Udaipur Murder Case: कन्हैयालाल हत्याकांड मामले पर वसुंधरा राजे ने कहा- अशोक गहलोत सरकार को बने रहने का अधिकार नहींं, पीड़ित परिजनों से की मुलाकात

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा ने कहा कि कन्हैयालाल हत्याकांड मेरे जीवन का सबसे जघन्य अपराधों में से एक है। हत्याकांड और हत्यारों के बनाए वीडियो उनके पास भी आए लेकिन वह हत्याकांड का वीडियो देख नहीं पाई। वह सोमवार शाम उदयपुर में कन्हैयालाल हत्याकांड के पीड़ित परिजनों से मिलने पहुंची थी।

Piyush KumarPublish: Tue, 05 Jul 2022 02:29 AM (IST)Updated: Tue, 05 Jul 2022 02:29 AM (IST)
Udaipur Murder Case: कन्हैयालाल हत्याकांड मामले पर वसुंधरा राजे ने कहा- अशोक गहलोत सरकार को बने रहने का अधिकार नहींं, पीड़ित परिजनों से की मुलाकात

उदयपुर, संवाद सूत्र। जो सरकार अपने राज्य के लोगों को उसके जीवन जीने का हक को सुरक्षित नहीं रख पाती तो उसे बने रहने का अधिकार नहीं। यह बात पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा की प्रदेश उपाध्यक्ष वसुंधरा राजे ने सोमवार देर शाम पत्रकार वार्ता के दौरान कही। वह सोमवार शाम उदयपुर में कन्हैयालाल हत्याकांड के पीड़ित परिजनों से मिलने पहुंची थी। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी का कोड है हर गलती कीमत मांगती है। कभी—कभी पूछने का मन करता है कि इसकी कीमत क्या होगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता चार साल से चिल्ला रही है। प्रदेश में क्राइम लगातार बढ़ रहे हैं। ना तो यहां की महिलाएं सुरक्षित हैं और ना ही जनजाति। कुल मिलाकर उन्हें सुरक्षा नहीं मिल पा रही।

अशोक गहलोत सरकार पर किया तंज

अशोक गहलोत मुख्यमंत्री भी हैं और गृहमंत्री भी। किन्तु वह करें तो क्या, बिजी इतने हैं कि इस ओर ध्यान नहीं। कभी विधायकों को लेकर तो कभी चुनाव को लेकर बिजी हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि जब उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ अपराधियों पर लगाम कसने में सफल हो रहे है तो गहलोत क्यों नहीं हो सकते। उन्हें ही क्यों, देश के तमाम मुख्यमंत्रियों को योगीजी की तरह अपराध और अपराधियों पर लगाम लगाने की जरूरत है। उन्होंने कन्हैयालाल हत्याकांड पर एनआईए की जांच को लेकर कहा कि एनआईए अपराधियों को जल्द से जल्द सजा दिलाने में सफल होगी। वह अपराधियों के हर स्तर तक पहुंचेगी।

किन्तु गहलोत सरकार को भी इस मामले में बेहद गंभीरता दिखाने होगी। क्यूंकि यह मामला कोर्ट से गुजरेगा और इसकी जांच और अदालत तक पहुंचाने में लोकल पुलिस की भी अहम भूमिका रहेगी। एनआईए यह जांच में लगी है कि इन हत्यारों का किस व्यक्ति और संगठन से संबंध है। मेरी मांग है कि इस मामले में जल्द से जल्द पीड़ित परिवार को न्याय मिले और हत्यारों को फांसी लगाने की जरूरत है।

मेरे जीवन का सबसे जघन्य अपराध

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा ने कहा कि कन्हैयालाल हत्याकांड मेरे जीवन का सबसे जघन्य अपराधों में से एक है। हत्याकांड और हत्यारों के बनाए वीडियो उनके पास भी आए लेकिन वह हत्याकांड का वीडियो देख नहीं पाई। जिस निर्ममता से हत्यारों ने कन्हैयालाल की हत्या की, उसी कड़ाई के साथ उन्हेें जल्द से जल्द फांसी के फंदे तक पहुंचा देना चाहिए।

हत्याकांड के लिए उदयपुर पुलिस भी जिम्मेदार

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि कन्हैयालाल की हत्या के लिए हत्यारे मोहम्मद गौस और रियाज मोहम्मद ही नहीं, बल्कि उदयपुर पुलिस भी है। जिस तत्परता से धानमंडी थाना पुलिस ने एक पोस्ट के चलते गिरफ्तार कर लिया। वहीं तत्परता जब उसे हत्या की धमकियां मिल रही थी और शिकायत मिली तब कार्रवाई करती तो वह जिंदा होता। पुलिस ने कानून सम्मत काम करने के बाद कन्हैयालाल को ही दबाव में लिया और उसे हिदायत देकर समझौता करा दिया। उसके बाद भी उसे धमकियां मिलना जारी रहा और वह अपना कारोबार बंद कर घर पर रहा। परिवार की जिम्मेदारियों के बाद जब वह अपनी दुकान पर पहुंचा तो नाप के बहाने पहुंचे हत्यारों ने बेरहमी से उसकी हत्या कर दी। उदयपुर पुलिस इसके लिए जिम्मेदार है।

Koo App
उदयपुर में स्व. कन्हैयालाल जी के आवास पर शोक-संतप्त परिजनों से मिलकर उन्हें ढाढस बंधाया। कन्हैयालाल जी की हत्या के बाद उनका पूरा परिवार सदमे में हैं तथा समाज में निराशा का माहौल है। कठिन दुःख की इस घड़ी में हम सभी उनके परिवार के साथ मजबूती से खड़े हैं। सत्ता सुख में सोई गहलोत सरकार कन्हैया लाल की हत्या की ज़िम्मेदार है। गहलोत जी खुद कहते हैं कि हर गलती कीमत मांगती है। ऐसे में अब वे ही बताएं कि इस गलती कि क्या क़ीमत है? #Udaipur #UdaipurHorror #Rajasthan - Vasundhara Raje (@vasundhara_raje) 5 July 2022

Edited By Piyush Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept