This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

वृश्चिक वार्षिक राशिफल

01 Jan 2021-31 Dec 2021
  • वृश्चिक

    वृश्चिक

    Oct 23 - Nov 21

    पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर के निदेशक ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि यह साल आपके लिए कई मायनों में अच्छा रहेगा। हालांकि आपको स्वास्थ्य से संबंधित मिश्रित परिणामों की प्राप्ति होगी। इस वर्ष वृश्चिक राशि के जातकों को मिश्रित परिणाम हासिल होंगे। शिक्षा का स्वामी बृहस्पति आप के तीसरे घर में मौजूद है जो इस वर्ष आपकी पढ़ाई के संदर्भ में आपके जीवन में कुछ मुश्किलें ला सकता है। इस दौरान पढ़ाई से आपका ध्यान भटक सकता है और आप थोड़ा चिंतित महसूस कर सकते हैं। पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर के निदेशक ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि शनि और बृहस्पति की युति आपको कोई भी चीज बेहतर तरीके से सीखने और समझने में मजबूत बनाएगी। साथ ही आपको अपने ज्ञान को व्यवहारिक रूप से समझने में भी सक्षम करेगी। इसके अलावा शनि जो कि आप के तीसरे घर में स्थित है, आपको आपको सीखी हुई चीजों का अभ्यास करने में मददगार साबित होगा। साथ ही बृहस्पति आपके व्यवहारिक ज्ञान के साथ वैचारिक ज्ञान के साथ अच्छा समन्वय प्रदान करेगा। इसके अलावा इस राशि के जो छात्र किसी प्रतियोगी परीक्षा या सरकारी नौकरी के लिए परीक्षा में बैठने वाले हैं उन्हें इस पर निश्चित रूप से सकारात्मक परिणाम हासिल होगा।वृश्चिक राशि के जातकों को इस साल मिश्रित परिणाम हासिल होंगे। आपके स्वास्थ्य का स्वामी मंगल इस साल की शुरुआत में मेष राशि के छठे घर में स्थित है। इस राशि के जातकों को किडनी या यूरिन से संबंधित कोई बीमारी है उन्हें विशेष ध्यान रखने की सलाह दी जाती है। भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि साल के शुरुआती कुछ महीने जैसे जनवरी, फरवरी और मार्च के दौरान आपके लिए स्वास्थ्य के मुद्दे परेशानी का कारण बन सकते हैं, डॉक्टर द्वारा बताई गई उचित देखभाल और दवा इत्यादि समय-समय पर लेते रहें। हालांकि विवाहित लोगों के दांपत्य जीवन में उतार चढ़ाव की स्थिति रह सकती है। इस वर्ष गुरु का पराक्रम भाव में होना आपके लिए शुभ कारक रहेगा। जिससे आपके कार्यों व आपके पराक्रम में उन्नति होगी। भाग्य आपका साथ देने लगेगा तथा अपने दिमाग का पूरा इस्तेमाल करने से आपको मान-सम्मान भी प्राप्त होगा। इस वर्ष छात्रों को पढ़ाई-लिखाई में फल तो अनुकूल प्राप्त होंगे, लेकिन उसके लिए आपको पहले से अधिक मेहनत करने की ज़रूरत होगी। सूर्य आपके धन के दूसरे घर में बुध के साथ स्थित है, और बुधादित्य योग का निर्माण कर रहा है। ऐसे में इस साल आप नौकरी के लिहाज से हर क्षेत्र में सफलता हासिल करेंगे। भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि आप को पदोन्नति हासिल होगी। साथ ही अगर आप नौकरी बदलने के बारे में विचार कर रहे हैं तो यहां पर भी आपको अनुकूल परिणाम प्राप्त होगा। इसके अलावा इस राशि के जो जातक सरकारी नौकरी, बैंक की नौकरी या खेल-कूद से संबंधित नौकरी के क्षेत्र से जुड़े हैं उन्हें इस वर्ष सफलता हासिल होगी।
    वर्ष की शुरुआत में सूर्य के साथ बुध की युति आपके लिए आर्थिक पक्ष के लिहाज से अनुकूल परिणाम लेकर आएगी। जब आपके पास लोगों परिस्थितियों और आसपास के वातावरण का उचित ज्ञान हो तो आप अपने लिए उचित आय अर्जित करने में सक्षम रहते हैं। भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि साल की शुरुआत निवेश या व्यय करने के लिहाज़ से अनुकूल नहीं है। 05 जनवरी को मकर राशि में बुध का गोचर आपके लिए प्रतिकूल साबित हो सकता है, इसलिए इस दौरान आपको किसी भी तरह के खर्च करने से बचने की सलाह दी जाती है।
    पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर के निदेशक ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि पारिवारिक जीवन के संदर्भ में इस वर्ष वृश्चिक जातकों को मिश्रित परिणाम हासिल होंगे, क्योंकि बृहस्पति शनि के साथ युति में आप के तीसरे घर में स्थित है। इस वर्ष आप अपने परिवार के साथ क्वालिटी टाइम बिताएंगे। साथ ही बृहस्पति और शनि के संयोजन के परिणाम स्वरूप आपको अपने परिवार के सदस्यों का भरपूर समर्थन हासिल होगा। फरवरी के मध्य में शुक्र चौथे घर में कुंभ राशि में प्रवेश करेगा। इस दौरान आपको अपनी माँ से भरपूर स्नेह और प्रेम हासिल होगा। इस वर्ष वृश्चिक राशि के जातकों को औसत परिणाम हासिल होंगे। पंचम भाव पर शनि के पहलू के परिणाम स्वरूप आपको परिवार के बुजुर्गों के विरोध का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि नए प्रेम संबंधों को शुरू करने के लिए यह साल अनुकूल साबित होगा। भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि पार्टनर के बीच कुछ वैचारिक मतभेद हो सकते हैं, लेकिन अगर आप आपस में बात करते हैं, एक दूसरे की बात को समझते हैं और एक दूसरे से अपने मन की बात शेयर करते हैं तो आप इस परेशानी से उभर सकते हैं। मंगल के गोचर के प्रभाव स्वरूप प्यार में पड़ने के लिए फरवरी का महीना अति उत्तम साबित हो सकता है।

    ज्योतिष उपाय
    भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि सूर्य को जल मे चीनी मिलाकर अर्ध्य दें। रोज़ाना घर से निकलने से पहले अपने मस्तक पर शुद्ध केसर अथवा हल्दी का तिलक लगाएँ। अपने निवास स्थान पर रुद्राभिषेक पूजन करें।

राज्य चुनें Jagran Local News
  • उत्तर प्रदेश
  • पंजाब
  • दिल्ली
  • बिहार
  • उत्तराखंड
  • हरियाणा
  • मध्य प्रदेश
  • झारखण्ड
  • राजस्थान
  • जम्मू-कश्मीर
  • हिमाचल प्रदेश
  • छत्तीसगढ़
  • पश्चिम बंगाल
  • ओडिशा
  • महाराष्ट्र
  • गुजरात
आपका राज्य