Republic day 2022: तिरंगा हमारा धर्म है, इसके सम्मान के लिए हम सभी समर्पित है- खाचरियावास

खाचरियावास ने उदयपुर में मनाया गणतंत्र दिवस फहराया राष्ट्रीय ध्वज मंत्री ने गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि देश आज विश्व में एक बड़ी ताकत बन कर खड़ा है इसकी एक ही वजह यही है कि यहां हिन्दू मुस्लिम सिख ईसाई सभी वर्गों के लोग एक है।

Priti JhaPublish: Wed, 26 Jan 2022 02:22 PM (IST)Updated: Wed, 26 Jan 2022 02:26 PM (IST)
Republic day 2022: तिरंगा हमारा धर्म है, इसके सम्मान के लिए हम सभी समर्पित है- खाचरियावास

उदयपुर, संवाद सूत्र। 73 वें गणतंत्र दिवस का मुख्य समारोह बुधवार को गांधी ग्राउण्ड में उत्साह एवं सादगी के साथ मनाया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति व उपभोक्ता मामले मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया और परेड का निरीक्षण किया। मंत्री खाचरियावास ने गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि देश आज विश्व में एक बड़ी ताकत बन कर खड़ा है इसकी एक ही वजह यही है कि यहां हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई सभी वर्गों के लोग एक है और सभी का एक ही संकल्प है कि हमारी आन-बान और शान का प्रतीक तिरंगा सदा लहराता रहे। तिरंगा हमारा धर्म है, तिरंगे के सम्मान के लिए हम सभी समर्पित है।

उन्होंने कहा कि मेवाड़ की धरा ने पूरी दुनिया को संदेश दिया है शौर्य और स्वाभिमान का और इसी परंपरा का निर्वहन पूरा हिन्दुस्तान कर रहा है। हिन्दुस्तान न कभी झुका है और न हीं कभी झुकेगा। मेरा देश सदैव आगे बढ़ता रहेगा।

मंत्री ने मेवाड़ के इतिहास पर प्रकाश डालते हुए महाराणा प्रताप के शौर्य व बलिदान को अतुल्य बताया और कहा कि स्वतंत्रता से पहले महाराणा प्रताप ऐसे एकमात्र स्वाधीनता सेनानी थे जिन्होंने हार नहीं मानी और मेवाड़ की सुरक्षा के तत्पर रहे। इसके साथ ही उन्होंने भामाशाह, हकीम खां सूरी, भीलू राणा, राणा पूंजा आदि के योगदान को अविस्मरणीय बताया। उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, सुभाष चन्द्र बोस, भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु, अशफ़ाकउल्ला खां, चन्द्रशेखर आजाद, मौलाना अबुल कलाम, डॉ. भीमराव अंबेडकर आदि को याद करते हुए राष्ट्रहित में उनके योगदान को सर्वोपरि व अविस्मरणीय बताया।

उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार हर वर्ग के उत्थान के लिए प्रतिबद्ध है। आज पूरे देश में राजस्थान के कोरोना मैनेजमेंट को सराहा जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के प्रयासों से इस महामारी से बचाव व सुरक्षा के लिए हर संभव प्रयास किये जा रहे है। सरकार ने प्रदेश युवा बेरोजगारों को परीक्षा के लिए निःशुल्क बस सेवा उपलब्ध करा एक मिसाल कायम की है। चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में हर वर्ग को लाभान्वित किया जा रहा है। किसानों के बिजली बिल पर एक हजार रूपये की सहायता सरकार की ओर से प्रदान की जा रही है वहीं किसानों का ऋण माफ कर उन्हें बहुत बड़ी राहत प्रदान की गई है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में प्रदेश की जनता के लिए कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गये है। सबके अधिकारों की रक्षा करते हुए राजस्थान आगे बढ़ रहा है, हिन्दुस्तान आगे बढ़ रहा है।

शहीद परिजनों का सम्मान:

समारोह के दौरान केबिनेट मंत्री खाचरियावास ने उदयपुर के शहीद लेफ्टिनेंट अभिनव नागौरी के पिता धर्मचन्द्र नागौरी व माता सुशीला नागौरी का शॉल ओढ़ाकर व श्रीफल भेंटकर सम्मानित किया।

लोकप्रस्तुतियों में दिखा भारत का गौरव:

इस मौके पर अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) अशोक कुमार ने माननीय राज्यपाल के संदेश का पठन किया। समारोह के दौरान भारतीय लोककला मण्डल के निदेशक डॉ. लईक हुसैन के निर्देशन में लोक कलाकारों ने ‘इण धरती रो म्हाने अभिमान रे‘ लोकनृत्य व चरी नृत्य की प्रस्तुति देकर अतिथियों व दर्शकों की तालियां बटौरी।

समारोह में नगर निगम महापौर गोविन्द सिंह टांक, उप जिला प्रमुख पुष्कर तेली, समाजसेवी गोपाल शर्मा, लालसिंह झाला, त्रिलोक पूर्बिया, लक्ष्मीनारायण पंड्या, के.जी. मून्दडा, कुबेर सिंह, मनोहर सिंह, संभागीय आयुक्त राजेन्द्र भट्ट, पश्चिमी क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र की निदेशक किरण सोनी गुप्ता, जिला कलक्टर ताराचंद मीणा, आबकारी आयुक्त चेतन देवड़ा, जिला पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार, जिला परिषद सीईओ मयंक मनीष, गिर्वा एसडीएम सलोनी खेमका सहित पार्षदगण व अन्य जनप्रतिनिधि, प्रमुख समाजसेवी, विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं पुलिस अधिकारी मौजूद रहे।

Edited By Priti Jha

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept