This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Coronavirus in Rajasthan: राजस्थान में कोरोना संक्रमण खतरनाक स्थिति में पहुंचा, नियम तोड़ने वाले पर होगी सख्ती

Coronavirus in Rajasthan संक्रमितों के बढ़ते आंकड़ों को देखते हुए सरकार ने कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों पर निगाह रखने के लिए पुलिस व स्थानीय प्रशासन की संयुक्तटीमों का गठन किया है। यदि संक्रमित ने होम क्वारंटीन के नियम तोड़े तो उसे सरकारी सेंटर्स में शिफ्ट कर दिया जाएगा।

Priti JhaTue, 06 Apr 2021 12:48 PM (IST)
Coronavirus in Rajasthan: राजस्थान में कोरोना संक्रमण खतरनाक स्थिति में पहुंचा, नियम तोड़ने वाले पर होगी सख्ती

जयपुर, जागरण संवाददाता। Coronavirus: राजस्थान में कोरोना संक्रमण खतरनाक स्थिति में पहुंच गया है। यहां पिछले दो माह की तुलना में अप्रैल माह में संक्रमण की रफ्तार करीब 1.50 फीसदी बढ़ी है। संक्रमितों के बढ़ते आंकड़ों को देखते हुए सरकार ने कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों पर निगाह रखने के लिए पुलिस एवं स्थानीय प्रशासन की संयुक्त टीमों का गठन किया है। सरकार ने तय किया है कि अब यदि किसी संक्रमित ने होम क्वारंटीन के नियम तोड़े तो उसे सरकारी सेंटर्स में शिफ्ट कर दिया जाएगा।

चिकित्सा विभाग के अनुसार अब तक प्रदेश में 1.13 प्रतिशत आबादी को वैक्सीन की दोनों डोज लगाई जा चुकी है। एक सप्ताह बाद सरकार ने प्रतिदिन 7 लाख लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा है। पुलिस ने कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए राजस्थान एपिडेमिक अध्यादेश के तहत अब तक 12 लाख 29 हजार लोगों के चालान किए हैं। इनमें सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं लगाने मिसाइल पर 3 लाख 76 हजार, बिना मास्क पहले लोगों को सामान बेचने वाले दुकानदारों पर 15 हजार 27, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ 8 लाख 31 हजार 100 चालान किए गए हैं।

पुलिस महानिदेशक एम.एल.लाठर ने बताया कि सार्वजनिक स्थानों पर थूंकने, शराब का सेवन करने, क्वाारंटीन के तय नियमों का सही पालन नहीं करने पर 3 हजार 926 मामले दर्ज कर 10 हजार से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है। निषेधाज्ञा तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 18 लाख 45 हजार 58 वाहनों का चालान किया गया है। वहीं 2 लाख से ज्यादा वाहन जब्त किए गए । इन लोगों  से 36 करोड़ 15 लाख का जुर्माना वसूलला गया है । इसी तरह सोशल मीडिया का दुरूपयोग करने पर 272 लोगों को गिरफ्तार किया गया है ।  

 दूसरे राज्यों से आने वालों को दिखानी होगी आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट

उधर, प्रदेश के चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि प्रदेश में प्रतिदिन 35 से 36 हजार कारोना जांच हो रही है। प्रदेश में अब तक कुल तीन लाख 39 हजार से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि फरवरी में जहां एक दिन में 60 संक्रमित थे, वहीं अब यह संख्या बढ़कर 2000 प्रतिदिन तक पहुंच गई। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन के बाद भी संक्रमित होने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता, इसलिए जिन लोगों का वैक्सीनेशन हो गया उन्हें भी दो गज की दूरी और मास्क के प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए। केंद्र सरकार को वैक्सीनेशन सभी के लिए मुहैया करानी चाहिए, इसमें उम्र की सीमा हटानी चाहिए। उन्होंने दावा किया कि प्रदेश में मृत्युदर 0.84 प्रतिशत है, जबकि 96.3 प्रतिशत लोग रिकवर होकर घर जा रहे हैं।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कहा कि प्रदेश के बाहर से आने वाले लोगों को आरटी-पीसीआर रिपोर्ट अनिवार्य रूप से 72 घंटे से अधिक पुरानी नहीं हो। यदि वे ऐसा नहीं करते हैं, तो उन्हें 14 दिन के होम आइसोलेशन में रखा जाएगा। यदि वे होम आइसोलेशन में प्रोटोकॉल का पालन नहीं करते हैं, तो उन्हें संस्थागत क्वारंटाइन में भेजा जाएगा। प्रदेश में रविवार को कोरोना के 1729 पॉजिटिव मामले आए। हमारी क्षमता प्रतिदिन 70,000 टेस्ट करने की है, इसे बढ़ाकर एक लाख करेंगे।

सिनेमाघर, स्वीमिंग पूल, मल्टीप्लेक्टस बंद, नौ तक के स्कूल रहेंगे बंद

राजस्थान में तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण के बीच राज्य सरकार ने सिनेमाघर, थियेटर, मल्टीप्लेक्स, मनोरंजक पार्क, स्वीमिंग पूल और जिम आगामी आदेश तक बंद करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ की स्कूलों में एक से नौ तक की कक्षाओं का संचालन नहीं होगा। सामाजिक, राजनीतिक, खेल और सांस्कृतिक कार्यक्रम बंद हॉल में होने की दशा में कुल क्षमता का 50 फीसद और अधिकत 100 व खुले ग्राउंड में रखने पर प्रत्येक दो लोगों के बीच दो गज की दूरी तय करना जरूरी होगा। गृह विभाग की ओर से रविवार रात जारी गाइडलाइन के अनुसार, रेस्टोरेंट को अब कर्फ्यू में छूट नहीं रहेगी, ये रात नौ बजे बंद हो जाएगी। वर्क फ्रॉम होम को प्रोत्साहित किया जाएगा। सरकारी कार्यालयों में जरूरत के अनुसार 75 फीसद कर्मचारियों को बुलाया जा सकेगा। शेष कर्मचारी वर्क फ्रॉम की स्थिति में रहेंगे। नर्सिंग, पैरा मेडिकल व मेडिकल कॉलेज पूर्व की तरह खुलेंगे। सरकार ने प्रदेशवासियों को अगले दस दिन तक अन्य किसी राज्य की यात्रा नहीं करने की सलाह दी है

जयपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!