Reet Paper Leak Case: रीट पेपर लीक मामले में राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष व सचिव बर्खास्त

Reet Paper Leak Case रीट पेपर लीक मामले में राजस्थान सरकार ने राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष धर्मपाल जारौली को अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने में विफल के लिए बर्खास्त कर दिया है। जारोली ने कहा कि राजनीतिक संरक्षण के बिना कुछ संभव नहीं है।

Sachin Kumar MishraPublish: Sat, 29 Jan 2022 03:32 PM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 04:07 PM (IST)
Reet Paper Leak Case: रीट पेपर लीक मामले में राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष व सचिव बर्खास्त

अजमेर, संवाद सूत्र। राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) पेपर लीक मामले में राजस्थान सरकार ने राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डा धर्मपाल जारौली को अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने में विफल के लिए बर्खास्त कर दिया है। इस बीच, सीएम अशोक गहलोत ने ट्वीट में लिखा कि राज्य सरकार परीक्षा में गड़बड़ी, कोताही व कर्तव्य में लापरवाही करने वाले हर व्यक्ति पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करेगी। परीक्षा में शामिल किसी भी अभ्यर्थी के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। वहीं, रीट पेपर लीक मामले में बोर्ड अध्यक्ष डीपी जारौली ने कहा कि राजनीतिक संरक्षण के बिना कुछ संभव नहीं है। बोर्ड अध्यक्ष के इस बयान के बाद राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार पर विपक्ष का प्रहार भी बढ़ रहा हैं। शुक्रवार देर रात सीएम गहलोत ने राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डीपी जारौली को बर्खास्त करने के आदेश दिए हैं। शनिवार सुबह होते होते राज्य सरकार ने राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सचिव अरविंद सेंगवा को निलंबित कर दिया। संयुक्त शासन सचिव कार्मिक विभाग (क-4) डा रविन्द्र गोस्वामी ने प्रशासनिक सेवा के अधिकारी सेंगवा के निलंबन आदेश जारी किए। इसके बाद शनिवार सुबह बोर्ड अध्यक्ष डीपी जारौली जयपुर के लिए रवाना हो गए। अजमेर से रवाना होने से पहले कहा कि बर्खास्तगी को लेकर उनको फिलहाल कोई आदेश नहीं मिले हैं।

जांच में सहयोग करेंगे जारौली

जारौली ने कहा कि पेपर लीक मामले को पूरी तरह से राजनीतिक षड्यंत्र है। उन्हें इसमें फसाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि एसओजी की जांच में वे पूरा सहयोग करेंगे और परीक्षा निरस्त करने का निर्णय सरकार को करना है। शिक्षा संकुल जाने के सवाल पर जारौली बोले कि 24 सितंबर की रात को मौजूद नहीं था। 23 को दिन में सीधा अजमेर से जयपुर सीएमआर गया और वापस अजमेर आ गया। रिटायर्ड कर्मचारियों को जिम्मेदारी देने के सवाल पर कहा कि रिटायर्ड प्रदीप पाराशर के अलावा शिक्षा संकुल में चार अतिरिक्त समन्वयक थे, जो शिक्षा संकुल के अधिकारी है। जो पकडे़ गए, उनको वे नहीं जानते। सीसीटीवी नहीं लगाने के सवाल पर जारौली ने कहा कि सीसीटीवी लगाना, वीडियो ग्राफी करवाना, यह निर्णय जिला समन्वय समिति को करना होता है, उनका कोई रोल नहीं है। गिरफ्तारी की तलवार लटकने के सवाल पर बोले कि इसमें कुछ पता नहीं। शिक्षक रहा हूं,अब तक कई परीक्षाएं सुचिता से कराई और यह परीक्षा भी कराई, लेकिन जो हुआ, सबके सामने है। परीक्षा निरस्त करने के सवाल पर बोले कि यह निर्णय सरकार को करना है, लेकिन उन्होंने कहा कि राजनीतिक संरक्षण के बिना यह संभव नहीं है और यह राजनीतिक षड्यंत्र है।

Koo App

रीट की परीक्षा में शामिल हुए संगठित नकल गिरोह ने जिस तरीके से बेरोजगारों के साथ कुठाराघात किया है, वह दुर्भाग्यपूर्ण है। वहीं सरकार भी इस मामले में कोई सख्त कदम नहीं उठा रही है।

- Diya Kumari (@diyakumariofficial) 29 Jan 2022

Koo App

REET exam question paper leak: Rajasthan Govt dismisses Rajasthan Board of Secondary Education Chairman Dr Dharmpal Jarauli

- Prasar Bharati News Services (@pbns_india) 29 Jan 2022

Edited By Sachin Kumar Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept