EPFO ने जारी किया अलर्ट! सोशल मीडिया यूजर्स इन बातों का रखें ध्यान नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान

EPFO ने अपने सदस्यों को अपने EPF अकाउंट पर्सनल जानकारी या OTP के बारे में जरूरी डिटेल्स फोन या ऑनलाइन शेयर नहीं करने की चेतावनी दी है। EPF से जुड़े OTP स्कैम और अन्य मुद्दों के बढ़ते खतरे को देखते हुए EPFO ने फ्रॉड का नोटिस जारी किया है।

Mohini KediaPublish: Fri, 05 Nov 2021 06:24 PM (IST)Updated: Sat, 06 Nov 2021 08:13 AM (IST)
EPFO ने  जारी किया अलर्ट! सोशल मीडिया यूजर्स इन बातों का रखें ध्यान नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान

नई दिल्ली, टेक डेस्क| धोखाधड़ी को कम करने के लिए, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने अपने सदस्यों को अपने EPF अकाउंट, पर्सनल जानकारी, या OTP के बारे में जरूरी डिटेल्स फोन या ऑनलाइन शेयर नहीं करने की चेतावनी दी है। EPF से जुड़े OTP स्कैम और अन्य मुद्दों के बढ़ते खतरे को देखते हुए EPFO ने फ्रॉड का नोटिस जारी किया है। EPFO की सलाह के अनुसार, ईपीएफ सदस्यों (EPF Members) को अपने आधार कार्ड नंबर, पैन, बैंक अकाउंट नंबर या UAN नंबर जैसी पर्सनल जानकारी WhatsApp या सोशल मीडिया पर किसी के साथ शेयर नहीं करनी चाहिए, क्योंकि वे अपना पैसा खोने का जोखिम उठाते हैं। ईपीएफओ ने अपने आधिकारिक Twitter अकाउंट के जरिए सभी सदस्यों को एक संदेश भेजा है। ट्वीट में लिखा है, "#EPFO कभी भी अपने सदस्यों से आधार, PAN कार्ड, UAN, बैंक अकाउंट या OTP जैसे पर्सनल जानकारी फोन या सोशल मीडिया पर शेयर करने के लिए नहीं कहता है।"

EPFO ने ट्वीट के साथ एक ग्राफिक भी प्रकाशित किया जिसमें लिखा है, "धोखाधड़ी करने वालों से सावधान रहें!" सदस्यों को उनके सामने आने वाले खतरे के प्रति सचेत करने के लिए। EPFO ने यह भी ट्वीट किया कि वह "WhatsApp या सोशल मीडिया आदि के माध्यम से किसी भी सेवा के लिए कभी भी कोई पैसा नहीं मांगता है।" EPFO ने सदस्यों को पर्सन जानकारी का अनुरोध करने या OTP शेयर करने के लिए कॉल या टेक्स्ट का जवाब नहीं देने की भी सिफारिश की, क्योंकि इससे धोखाधड़ी हो सकती है। लोग किसी भी प्रश्न, संदिग्ध कॉल या संदेश, या अन्य मुद्दों के लिए EPFO से इसकी आधिकारिक वेबसाइट www.epfindia.gov.in के माध्यम से संपर्क कर सकते हैं।

EPF मेंबर्स को अपने दस्तावेजों को डिजिलॉकर (Digilocker) पर ऑनलाइन सहेजना चाहिए, जो डॉक्यूमेंट सिक्योरिटी, शेयरिंग और वेरिफिकेशन के लिए एक सुरक्षित क्लाउड-आधारित सरकार द्वारा प्रायोजित प्लेटफ़ॉर्म है। डिजिलॉकर की सेवाओं का इस्तेमाल करने के लिए, जो Android और iOS यूजर्स के लिए उपलब्ध हैं, आपको पहले लॉग इन करना होगा। ईपीएफओ सेवाएं जैसे UAN कार्ड, पेंशन भुगतान आदेश (PPOs), और स्कीम सर्टिफिकेट्स सभी डिजिलॉकर पर उपलब्ध हैं।

EPFO ग्राहकों और वित्तीय लेनदेन के मामले में दुनिया के सबसे बड़े सामाजिक सुरक्षा संगठनों में से एक है। यह भारत में भविष्य निधि, पेंशन और अनिवार्य जीवन बीमा के विनियमन और प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है। सरकार ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए 8.5 प्रतिशत ब्याज दर को मंजूरी दी है, जिससे पांच करोड़ EPFO ग्राहकों के लिए दिवाली की बड़ी खुशियां आएंगी। PTI के अनुसार, इस साल मार्च में, EPFO के अंतिम निर्णय लेने वाले निकाय, श्रम मंत्री की अध्यक्षता में केंद्रीय न्यासी बोर्ड (सीबीटी) ने पिछले वित्तीय वर्ष के लिए भविष्य निधि जमा पर 8.5 प्रतिशत की ब्याज दर का फैसला किया।

Edited By: Mohini Kedia

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept