आगरा में न्यायिक अधिकारी व कर्मचारी कोरोना संक्रमित, आज बंद रहेगी दीवानी अदालत

दीवानी स्थित अदालतों में गुरुवार को न्यायिक अधिकारी के साथ कई कर्मचारियों की कोविड-19 की जांच रिपोर्ट पाजीटिव आई थी। जिसके चलते शुक्रवार को दीवानी में सभी अदालतें बंद रखने का निर्णय किया गया है। अंतरिम जमानत प्रार्थना पत्रों पर भी 28 जनवरी को सुनवाई होगी।

Prateek GuptaPublish: Fri, 21 Jan 2022 09:38 AM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 09:38 AM (IST)
आगरा में न्यायिक अधिकारी व कर्मचारी कोरोना संक्रमित, आज बंद रहेगी दीवानी अदालत

आगरा, जागरण संवाददाता। न्यायिक अधिकारियों के कोरोना संक्रमित मिलने पर शुक्रवार को दीवानी में अदालतें बंद रहेंगी। जिसके चलते शुक्रवार को मामलों में होने वाली सुनवाई अब 28 जनवरी को होगी।

दीवानी अदालतों में गुरुवार को न्यायिक अधिकारी के साथ कर्मचारियों की कोविड-19 की जांच रिपोर्ट पाजीटिव आई है। जिसके चलते शुक्रवार को दीवानी में सभी अदालतें बंद रखने का निर्णय किया गया। जिला जज द्वारा जारी सूचना के अनुसार 21 नियत सभी जमानत प्रार्थना पत्रों पर सुनवाई 28 जनवरी को होगी। जिन मामलों में अंतरिम जमानत शुक्रवार को समाप्त हो रही है। उनके अंतरिम जमानत प्रार्थना पत्रों पर भी 28 जनवरी को सुनवाई होगी।

दुष्कर्म के दाेषी को दस साल की सजा

दुष्कर्म के दोषी गिरीश निवासी शमसाबाद को अदालत ने दस साल कारावास की सजा सुनाई है। घटना अप्रैल 2013 की है। डौकी थाने में आरोपित गिरीश व उसके रिश्तेदारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। आरोपित ने खेत पर शौच के लिए गई युवती काे बहला फुसलाकर अपने साथ ले गया था। जिसमें आरोपित के रिश्तेदारों ने भी उसका सहयोग किया था। मामले में सुनवाई के दौरान अभियोजन ने सात गवाह पेश किए। अपर जिला जज फास्ट ट्रैक कोर्ट लोकेश नागर ने आरोपित गिरीश को दोषी पाते हुए उसे दस साल कारावास एवं 29 हजार रुपये अर्थदंड की सजा से दंडित किया।

सेवा भारती कार्यालय पर हमले में आरोपित दो लोगों को मिली जमानत

सेवा भारती पर हमले व लूट के आरोपित अकबर और अनवर की आेर से प्रस्तुत जमानत प्रार्थना पत्र को स्वीकृत करते हुए अदालत ने उनकी रिहाई के आदेश किए। लोहामंडी के मोती कुंज स्थित सेवा भारती कार्यालय पर 26 दिसंबर 2021 पर लोगों ने हमला कर दिया था। वहां मौजूद कार्यकर्ताओं से मारपीट कर दी थी। पुलिस ने लूटपाट व मारपीट का मुकदमा दर्ज कर 10 आरोपितों को जेल भेजा था।

फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट डालने पर परिवाद दर्ज

फेसबुक पर सपा प्रत्याशी के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट डालने पर सीजेएम प्रदीप कुमार सिंह ने परिवाद दर्ज कर वादी को बयान के लिए 27 फरवरी की तारीख नियत की है। मामले में बिजेंद्र प्रजापति ने निशांत चौहान के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने को प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया था।

Edited By Prateek Gupta

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept