This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Sai Baba Aarti: आज गुरुवार है, करें साईं बाबा की आरती

Sai Baba Aarti गुरुवार का मतलब है कि शिक्षा की देवी सरस्वती की आराधना का दिन। सभी देवों के गुरु ब्रहस्पति की आरधना का दिन और इसके साथ ही शिरड़ी वाले साईं बाबा की आराधना का दिन।

Shilpa SrivastavaThu, 27 Aug 2020 07:38 AM (IST)
Sai Baba Aarti: आज गुरुवार है, करें साईं बाबा की आरती

Sai Baba Aarti: गुरुवार का मतलब है कि शिक्षा की देवी सरस्वती की आराधना का दिन। सभी देवों के गुरु ब्रहस्पति की आरधना का दिन और इसके साथ ही शिरड़ी वाले साईं बाबा की आराधना का दिन। महाराष्ट्र के शिरडी में साईं बाबा का भव्य मंदिर बनाया गया है जहां रोज हजारों की संख्या में श्रद्दालु दर्शनों के लिए पहुंचते हैं। हालांकि कोरोना काल में वहां भी पाबंदियां हैं, लेकिन आज गुरुवार है तो आप घर बैठे ही साईं बाबा की आराधना कर सकते हैं। इसके लिए जागरण आध्यात्म के इस लेख में दी जा रही है सांई बाबा की आरती। इस आरती को आप स्वयं भी करें और साईं बाबा के भक्त अपने दोस्तों को भी शेयर कर सकते हैं।

ॐ जय साईं हरे, बाबा शिरडी साईं हरे।

भक्तजनों के कारण, उनके कष्ट निवारण॥

शिरडी में अवतरे, ॐ जय साईं हरे॥ ॐ जय...॥

दुखियन के सब कष्टन काजे, शिरडी में प्रभु आप विराजे।

फूलों की गल माला राजे, कफनी, शैला सुन्दर साजे॥

कारज सब के करें, ॐ जय साईं हरे ॥ ॐ जय...॥

काकड़ आरत भक्तन गावें, गुरु शयन को चावड़ी जावें।

सब रोगों को उदी भगावे, गुरु फकीरा हमको भावे॥

भक्तन भक्ति करें, ॐ जय साईं हरे ॥ ॐ जय...॥

हिन्दु मुस्लिम सिक्ख इसाईं, बौद्ध जैन सब भाई भाई।

रक्षा करते बाबा साईं, शरण गहे जब द्वारिकामाई॥

अविरल धूनि जरे, ॐ जय साईं हरे ॥ ॐ जय...॥

भक्तों में प्रिय शामा भावे, हेमडजी से चरित लिखावे।

गुरुवार की संध्या आवे, शिव, साईं के दोहे गावे॥

अंखियन प्रेम झरे, ॐ जय साईं हरे ॥ ॐ जय...॥

ॐ जय साईं हरे, बाबा शिरडी साईं हरे।

शिरडी साईं हरे, बाबा ॐ जय साईं हरे॥

साईं बाबा के भक्त गुरुवार को अक्सर व्रत रखकर साईं बाबा की आराधना करते हैं। साईं बाबा के लिए कहा जाता है कि जिसकी पीर कोई नहीं सुनता था, साईं उसका दुख हर लेते थे। साईं को गरीबों का सहारा माना जाता रहा है।