रजिया की बजाए डीसी ने फहराया तिरंगा, मालेरकोटला में कोटली ने दी सलामी

देश के 73वें गणतंत्र दिवस पर पुलिस लाइन स्टेडियम संगरूर में जिला स्तरीय प्रोग्राम आयोजित किया गया।

JagranPublish: Thu, 27 Jan 2022 03:56 PM (IST)Updated: Thu, 27 Jan 2022 03:56 PM (IST)
रजिया की बजाए डीसी ने फहराया तिरंगा, मालेरकोटला में कोटली ने दी सलामी

जागरण टीम, संगरूर/मालेरकोटला

देश के 73वें गणतंत्र दिवस पर पुलिस लाइन स्टेडियम संगरूर में जिला स्तरीय प्रोग्राम आयोजित किया गया। इसमें डीसी संगरूर रामवीर मुख्य मेहमान के तौर पर शामिल हुए। इस समागम दौरान कैबिनेट मंत्री रजिया सुल्ताना मुख्य मेहमान के तौर पर पहुंचने वाली थीं, लेकिन एक दिन पहले विभिन्न संगठनों द्वारा पूर्व डीजीपी मोहम्मद मुस्तफा के खिलाफ दर्ज मामले के मुद्दे पर रजिया सुल्ताना के झंडे फहराने के लिए पहुंचने का विरोध जताया गया था, जिसके चलते रजिया सुल्ताना का दौरा रद हो गया था। डीसी रामवीर द्वारा शहीदी यादगार में जाकर शहीदों को नमन पश्चात तिरंगा फहराकर सलामी दी। इसके बाद विभिन्न टुकड़ियों का निरीक्षण किया। मार्च पास्ट की सलामी के लिए परेड कमांडर डीएसपी दिड़बा पृथ्वी सिंह चहल की अगुवाई में पंजाब पुलिस की चार, होमगार्ड की एक टुकड़ी के अलावा अकाल अकादमी चीमा की बैंड टुकड़ी ने हिस्सा लिया। सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्मार्ट स्कूल लड़कियों की टीम ने राष्ट्रीय गान पेश किया। डीसी रामवीर द्वारा परेड कमांडर सहित अन्य टुकड़ियों के इंचार्जों को सम्मानित किया। वहीं जिला प्रधान की तरफ से एसएसपी स्वपन शर्मा, एडीसी अनमोल सिंह धालीवाल, एसपी पलविदर सिंह चीमां ने मुख्य मेहमान को सम्मानित किया। शहीदों को याद करते हुए डीसी रामवीर ने कहा कि देश को आजादी दिलाने के लिए बड़ी संख्या में शहीदों ने कुर्बानियां की हैं। इसकी बदौलत देश आज आजादी की हवा में सांस ले रहा है। इनमें शहीद भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु, लाला लाजपत राय, शहीद उधम सिंह, महात्मा गांधी सहित बहुत से देशभक्तों ने कुर्बानी की है। इसके बाद डा. भीमराव आंबेडकर ने सख्त मेहनत के बाद देश का संविधान बनाया, जो 26 नवंबर 1949 को बना। 26 जनवरी 1950 के दिन संविधान लागू हुआ। एडीसी अनमोल सिंह धालीवाल, सहायक कमिश्नर गगनदीप सिंह व अन्य अधिकारी मौजूद थे।

उधर, मालेरकोटला में डा. जाकिर हुसैन स्टेडियम में गणतंत्र दिवस मनाया गया। मुख्य मेहमान के तौर पर शामिल हुए विज्ञानिक व टेक्नोलोजी मंत्री पंजाब गुरकीरत सिंह कोटली ने राष्ट्रीय झंडा लहराने की रस्म अदा की। पश्चात परेड का निरीक्षण कर मार्च पास्ट से सलामी ली। उनके साथ डीसी माध्वी कटारिया, एसएसपी डा. रवजोत कौर मौजूद थे। मुख्य मेहमान ने कहा कि देश के संविधान ने समाज के विभिन्न टुकड़ों को जोड़ने का काम किया है। परेड कमांडर डीएसपी सौरभ जिदल की अगुवाई में विभिन्न टुकड़ियों ने मार्च पास्ट निकाला जिन्हें परेड कमांडर समेत मुख्य मेहमान ने सम्मानित किया। समागम का समाप्त राष्ट्रीय गीत से किया गया। समागम में ज्यूडिशियल अधिकारियों समेत एसपी इनवेस्टीगेशन रमनीश चौधरी, सहायक कमिश्नर गुरमीत कुमार, उपपुलिस कप्तान पवनजीत, गुरप्रीत सिंह, सनदीप सिंह, कार्यसाधक अफसर विकास उपल, तहसीलदार हरफूल सिंह, खुशविदर सिंह आदि मौजूद थे।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept