40 मुक्तों की शहीदी को समर्पित माघी पर्व श्रद्धा से मनाया

सिख कौम के बहादुर जरनैल शहीद भाई महा सिंह समेत 40 मुक्तों की शहीदी को समर्पित माघी का पवित्र त्योहार गुरुद्वारा शहीद बाबा तारा सिंह वां में श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की छत्रछाया में श्रद्धापूर्वक मनाया गया।

JagranPublish: Tue, 18 Jan 2022 05:13 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 05:13 PM (IST)
40 मुक्तों की शहीदी को समर्पित माघी पर्व श्रद्धा से मनाया

संवाद सूत्र, भिखीविड : सिख कौम के बहादुर जरनैल शहीद भाई महा सिंह समेत 40 मुक्तों की शहीदी को समर्पित माघी का पवित्र त्योहार गुरुद्वारा शहीद बाबा तारा सिंह वां में श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की छत्रछाया में श्रद्धापूर्वक मनाया गया। इस मौके पर रखवाए गए श्री अखंड पाठ साहिब जी के भोग डाले गए, उपरांत रागी जत्थे द्वारा शबद कीर्तन किया गया। दूर-दूर से आई संगत ने गुरुद्वारा साहिब में नतमस्तक होकर सरबत के भले लिए अरदास करवाई।

समागम के दौरान ढाडी मिलखा सिंह मौजी, तरसेम सिंह अमरकोट समेत कविश्री जत्थों ने सिख कौम का गौरवमयी इतिहास सुनाते कहा कि दशमेश पिता श्री गुरु गोबिद सिंह जी महाराज ने जुल्म के खिलाफ युद्ध लड़ते हुए लोगों की रक्षा की।

इसी तरह बाबा बंदा सिंह बहादुर जी, शहीद भाई महा सिंह जी समेत 40 मुक्तों, शहीद बाबा दीप सिंह जी, शहीद भाई तारू सिंह पूहला जी, बाबा शाम सिंह नारला जी, शहीद बाबा सुक्खा सिंह जी, शहीद मेहताब सिंह जी द्वारा जुल्म के खिलाफ लड़ाई लड़ते हुए शहादत का जाम पीकर सिख कौम का गौरवमयी इतिहास सुनहरी अक्षरों में लिख दिया।

इस मौके पर लोकल गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के मैनेजर जज सिंह, सरवन सिंह धुन्न, दलजीत सिंह गिल अमरकोट, मनजीत सिंह, हरि सिंह, सुखदेव सिंह भूरा, इंद्रजीत सिंह कलसियां, इकबाल सिंह उदोके, बुड्ढा सिंह वां, दर्शन सिंह, सूरता सिंह, परविदर सिंह वां, जरनैल सिंह वां, अंग्रेज सिंह, हरविदर सिंह बुर्ज, नरिदर सिंह कलसियां, मनजिदर सिंह, अमृतपाल सिंह, रंगा सिंह, अरविदर सिंह नवादा, गुरबीर सिंह, गुरबीर सिंह, दरबारा सिंह गिल, विरसा सिंह, देसा सिंह, रणजीत राणा, गुलशन अलगो ने समागम में हाजिरी भरी।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept