विकल्प मार्गो पर बढ़ाई नाकाबंदी, हर लूप होल को किया जा रहा बंद

रविवार को पूरे क्षेत्र में पुलिस की ओर से तीन घंटे स्पेशल नाकाबंदी करके जेएंडके से पंजाब में दाखिल होने वाले वाहनों की जांच पड़ताल के उपरांत ही उन्हें प्रवेश की अनुमति दी गई। वहीं पैदल जा रहे व्यक्तियों व दो पहिया वाहन चालकों की जांच भी की गई।

JagranPublish: Sun, 23 Jan 2022 05:40 PM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 05:40 PM (IST)
विकल्प मार्गो पर बढ़ाई नाकाबंदी, हर लूप होल को किया जा रहा बंद

संवाद सहयोगी, बमियाल: विधानसभा चुनाव व गणतंत्र दिवस को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो सके और कोई भी असामाजिक तत्व जिले की शांति भंग ना कर पाए। इसके लिए सुरक्षा एजेंसियां भी पूरी तरह से तैयार हैं। जिले में सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता बनाने के लिए पुलिस की ओर से जिले के अंदर भारत-पाकिस्तान सीमा और जम्मू कश्मीर से लगती सीमा पर सेकेंड लाइन आफ डिफेंस को मजबूत करते हुए विशेष नाकाबंदी की गई है, ताकि पठानकोट की सीमा में कोई भी संवेदनशील तत्व प्रवेश करने की हिम्मत न कर पाए। विधानसभा चुनावों को कुछ समय ही शेष रह गया है। सुरक्षा एजेंसियों की ओर से भी इनपुट जारी किया जा चुका है के कुछ लोग चुनावों के दौरान गड़बड़ी कर सकते हैं। इसके बाद से ही पुलिस पूरी तरह अलर्ट पर है।

इसके तहत रविवार को पूरे क्षेत्र में पुलिस की ओर से तीन घंटे स्पेशल नाकाबंदी करके जेएंडके से पंजाब में दाखिल होने वाले वाहनों की जांच पड़ताल के उपरांत ही उन्हें प्रवेश की अनुमति दी गई। वहीं पैदल जा रहे व्यक्तियों व दो पहिया वाहन चालकों की जांच भी की गई। पुलिस व कमांडो टीम ने इंटर स्टेट नाका फतेहपुर बमियाल, जनियाल, उज्ज दरिया पुल, खरकडा ठुठौवाल आदि सभी विकल्प मार्गो पर विशेष नाकाबंदी के दौरान हर वाहन की बारीकी से जांच पड़ताल की।

बमियाल क्षेत्र में पुलिस चौकी प्रभारी तरसेम सिंह और नरोट जैमल सिंह क्षेत्र में इंस्पेक्टर कुलवंत सिंह ने बताया कि पुलिस की ओर से रावी दरिया के संवेदनशील स्थानों पर भी विशेष नजर रखी जा रही है ताकि इन रास्तों के माध्यम से कोई असामाजिक तत्व जिले में दाखिल ना हो पाए। सर्च आपरेशन भी चलाया जा रहा है और ग्रामीणों को भी जागरूक किया जा रहा है। पाकिस्तान और जम्मू-कश्मरीर से सटा है बमियाल

बता दें कि यह पूरा क्षेत्र पाकिस्तान और जम्मू-कश्मीर की सीमा से सटा है। सुरक्षा की दृष्टि से यह अति संवेदनशील माना जाता है। जिले में दाखिल होने के लिए माधोपुर के बाद यह क्षेत्र दूसरा सबसे बड़ा विकल्प मार्ग है। क्षेत्र की संवेदनशीलता को देखते हुए यहां पुलिस की ओर से हर उस लूप होल को बंद करने का प्रयास किया जा रहा है, जहां से असामाजिक तत्व की ओर से अपनी गतिविधियों को अंजाम आशंका पैदा होती है। रात में बुलेट प्रूफ वाहनों के जरिए पैट्रोलिंग की जा रही

बीते दिनों गुरदासपुर और दीनानगर में भी विस्फोटक पदार्थ बरामद हो चुके हैं ऐसे में पुलिस सभी तथ्यों को देखते हुए इस सीमावर्ती क्षेत्र में पैनी निगाह बनाए हुए है। पुलिस की ओर से रात्रि में बुलेट प्रूफ वाहनों के जरिए पैट्रोलिग भी की जा रही है।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept