Rajasthan Weather Update: माउंट आबू में माइनस तीन डिग्री पर पहुंचा पारा, रेगिस्तान में बर्फ गिरने की संभावना

Rajasthan Weather Update राजस्थान के माउंट आबू में माइनस तीन डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया है। भीलवाड़ा सीकर चूरू और चित्तौड़गढ़ में तापमान तीन डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। वहीं जयपुर झुंझुनूं अलवर सहित कई जिलों में शीतलहर जारी है।

Sachin Kumar MishraPublish: Fri, 28 Jan 2022 08:51 PM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 10:55 PM (IST)
Rajasthan Weather Update: माउंट आबू में माइनस तीन डिग्री पर पहुंचा पारा, रेगिस्तान में बर्फ गिरने की संभावना

जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान में रात के तापमान में गिरावट के कारण सर्दी का असर लगातार बढ़ रहा है। राज्य में लगातार पांचवें दिन तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। फतेहपुर में माइनस 1.3 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। माउंट आबू में माइनस तीन डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया है। जयपुर मौसम केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार, भीलवाड़ा, सीकर, चूरू और चित्तौड़गढ़ में तापमान तीन डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। वहीं, जयपुर, झुंझुनूं, अलवर सहित कई जिलों में शीतलहर जारी है। मौसम विभाग ने शनिवार को कई जिलों में अति शीतलहर चलने की संभावना जताई है। दिन में धूप तो निकल रही है, लेकिन शीतलहर के कारण सर्दी भी तेज है। हनुमानगढ़ और सीकर को छोड़कर शेष सभी जिलों में शहरों का तापमान अब 20 डिग्री सेल्सियस या इससे ऊपर पहुंच गया है। जयपुर मौसम केंद्र के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि अगले एक सप्ताह तक राज्य में मौसम पूरी तरह से शुष्क रहेगा। पूर्वी और उत्तरी राजस्थान के कई जिलों में शीतलहर का असर थोड़ा कम होने की उम्मीद है। इससे रात के तापमान में मामूली राहत मिल सकती है। 

रेगिस्तान में बर्फ गिरने की संभावना, दो दिन और पड़ेगी तेज ठंड

उदयपुर, संवाद सूत्र। राजस्थान के रेगिस्तान में बर्फ भी गिर सकती है। अगले दो दिनों तक ठंड का प्रकोप ऐसा ही बने रहेगा। यह जानकारी उदयपुर के मौसम विज्ञानी प्रो. नरपत सिंह राठौड़ ने दी है। मौसम विज्ञानी प्रो. राठौड़ का कहना है कि अफगानिस्तान के हिंदुकुश, भारत के गिलगित, बाल्टिस्तान, स्कार्दू, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश तथा उत्तराखंड मे लगभग 10 दिनों से लगातार बर्फ गिर रही है, जिससे मेवाड़ सहित राजस्थान के अधिकांश जिलों में एक सप्ताह से कड़ाके की ठंड पड़ रही है। इस वर्ष उतरी राजस्थान के बाद पहली बार राजसमंद, चितौड़गढ़, भीलवाड़ा व करौली जिले में तापमान जीरो डिग्री तक रहे हैं। इस का मुख्य कारण पश्चिमी जेट स्ट्रीम इस शीत काल में दूसरी बार 26 डिग्री उत्तरी अक्षांश तक पहुंची। जबकि पश्चिमी जेट स्ट्रीम शीत काल मे सामान्यतः जम्मू- कश्मीर तक उतरती हैं। इसी कारण पूरे राजस्थान के साथ ठंडी उतरी हवाएं गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र के मराठवाड़ा व विधर्व तथा छत्तीसगढ़ तक ठंड का असर दिख रहा हैं।

जानें,-कहां कितना तापमान

उन्होंने बताया कि पश्चिमी जेट स्ट्रीम के दक्षिण में 26 डिग्री उतरी अक्षांश तक खिसकने तथा उतर से इसी तरह ठंडी हवाएं राजस्थान में आती रहती है तो राजस्थान के रेगिस्तान में बर्फ भी गिर सकती हैं। अगले दो दिनों तक ठंड का प्रकोप ऐसा ही बना रहेगा। इधर, शुक्रवार को उदयपुर तथा आसपास के जिलों में दिन में तेज धूप निकलने से भले ही लोगों को राहत मिल रही हो, लेकिन रात के तापमान में गिरावट के कारण सर्दी का असर कम नहीं हो रहा है। प्रदेश में लगातार पांचवें दिन शहरों में न्यूनतम तापमान में गिरावट हुई है। चित्तौड़गढ़ में बीती रात पारा जमाव बिंदु के नजदीक पहुंच गया। हिल स्टेशन माउंट आबू में लगातार पांचवें दिन भी पारा मानइस तीन डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। भीलवाड़ा और राजसमंद में न्यूनतम तापतान तीन डिग्री सेल्सियस तथा उदयपुर में चार डिग्री सेल्सियस से कम रहा। जबकि अधिकतम तापमान पिछले कई दिनों से 19 डिग्री सेल्सियस से कम ही रह रहा है।

Edited By Sachin Kumar Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept