे घरेलू जूता उद्योग की कमर टूट गई है। सरकार द्वारा लगाए गए मानदंडों के कारण छोटी फैक्ट्रियां सरकारी टेंडर में भाग नहीं ले पा रही हैं। बैंकों की रिकवरी आने से कई फैक्ट्रियां ही नहीं मकान भी बिक गए। कई फैक्ट्री मालिक नौकरी करने को मजबूर हैं तो कई बेरोजगार हो चुके हैं। वर्ष 2016-17 में जिन फैक्ट्रियों का टर्नओवर 18-20 करोड़ रुपये था, वो आज केवल दो करोड़ रुपये रह गया है। दो-तीन करोड़ रुपये के टर्नओवर वाली छोटी फैक्ट्रियां बंद हो चुकी हैं। नीना महाजन, अध्यक्ष सुनील गुप्ता, डीपी गुप्ता, राहुल, नितिन, भगवती प्रसाद, सोनू, विशाल, रविशंकर, विनोद, मुकेश, विजय, ब्रजेश रामदास, पप्पू आदि मौजूद रहे।

इन्होंने बंद किया काम

-एमबीएफ फैक्ट्री के मालिक प्रेमप्रकाश फैक्ट्री बेचकर लुधियाना शिफ्ट हो गए।

-सोफ्टवेयर कारपोरेशन के अनिल गुप्ता फैक्ट्री बेचकर पठानकोठ शिफ्ट हो गए।

-विजयपथ शू फैैक्ट्री की इंदु गुप्ता फैक्ट्री बेचकर पठानकोठ शिफ्ट हो गईं।

-सोनी लेदर वर्क्स के याेगेंद्र फैक्ट्री बेचकर दिल्ली शिफ्ट हो गए।

-हरीओम एसएम इंटरप्राइजेज फैक्ट्री और मकान दोनों बेचना पड़ा।

-दिल्ली फुटवियर फैक्ट्री बेचकर दिल्ली शिफ्ट हुए।

-सिद्घी विनायक के अनिल की फैक्ट्री पर बैंक की रिकवरी आ चुकी है।

-यश इंटरप्राइजेज के ओमप्रकाश का रिकवरी के कारण मकान बिक गया। 

Edited By Tanu Gupta

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept