अपने पसंदीदा टॉपिक्स चुनें
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

वृश्चिक वार्षिक राशिफल

01 Jan 2019-31 Dec 2019
  • वृश्चिक

    वृश्चिक

    Oct 23 - Nov 21

    सेहतः अप्रैल से अगस्त के मध्य ईएनटी से संबंधित समस्याओं से जूझना पड़ सकता है। इलाज हेतु वैक्लपिक चिकित्सा पद्वति भी अपनाने की सोच सकते हैं। संतुलित भोजन करें, कसरत करें और फर्क देखें। आपकी काया ही पलट जाएगी।

    व्यवसायः करियर में आगे बढ़ने के मौके साल भर मिलतेरहेंगे। जरूरी होगा मौकों का पहचानना व उन्हें हाथ से न निकलने देना। भाग्य का साथ बना रहेगा। कार्यक्षेत्र में आपने अपनी अलग पहचान बना ली है। इसके चलते सहकर्मियों के मुकाबले उच्चाधिकारियों का भरोसा आप पर ज्यादा है। सभी महत्वपूर्ण प्रोजक्ट आपको सौंपे जा सकते हैं। अक्टूबर में विरोधी आप पर हावी होने की कोशिश करेंगे, आपको छुपकर नुकसान पहुंचा सकते हैं। अपनी आंखें व कान खुले रखें, कार्यक्षेत्र में हो रही गतिविधियों पर नजर रखें।

    व्यक्तिगत जीवनः जीवनसाथी के साथ आपसी समझ बढ़ रही है। वैवाहिक जीवन में स्थिरता बनी रहेगी, भरोसा बढ़ेगा, प्यार बढ़ेगा। घर में आपसी तालमेल बने रहने के कारण सुख-शांति बनी रहेगी। पारिवारिक संबंध मजबूत हो रहे हैं, घर में सभी एक दूसरे की बात सुन समझ रहे हैं। सामाजिक स्तर पर अपने आसपास के लोगों का दिल जीतने में कामयाबी हासिल करेंगे। कोई भी आपके व्यक्तित्व के आकर्षण से प्रभावित हुए बिना नहीं रह सकेगा। नवविवाहित जातकों को न्यूक्लियर फैमिली बसाने का मौका मिलेगा।

    रोमांसः इस साल किसी एक साथी के साथ संबंध स्थापित करना मुमकिन नहीं होगा। इस दौरान आपको जीवन में सच्चे प्यार की कमी नहीं खलेगी बल्कि आप इस समय का पूरा पूरा आनंद लेने में विश्वास रखेंगे। शादीशुदा जोड़े एक- दूसरे की जरूरतों का खयाल रखेंगे, एक-दूसरे को समय देते हुए संबंध में जान डालते रहेंगे। अप्रैल, जून और सितंबर के महीने रोमांटिक लाइफ के लिए सही नहीं। तनातनी होने के बावजूद याद रखें कि प्यार हर जख्म भर देता है।

    शुभ अंकः 8, शुभ रंगः लेवेंडर, पर्स में मोर का पंख रखने से जीवन खुशहाल बना रहेगा।

राज्य चुनें
  • उत्तर प्रदेश
  • पंजाब
  • दिल्ली
  • बिहार
  • उत्तराखंड
  • हरियाणा
  • मध्य प्रदेश
  • झारखण्ड
  • राजस्थान
  • जम्मू-कश्मीर
  • हिमाचल प्रदेश
  • छत्तीसगढ़
  • पश्चिम बंगाल
  • ओडिशा
  • महाराष्ट्र
  • गुजरात
आपका राज्य