This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

रावी दरिया से मिले दो युवकों के शव का मामला: परिजनों ने मामा-भांजे का शव रोड पर रख तीन घंटे किया प्रदर्शन, दो राउंडअप

बुधवार को लापता हुए दो युवकों का शव शुक्रवार देर शाम रावी दरिया में संदिग्ध परिस्थितियों में मिले। दोनों युवक संजीव और अझय रिश्ते में मामा-भांजा हैं।

JagranSun, 13 Jun 2021 02:20 AM (IST)
रावी दरिया से मिले दो युवकों के शव का मामला: परिजनों ने मामा-भांजे का शव रोड पर रख तीन घंटे किया प्रदर्शन, दो राउंडअप

संवाद सहयागी, बमियाल/ नरोट जैमल सिंह: बुधवार को लापता हुए दो युवकों का शव शुक्रवार देर शाम रावी दरिया में संदिग्ध परिस्थितियों में मिले। दोनों युवक संजीव और अझय रिश्ते में मामा-भांजा हैं। मामले में शनिवार दोपहर करीब एक बजे पोस्टमार्टम के बाद मृतक के स्वजनों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर नरोट जयमल सिंह दीनानगर मार्ग पर बीडीपीओ कार्यालय के नजदीक शव रखकर रोड को जाम कर दिया। प्रदर्शनकारियों ने हत्या की आशंका जताते हुए आरोपितों पर कार्रवाई की मांग की।

इस प्रदर्शन में आम आदमी पार्टी के नेता लालचंद कटारूचक्क भी पहुंचे। उन्होंने पीड़ित परिवार को इंसाफ देने की मांग की। पुलिस ने इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। पूछताछ के लिए गांव के ही दो लोगों को राउंडअप भी किया गया है।

इस प्रदर्शन में मृतकों के परिजनों को इंसाफ दिलाने के लिए ग्रामीण दोपहिया वाहनों व ट्रैक्टर ट्रालियों से पहुंचे थे। उन्होंने पुलिस पर कार्रवाई न करने का आरोप लगाते हुए धरना लगा दिया। लोगों ने रियल्टी पाइंट पर सड़क के बीचो-बीच दोनों मृतक नौजवानों के शव रखकर रास्ता जाम कर दिया। इससे क्षेत्र का यातायात करीब तीन घंटे बाधित रहा। ठीक एक बजे लगे इस धरने में लोगों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। देखते ही देखते स्थानीय पुलिस के साथ तारागढ़ पुलिस थाना के प्रभारी व जिला पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। धरने के दौरान गांव वासियों की मौजूदगी में मृतक संजीव के पिता ऋषि पाल व मृतक अजय कुमार के पिता अशोक कुमार ने आरोप लगाया कि इस सारे मामले का मुख्य आरोपी उक्त गांव का ही है जो घटना से पहले उक्त दोनों मृतक नौजवानों को अपनी मोटरसाइकिल पर बिठाकर कहीं ले गया था। उसके तीन दिन बाद दोनों नौजवानों के शव ही मिले, परंतु पुलिस पीड़ित परिजनों के बयानों के आधार पर उक्त मोटरसाइकिल चालक पर मामला दर्ज करने के बजाय किसी अज्ञात पर मामला दर्ज कर उन्हें गुमराह करने की कोशिश कर रही है। आश्वासन के बाद शाम चार बजे खत्म हुआ धरना

एसपी प्रवजोत सिंह विर्क, एएसपी आदित्य के धरने पर पहुंचे और वहां बैठे लोगों को आश्वासन दिया कि पुलिस पूरी गहनता से मामले की जांच कर रही है और 10 दिन के भीतर ही आरोपियों को अति शीघ्र पकड़ कर मामले को सुलझा लिया जाएगा। आश्वासन के बाद लोगों ने करीब चार बजे धरना उठा लिया। दोनों मृतक नौजवान रिश्ते में मामा-भांजा थे। वहीं एएसपी आदित्य ने बताया कि पुलिस की ओर से घटना को लेकर मामला दर्ज किया है। पुलिस की ओर से मामले की जांच शुरू की गई है जांच के बाद जो भी तथ्य सामने आएंगे उनके आधार पर कार्रवाई की जाएगी। ये है मामला

मृतक के पिता ने 10 तारीख को पुलिस थाना नरोट जैमल सिंह में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। इसके आधार पर पुलिस द्वारा उक्त मृतकों की फोन लोकेशन ट्रेस की जा रही थी, जो गांव गुगरां के साथ बहते रावी दरिया के आसपास की पाई गई। जानकारी मिलने मृतकों के बाद परिजनों द्वारा गांव वालों के सहयोग से गत दिन रावी दरिया का एरिया खंगाला गया। इस दौरान दरिया के किनारे शाम सात बजे उक्त दोनों लापता नौजवानों के शव बरामद हुए। उक्त दोनों मृतकों के शव पर गहरे घाव के निशान पाए गए हैं। मौके पर मौजूद लोगों ने सूचना थाना नरोट जैमल सिंह को दी गई, जिसके बाद पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल पठानकोट भेज दिया था। तीन बहनों का इकलौता भाई था संजीव

धरने के दौरान ग्रामीणों ने बताया कि संजीव तीन बहनों का इकलौता भाई था। उसकी मौत की खबर सुनने के बाद से ही बहनों का रो-रो कर बुरा हाल है। मृतक के पिता ऋषि पाल का कहना है कि उनके बच्चों को साजिश का शिकार बनाया गया है। मृतक संजीव की माता ने बताया कि गांव का ही एक युवक बुधवार को उसके बेटे को दोपहर करीब एक बजे अपने मोटरसाइकिल पर बिठा कर ले गया था, जिसके बाद से उसका कुछ पता नहीं चला था।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

पठानकोट में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!