Vocal for Local: स्वदेशी झालर करेंगी दीवाली पर चीन की बत्ती गुल, रोशन होने लगा बाजार

Vocal for Local झालर बाजार में दिखने लगी तेजी। स्वदेशी झालरों की 50 फीसद तक बढ़ी मांग। चीन से विवाद के बाद बाजार में बढ़ी स्वदेशी झालरों की मांग। पिछले सालों में 80 फीसद बाजार पर चीन का कब्जा रहता था।

Tanu GuptaPublish: Thu, 29 Oct 2020 03:25 PM (IST)Updated: Thu, 29 Oct 2020 03:25 PM (IST)
Vocal for Local: स्वदेशी झालर करेंगी दीवाली पर चीन की बत्ती गुल, रोशन होने लगा बाजार

आगरा, जागरण संवाददाता। बाजार में दीवाली की तैयारी शुरू हो गई हैं। ऐसे में दीवाली पर घरों को जगमगाने के लिए झालरों का बाजार भी तैयार हो गया है। इस बार बाजार में स्वदेशी झालरों की चमक दिखाई देगी। इस चमक से चीन की झालरों की बत्ती गुल करने की तैयारी कर ली गई है। बाजार में चीन की झालरों को टक्कर देने के लिए स्वदेशी झालर की डिमांड तेजी से बढ़ी है। दीवाली में एक माह से कम समय है। ऐसे में बेलनगंज स्थित झालर और फैंसी लाइट के थोक बाजार में ग्राहकों की चमक दिखाई देने लगी है। झालरों के थोक विक्रेता हरीश ठाकुर ने बताया कि बाजार में तेजी आने लगी है। इस बार बाजार में स्वदेशी झालर की डिमांड है। ग्राहक भी स्वदेशी झालर की मांग कर रहे हैं। चीन से तनातनी का असर है कि इस बार बाजार में 50 फीसद माल स्वदेशी ब्रांड का है। पिछले सालों में 80 फीसद बाजार पर चीन का कब्जा रहता था। स्वदेशी झालर की रेंज 35 रुपये से शुरू होकर 800 रुपये तक है। भागीरथ मार्केट में झालर विक्रेता अनिल ने बताया कि बाजार में चाइनीज झालर की डिमांड कम है। जो लोग हर साल घर सजाते हैं, वो चाइनीज झालर की जगह इंडियन पट्टे वाली झालर ही लेते हैं। इसका कारण है कि चाइनीज झालर एक सीजन में खराब हो जाती है, जबकि स्वदेशी झालर कई सीजन चलती है। इसकी रिपेयरिंग भी हो जाती है। झालर का काम करने वाले व्यापारियों के अनुसार दीवाली तक झालर का करीब 60 करोड़ का कारोबार होता है, इसमें चीन की भागीदारी करीब 45 से 50 करोड़ की होती थी, लेकिन इस बार 50 फीसद की कमी आने का अनुमान है।  

दो माह पहले करवा दिया काम शुरू

झालर का काम करने वाले अनिल अग्रवाल ने बताया कि पिछले साल स्वदेशी झालरों की मांग में तेजी आई थी। इसको देखते हुए उन्होंने इस बार स्वदेशी झालरों  का दो माह पहले ही आर्डर दे दिया था। उम्मीद है कि स्वदेशी झालरों की पिछले साल से अच्छी डिमांड रहेगी। कई व्यापारियों ने स्वदेशी झालरों का आर्डर बुक करा रखा है। 

यह हैं झालरों के दाम 

- 12 कलर का पट्टा 40 फीट - 550- 620 रुपये

- सिंगल कलर झालर 40 फीट - 90- 110 रुपये

- मल्टी कलर झालर 40 फीट - 100-120 रुपये

- वेलकम झालर - 700 रुपये

- फैंसी बोर्ड सतिया, ओम - 650- 720 रुपये

- छोटे झूमर - 90 रुपये- इलेक्ट्रोनिक दीपक

- 45 से 120 रुपये तकचाइना की झालरें - 15 से 120 रुपये तक

-डॉट लाइट मशीन -450 रुपये 

Edited By Tanu Gupta

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept