Facebook पर लगा 520 करोड़ रुपये का जुर्माना, नियमों के उल्लंघन का है आरोप

कंपटीशन एंड मार्केट अथॉरिटी (CMA) की मानें तो कोई भी कंपनी नियमों से बढ़कर नहीं है। CMA का कहना है कि Facebook की तरफ से Giphy के अधिग्रहण के दौरान की डिटेल को उपलब्ध नहीं कराया गया है।

Saurabh VermaPublish: Wed, 20 Oct 2021 05:46 PM (IST)Updated: Thu, 21 Oct 2021 07:53 AM (IST)
Facebook पर लगा 520 करोड़ रुपये का जुर्माना, नियमों के उल्लंघन का है आरोप

नई दिल्ली, टेक डेस्क। ब्रिटेन कंपटीशन रेग्युलेटर की तरफ से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Facebook पर भारी भरकम जुर्माना लगाया है। खबर के मुताबिक मार्क जुकरबर्ग की कंपनी Facebook पर 50.5 मिलियन GBP यानी करीब 520 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है। Facebook पर नियमों के उल्लंघन का आरोप है। दरअसल Facebook पर GIF प्लेटफॉर्म Giphy की खरीददारी की डिटेल ना उपलब्ध कराने का आरोप है। बता दें कि कंपटीशन एंड मार्केट अथॉरिटी (CMA)  की तरफ से Giphy अधिग्रहण की डिटेल मांगी गई थी, जिसे Facebook की तरफ से नहीं उपलब्ध कराया गया, जिसके बाद CMA की तरफ से 520 करोड़ रुपये के जुर्माने का ऐलान किया गया है।

Facebook कंपनी नियमों से बढ़कर नहीं 

 समाचार एजेंसी AFP के मुताबिक CMA कहा कि Facebook ने जानबूझकर नियमों को अंजरअंदाज करने का का काम किया है, जिसके चलते Facebook पर जुर्माना लगाया जा रहा है। CMA की मानें, तो कोई भी कंपनी नियमों से बढ़कर नहीं है। CMA का कहना है कि Facebook की तरफ से Giphy के अधिग्रहण के दौरान की डिटेल को उपलब्ध नहीं कराया गया है। साथ ही जांच में पाया गया कि Facebook कंपनी Giphy का अपने प्लेटफॉर्म के साथ संचालन करने में भी नाकाम रही है। मामले में फिलहा Facebook की तरफ से कोई कमेंट नहीं आया है। 

Facebook की होगी री-ब्रांडिंग

बता दें कि Facebook की तरफ से कंपनी की री-ब्रांडिंग की तैयारी चल रही है। ऐसे में Facebook को एक नये ब्रांड नेम के साथ पेश किया जा सकता है। दरअसल Facebook कंपनी अपने कारोबार का तेजी से विस्तार कर रही है। इसके लिए कंपनी ने Google की तर्ज पर Facebook की री-ब्रांडिंग करने का निर्णय ले लिया है। Facebook को नये ब्रांड नेम से पेश किये जाने से Facebook, Instagram और WhatsApp एक ही कंपनी के अंतर्गत काम करेगी।

Edited By: Saurabh Verma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept