Coronavirus: राजस्थान में कोरोना के 10437 नए मामले, राज्यपाल कलराज मिश्र भी हुए संक्रमित

Kalraj Mishra राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पाजिटिव आई है लेकिन उनमें इस बीमारी के कोई लक्षण नहीं हैं। 80 वर्षीय कलराज ने उन सभी से आग्रह किया जो हाल ही में उनके संपर्क में आए थे वे अपना परीक्षण करवाएं।

Sachin Kumar MishraPublish: Sat, 29 Jan 2022 04:03 PM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 08:09 PM (IST)
Coronavirus: राजस्थान में कोरोना के 10437 नए मामले, राज्यपाल कलराज मिश्र भी हुए संक्रमित

जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 10437 नए संक्रमित मिलने के साथ ही 22 लोगों की मौत हुई है। संक्रमितों में सबसे ज्यादा 2,408 जयपुर जिले के हैं। यहां चार लोगों की मौत भी हुई है। वर्तमान में एक्टिव केसों की संख्या 74,849 है। इस बीच, राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र कोरोना संक्रमित हो गए हैं। राज्यपाल मिश्र ने ट्वीट कर कहा कि मैंने शनिवार को अपना कोविड टेस्ट करवाया है। कोविड टेस्ट पाजिटिव आया है। मैं स्वस्थ हूं और मुझे कोई लक्षण नहीं है। मेरे संपर्क में आए सभी जनों से आग्रह करता हूं कि वह आइसोलेट हो जाएं और अपना कोविड टेस्ट अवश्यक करवाएं। वहीं, सीएम अशोक गहलोत ने ट्वीट कर राज्यपाल के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है। गौरतलब है कि इससे पहले गत दिनों राजस्थान के राज्यपाल का ट्वीटर अकाउंट हैक कर लिया गया था।

एक फरवरी से स्कूल जा सकेंगे कक्षा 10 से 12 तक के स्टूडेंट्स

राजस्थान के शहरों में सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों की कक्षा 10 से 12 तक शैक्षणिक गतिविधियां एक फरवरी और कक्षा छह से नौ तक 10 फरवरी से शुरू की जाएगी। अभिभावकों की लिखित सहमति के बाद ही छात्र-छात्राओं को स्कूल बुलाया जा सकेगा। इस दौरान आन लाइन अध्ययन की सुविधा भी उपलब्ध रहेगी। इसके साथ ही दुकानें और शापिंग माल व अन्य गतिविधियां रात 10 बजे तक कोविड प्रोटोकाल की पालना करते हुए संचालित हो सकेगी। राज्य सरकार के गृह विभाग ने शुक्रवार रात कोविड प्रोटोकाल की नई गाइडलाइन जारी की गई है। अब वीकेंड कर्फ्यू शनिवार रात 11 से सोमवार सुबह पांच बजे तक की पूर्व में तय की गई व्यवस्था अब लागू नहीं होगी। अब प्रतिदिन रात 11 से सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू लागू रहेगा। सरकारी और गैर सरकारी कार्यालयों में कोविड की दोनों वैक्सीन लगवाने वालों को ही प्रवेश दिए जाने का निर्णय लिया गया है। धार्मिक व सामाजिक कार्यक्रमों में अधिकतम 100 लोग शामिल हो सकेंगे। नई गाइडलाइन एक फरवरी से लागू होगी।

उदयपुर में कोरोना की तीसरी लहर में पहली बार एक दिन में तीन मौत, 567 नए केस 

उदयपुर, संवाद सूत्र। कोरोना की तीसरी लहर के बीच उदयपुर जिले में शनिवार को 567 नए केस सामने आए, जबकि तीन संक्रमित मरीजों ने दम तोड़ दिया। यह पहली बार है कि तीसरी लहर के दौरान एक ही दिन तीन मरीजों की मौत हुई। इन्हें मिलाकर जनवरी महीने में उदयपुर जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या 11 पहुुंच गई है। मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी डा. दिनेश खराड़ी ने तीन संक्रमित मरीजों की मौत की पुष्टि करते हुए कहा कि तीनों ही रोगी साठ वर्ष से कम उम्र के थे। तीसरी लहर में एक दिन में हुई मौतों का यह अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इनमें 59 वर्षीय महिला, 57 वर्षीय पुरुष और 45 वर्षीय पुरुष की मौत हुई। तीनों को डायबिटीज, हायपरटेंशन सहित कई बीमारियां थी। तीनों उदयपुर के गीतांजली मेडिकल कालेज के अस्पताल में भर्ती थे। उन्होंने कहा कि शनिवार को कोरोना के 567 नए मामले सामने आए। शुक्रवार को विभाग ने 2926 सैंपल जांचें जिनकी रिपोर्ट शनिवार को मिली। जिसमें से 567 सैंपल पाजिटिव आए। शनिवार को उदयपुर की पाजिटिविटी रेट 19.34 प्रतिशत रही। शनिवार को सामने आए संक्रमित रोगियों में से 287 शहरी तो 280 ग्रामीण इलाकों के हैं। इनमें 47 कोरोना वारियर भी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि उदयपुर में एक्टिव रोगियों की संख्या भी लगातार घट रही है। लोग तेजी से रिकवर हो रहे हैं। उदयपुर में शनिवार तक 3289 एक्टिव रोगी हैं। इनमें से 3178 रोगी होम आइसालेशन में हैं, जबकि 111 रोगी अस्पताल में भर्ती हैं।

Edited By Sachin Kumar Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept