This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Gram Panchayat: मैनपुरी जिला पंचायत साक्षर, क्षेत्र पंचायतों में निरक्षर, पढ़ें गांव की सरकार बनाने वालों का शैक्षिक स्तर

Gram Panchayat त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जिला पंचायत सदस्य पद पर चुने गए नवनिर्वाचित सदस्यों में एक ताे सबसे अधिक पढ़े-लिखे पीएचडी उपाधि धारक हैं। 30 नवनिर्वाचित सदस्यों में चार के पास परास्नातक उपाधि है तो 15 सदस्यों ने खुद को स्नातक बताया है।

Tanu GuptaFri, 07 May 2021 05:56 PM (IST)
Gram Panchayat: मैनपुरी जिला पंचायत साक्षर, क्षेत्र पंचायतों में निरक्षर, पढ़ें गांव की सरकार बनाने वालों का शैक्षिक स्तर

आगरा, जेएनएन। मैनपुरी में इस बार के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में साक्षरों का दबदबा नजर आ रहा है। जिला पंचायत में तो पीएचडी और स्नातकोत्तर पास प्रत्याशी चुनकर आए हैं, जबकि समूचे सदस्य इस बार साक्षर ही चुने गए हैं। वहीं, क्षेत्र पंचायतों में निरक्षरों की फौज चुनाव जीतकर आई है, सर्वाधिक 30 बीडीसी बेवर ब्लाक से जीते हैं। आठ और ब्लाकों में निरक्षर बीडीसी भी खूब चुने गए हैं।

जिला पंचायत में सभी शिक्षित

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जिला पंचायत सदस्य पद पर चुने गए नवनिर्वाचित सदस्यों में एक ताे सबसे अधिक पढ़े-लिखे पीएचडी उपाधि धारक हैं। 30 नवनिर्वाचित सदस्यों में चार के पास परास्नातक उपाधि है तो 15 सदस्यों ने खुद को स्नातक बताया है, जबकि तीन सदस्यों ने इंटर तक की पढ़ाई की है। चार सदस्य हाईस्कूल और दो सदस्यों ने खुद को आठवाीं पास बताया है। ग्राम विकास में जिला पंचायत सदस्यों का अहम योगदान रहता है। विकास योजनाओं के लिए जिला पंचायत में सदस्यों की नियमित बैठक होती है। यहां भी इनको भागीदारी करनी होती है।

यह है सदस्यों की योग्यता

नई जिला पंचायत सदस्यों में अनुसूचित जाति सीट से जीते अमित कुमार पीएचडी उपाधि धारक है, जबकि अनुसूचित जाति सीट से जीते शुभम, अनारक्षित सीट से जीते यदुवंश कुमार, रघुराज सिंह रेनू कुमारी परास्नातक हैं। गजराज सिंह, नीलम देवी, मनोज कुमार, सपना वर्मा, उजागर सिंह, जितेंद्र बाबू, सुनील, अभिषेक कुमार, शिवम, संगीता, अर्चना और गौरव के अलावा शिवी यादव, शारदा चौहान, विनीता ने खुद को स्नातक बताया है। इसके अलावा नीरज कुमार, प्रमोद कुमार और अवनीश कुमार ने खुद को इंटर और योगेंद्र प्रताप सिंह, सुजान सिंह, लालू यादव और सुमन देवी चौहान ने हाई स्कूल और विमला देवी, लक्ष्मी देवी खुद की शिक्षा जूनियर हाई स्कूल बताई है।

मनोज के खाते में सबसे ज्यादा मत फीसद

मतदान फीसद के मामले में जिला पंचायत के बेवर चतुर्थ अन्य पिछड़ा वर्ग को आरक्षित वार्ड से चुनाव जीते मनोज कुमार सभी तीस सदस्यों में पहले स्थान पर रहे हैं, जिनको 54.05 फीसद मत मिले, जबकि दूसरे नंबर पर जागीर प्रथम वार्ड महिला सीट से निर्वाचित सारिका चौहान को हासिल हुए हैं, इनको 53.48 फीसद मत हासिल हुए हैं। वहीं, मत फीसद के मामले में तीसरे नंबर पर कुरावली तृतीय वार्ड से जीते सुनील कुमार रहे, जिनको 47.67 फीसद मत हासिल हुए हैं। वैसे, तीस सदस्यों में से सबसे कम फीसद नीलम देवी का रहा है। बेवर के वार्ड तृतीय से जीती इस महिला को केवल 16.38 फीसद मत मिले हैं।

वार्ड 28 का नहीं लोड हुआ परिणाम

जिले में हाट सीट बनी वार्ड 28 का परिणाम शुक्रवार तक राज्य निर्वाचन आयोग की बेवसाइट पर दर्ज नहीं हो सका। इस वार्ड से पुनर्मतणना के बाद तय हुए परिणाम से सदर विधायक राजकुमार यादव की पत्नी वंदना बिजयी घोषित की गई हैं।

आठ ब्लाकों में जीते सौ निरक्षर बीडीसी

मतदाताओं ने चुनाव में क्षेत्र पंचायतों के लिए निरक्षर सदस्यों को भी प्रतिनिधि बनाया है, इस मामले में बेवर ब्लाक जिला में अव्वल है, जहां से 30 बीडीसी चुने गए हैं। वहीं, घिरोर से तीन, मैनपुरी से 19, किशनी से 15, सुल्तानगंज से 14, करहल से सात और जागीर ब्लाक से पांच ऐसे निरक्षरी बीडीसी चुने गए हैं, जबकि एक दर्जन से ज्यादा ने तो शिक्षा बताई ही नहीं है। वहीं, कुरावली ब्लाक के परिणाम शुक्रवार तक बेवसाइट पर अपलोड नहीं किए गए।

 

आगरा में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!