This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Rajasthan Crime : पानी के लिए मारामारी, महिलाओं के पथराव के बाद पुलिस ने फटकारे डंडे

मंगलवार सुबह चित्तौड़गढ़ की गांधी नगर कच्ची बस्ती में बनी पानी की टंकी पर महिलाएं पानी भरने पहुंची। बड़ी संख्या में महिलाओं के एकसाथ पहुंचने पर पानी भरने को लेकर उनमें कहासुनी होने लगी। महिलाएं दो गुटों में बंट गई और कहासुनी कब हाथापाई में शुरू हुई पता नहीं चला।

Vijay KumarTue, 04 May 2021 08:08 PM (IST)
Rajasthan Crime : पानी के लिए मारामारी, महिलाओं के पथराव के बाद पुलिस ने फटकारे डंडे

 उदयपुर, संवाद सूत्र। चित्तौड़गढ़ शहर की गांधी नगर कच्ची बस्ती में मंगलवार को नगर परिषद की टंकी से पानी भरने को लेकर महिलाओं के बने दो गुटों के बीच जमकर पथराव हुआ। हादसे में आठ महिलाओं को चोटें आईं। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची तथा डंडा फटकारते हुए महिलाओं को वहां से भगाया। इस घटना को लेकर लोगों ने मांग की है कि पानी की टंकी को हटा दिया जाए, जिसकी वजह से यहां आए दिन झगड़े होते रहते हैं।

मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार सुबह चित्तौड़गढ़ शहर की गांधी नगर कच्ची बस्ती में बनी पानी की टंकी पर महिलाएं पानी भरने पहुंची। बड़ी संख्या में महिलाओं के एक साथ पहुंचने पर पानी भरने को लेकर उनमें कहासुनी होने लगी। महिलाएं दो गुटों में बंट गई और कहासुनी कब हाथापाई में शुरू हुई पता नहीं चला।

इसी बीच एक महिला ने दूसरे गुट की महिला पर पत्थर से हमला किया तो दोनों ओर से महिलाएं एक—दूसरे पर पथराव करने लगी। इससे मौके पर अफरा—तफरी का माहौल बन गया। मोहल्ले के दूसरे लोग भी दौड़कर आए और बीच—बचाव की कोशिश की लेकिन पथराव में आठ महिलाओं को चोट लगी। बात नहीं बनने पर मामला बढ़ने लगा, इस बीच किसी ने पुलिस को सूचित कर दिया।

कोतवाली थाने से पुलिस टीम मौके पर पहुंची। उन्होंने लाठियां फटकारते हुए महिलाओं को वहां खदेड़ा। पुलिस का कहना था कि कच्ची बस्ती में रहने वाले लोगों के पास उनके आवास के पट्टे नहीं होने पर उन्हें पेयजल कनेक्शन उपलब्ध नहीं हो पाए थे।

नगर परिषद ने पेयजल की सुविधा के लिए वहां ट्यूब वैल की खुदाई करा टंकी का निर्माण करा दिया था, जहां एक साथ छह लोग पानी भर सकते थे लेकिन गर्मी की वजह से पानी की आवश्यकता अधिक होने पर अलसुबह से बड़ी संख्या में महिलाओं की भीड़ जुटने लगी। पानी भरने की आपाधापी में महिलाएं आपस में झगड़ा करने लगी।

इस मामले में गांधीनगर कच्ची के लोगों को थाने बुलाया। लोगों ने रोजाना की लड़ाई से तंग आकर मांग करते हुए कहा कि वहां से पानी की टंकी ही हटा दी जाए। पहले पानी की टंकी नहीं थी तब भी उनका काम चल रहा था लेकिन जब से पानी की टंकी का निर्माण कराया गया है तब से झगड़े बढ़ने लगे हैं।

 

जयपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!