Udaipur Murder Case: कन्हैयालाल के हत्यारोपित एक और व्यापारी की हत्या की बना रहे थे योजना, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए

Udaipur Murder Case राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल के हत्यारोपित मोहम्मद रियाज और गैसा मोहम्मद को बृहस्पतिवार को एनआइए की टीम ने कोर्ट पेश किया जहां से उन्हे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

Sachin Kumar MishraPublish: Thu, 30 Jun 2022 07:42 PM (IST)Updated: Thu, 30 Jun 2022 09:41 PM (IST)
Udaipur Murder Case: कन्हैयालाल के हत्यारोपित एक और व्यापारी की हत्या की बना रहे थे योजना, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए

जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल के हत्यारोपित मोहम्मद रियाज और गैसा मोहम्मद को बृहस्पतिवार को एनआइए की टीम ने कोर्ट पेश किया, जहां से उन्हे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। बृहस्पतिवार हत्यारोपितों को एसआइटी की टीम ने जिला व सत्र न्यायाधीश के समक्ष पेश किया था। एसआइटी की टीम हत्यारोपितों को कोर्ट में लेकर पहुंची तो वकीलों ने जय श्रीराम के नारे लगाए। इस बीच, एनआइए और एसओजी को जानकारी मिली है कि 35 वर्षीय टायर व्यापारी नितिन जैन की हत्या करना चाहते थे। जैन उदयपुर के सेक्टर 11 का रहने वाला है। एनआइए और राजस्थान एसओजी की पूछताछ में दोनों हत्यारोपितों ने जैन की हत्या करने की योजना की बात को स्वीकार किया है। हालांकि वह उसकी हत्या नहीं कर सके थे।

नितिन जैन के परिजन रहे भयभीत

नितिन के पिता रोशनलाल जैन ने पुलिस को बताया कि कई दिन तक उनका परिवार भय में रहा है। उन्होंने बताया कि नितिन से गलती से फेसबुक पर सात जून को भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नुपुर शर्मा से संबंधित पोस्ट शेयर हो गई थी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर कर नितिन को गिरफ्तार किया था। बाद में उसे जमानत पर रिहा कर दिया गया। जिला प्रशासन ने उसे पाबंद कर रिहा किया था। जांच में सामने आया कि नितिन की दुकान पर सात जून के बाद नौ अलग-अलग लोग निगरानी रखने के लिए पहुंच रहे थे। भय के कारण नितिन ने दुकान पर जाना बंद कर दिया था। वह कई दिनों तक घर के अंदर ही बंद रहा था।

खंजर बरामद

इस बीच, एसओजी ने बड़ा खुलासा करते हुए उदयपुर के सपेटिया इलाके में एसके इंजीनियरिंग कंपनी पर छापा मारकर अवैध हथियार बनाने का कारखाना पकड़ा है। यह कारखाना मोहम्मद गौस चलाता था। उसने लोगों को वेल्डिंग का काम करना बता रखा था, लेकिन वह हथियार बनाता था। एसओजी के अधिकारियों ने कारखाने से अवैध हथियार और कन्हैयालाल की हत्या के काम में लिया गया तलवार जैसा खंजर बरामद किया है। इस कारखाने में ही हत्यारों ने कन्हैयालाल की हत्या के बाद वीडियो बनाकर वायरल किया था। इस बीच, इंटरनेट बंदी शुक्रवार शाम तक बढ़ाई गई है।

Edited By Sachin Kumar Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept