Rajasthan: तेज ठंड के बीच बीएसएफ का आपरेशन सर्द हवा 23 से 28 तक चलेगा

आपरेशन सर्द हवा के दौरान पेट्रोलिंग ज्यादा बढ़ाई जाती है। जवान पैदल और ऊंट एवं अधिकारी वाहनों से पेट्रोलिंग करते हैं। आपरेशन सर्द हवा के दौरान बीएसएफ की इंटेलिजेंस शाखा शाखा भी सक्रिय रहेगी। पुलिस के साथ भी बीएसएफ का तालमेल रहेगा।

Priti JhaPublish: Tue, 18 Jan 2022 04:03 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 04:03 PM (IST)
Rajasthan: तेज ठंड के बीच बीएसएफ का आपरेशन सर्द हवा 23 से 28 तक चलेगा

जागरण संवाददाता, जयपुर। तेज ठंड के बीच भारत-पाकिस्तान सीमा पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) का "आपरेशन सर्द हवा " शुरू होगा । बॉर्डर पर इन दिनों कड़ाके की सर्दी और कोहरे के कारण सीमापार से घुसपैठ की आशंका रहती है। कोहरे और कड़ाके की सर्दी का लाभ उठाकर सीमा पार से तस्करों द्वारा नशीले पदार्थों की तस्करी करने की भी आशंका रहती है। ऐसे में बीएसएफ 23 से 28 जनवरी तक आपरेशन सर्द हवा संचालित करेगी। जैसलमेर और बाडमेर से सटे सीमावर्ती इलाको में इस दौरान गश्त बढ़ाई जाएगी । तारबन्दी के आसपास जवानों की नफरी बढ़ाई जाएगी ।

बीएसएफ नॉर्थ सेक्टर के महानिरीक्षक ए.के.सिंह ने बताया कि अन्य दिनों के मुकाबले आपरेशन सर्द हवा के दौरान पेट्रोलिंग ज्यादा बढ़ाई जाती है। जवान पैदल और ऊंट एवं अधिकारी वाहनों से पेट्रोलिंग करते हैं। आपरेशन सर्द हवा के दौरान बीएसएफ की इंटेलिजेंस शाखा शाखा भी सक्रिय रहेगी। पुलिस के साथ भी बीएसएफ का तालमेल रहेगा। इस दौरान प्रत्येक संदिग्ध गतिविधि पर नजर रहेगी। उन्होंने बताया कि गणतंत्र दिवस निकट आते ही सीमा पर पहले से अधिक चौकसी बढ़ाई गई है। उल्लेखनीय है कि तेज गर्मी के दौरान जून माह में बीएसएफ आपरेशन गर्म हवा और सर्दी में आपरेशन सर्द हवा चलाती है।

सीआरपीएफ के जवान ने आमरण अनशन शुरू किया

केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीआरपीएफ) के सहायक कमाण्डेंट शौर्य चक्र विजेता विकास जाखड़ मंगलवार से राजस्थान के झुंझुंनूं जिले में स्थित अपने गांव जाखड़ों का बास में आमरण अनशन पर बैठ गए । राजस्थान में शिक्षक भर्ती परीक्षा में फर्जीवाड़े की सीबीआई से जांच कराने,परीक्षा निरस्त करने,नकल के खिलाफ कानून बनाने और समयबद्ध प्रतियोगी परीक्षाएं आयोजित कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट के सेवानिवृत न्यायाधीश की अध्यक्षता में कमेटी गठित करने की मांग को लेकर आमरण अनशन पर बैठे जाखड़ को समर्थन देने के लिए बड़ी संख्या में युवा पहुंचे । आसपास के गांवों के लोग भी उन्हे समर्थन देने के लिए पहुंचे। जाखड़ सीआरपीएफ से इस्तीफा दे चुके हैं, लेकिन अब तक मंजूर नहीं हुआ है।

जाखड़ ने 23 नवम्बर,2016 को झारखण्ड के लातेहर जिले में नक्सलियों से मुकाबला किया था । इसमें उन्होंने सात नक्सलियों को मार गिराया था । इसके लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हे शौर्य चक्र से नवाजा था । जाखड़ ने कहा कि पिछले कुछ सालों से राजस्थान में सरकारी भर्तियों फर्जीवाड़ा हो रहा है। युवाओं को काफी मेहनत करने के बाद भी नौकरी नहीं मिल पाती है । नेताओं के रिश्तेदारों को फर्जीवाड़ा कर के नौकरी दे दी जाती है। उन्होंने कहा कि भर्तियों में फर्जीवाड़े के खिलाफ युवा आन्दोलन कर रहे हैं।लेकिन राज्य सरकार इस पर ध्यान नहीं दे रही है। 

Edited By Priti Jha

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept