तब से तो ली नहींं सुध, अब चुनाव से पहले आया होश, आगरा से 194 हिस्ट्रीशीटर लापता

आगरा जिले के 41 थानों में हैं 1866 हिस्ट्रीशीटर। चुनाव से पहले पुलिस ने हिस्ट्रीशीटरों के सत्यापन के लिए पिछले दिनों अभियान शुरू किया था। सभी थाना क्षेत्रों में पुलिस ने हिस्ट्रीशीटरों के घर दस्तक दी थी। पुलिस के सत्यापन में 1440 ही मिले घरों पर।

Prateek GuptaPublish: Sun, 23 Jan 2022 11:35 AM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 11:35 AM (IST)
तब से तो ली नहींं सुध, अब चुनाव से पहले आया होश, आगरा से 194 हिस्ट्रीशीटर लापता

आगरा, यशपाल चौहान। उत्‍तर प्रदेश विधान सभा चुनाव से पहले हिस्ट्रीशीटरों के सत्यापन में चौंकाने वाला पर्दाफाश हुआ है। सत्यापन में जिले के 41 थानों के 194 हिस्ट्रीशीटर लापता हैं। ये कहां गए? इसकी अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है। चुनाव में कहीं ये लापता हिस्ट्रीशीटर पुलिस के लिए चुनौती न बन जाएं। इसलिए अभी इनके बारे में पुलिस और जानकारी जुटा रही है। आगरा के 41 थानों में 1866 हिस्ट्रीशीटर हैं।

चुनाव से पहले पुलिस ने हिस्ट्रीशीटरों के सत्यापन के लिए पिछले दिनों अभियान शुरू किया था। सभी थाना क्षेत्रों में पुलिस ने हिस्ट्रीशीटरों के घर दस्तक दी थी। वे वर्तमान में कहां रह रहे हैं और क्या कर रहे है? इसकी जानकारी की। सभी थानों के हिस्ट्रीशीटरों का सत्यापन पूरा हो चुका है। इसमें सामने आया है कि जिले के सभी थानों के करीब 194 हिस्ट्रीशीटर लापता हैं। थाने में प्राप्त हिस्ट्रीशीट चार्ट में दिए गए पते पर ये नहीं मिले। हिस्ट्रीशीट चार्ट में जो रिश्तेदारों के नाम, माेबाइल नंबर दिए थे, उनसे भी संपर्क नहीं हो पाया। अब पुलिस अब रिश्तेदारों के दिए गए पतों पर हिस्ट्रीशीटरों के बारे में जानकारी करने की कोशिश कर रही है। सत्यापन के दौरान 1440 हिस्ट्रीशीटर अपने घरों पर मौजूद मिले। इनमें से अधिकतर मजदूरी या अपना काम कर रहे हैं। 155 हिस्ट्रीशीटर जेल में बंद हैं। 27 हिस्ट्रीशीटर बाहर नौकरी के लिए चले गए हैं, जबकि 50 की मृत्यु हो चुकी है। पूर्व में मृत्यु की जानकारी होने पर 39 हिस्ट्रीशीटरों का हिस्ट्रीशीट खाका नष्ट किया जा चुका है।

कब खुलती है हिस्ट्रीशीट

सेवानिवृत्त डिप्टी एसपी बीएस त्यागी का कहना है कि कोई अपराधी अपराध का अभ्यस्थ हो तो उसकी निगरानी के लिए हिस्ट्रीशीट खाका तैयार किया जाता है।इसमें अपराधी के ज्ञात अपराधों की डिटेल के साथ व्यक्तिगत जानकारी भी दर्ज की जाती है। उसके रिश्तेदार, पैरवी करने वाले वकील, फरारी में संभावित ठिकाने, केस पार्टनर और संबंधित कोर्ट की पूरी जानकारी लिखी जाती है। इसके आधार पर पुलिस संबंधित अपराधी के बारे में पूरी जानकारी कर सकती है।

इन थानों से सबसे अधिक हिस्ट्रीशीटर लापता

थाना, कुल हिस्ट्रीशीटर, लापता

एत्मादपुर, 60,12

जगदीशपुरा, 75,11

सदर, 76,11

हरीपर्वत, 59,9

ताजगंज,74, 9

छत्ता, 52, 9

एत्माद्दौला, 95,9

इन थानों में सबसे अधिक हिस्ट्रीशीट

शाहगंज, 101

एत्माद्दौला, 95

सदर, 76

जगदीशपुरा, 75

अछनेरा, 73

मलपुरा, 70

हिस्ट्रीशीटरों का वेरीफिकेशन कराया जा रहा है। कुछ हिस्ट्रीशीटर अपने ठिकानों पर नहीं मिले हैं। इनके रिश्तेदारों व अन्य परिचितों के यहां थानों से पुलिस जाकर सत्यापन कर रही है। जल्द ही इनके बारे में पता कर लिया जाएगा। सुधीर कुमार सिंह, एसएसपी

Edited By Prateek Gupta

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept