सरपंच ने तालाब की सफाई और निशानदेही के दिए निर्देश

इस दौरान सरपंच ने कहा कि गांव के तालाब की सफाई करवाई जाए और उसकी निशानदेही भी करवाई जाए ताकि ताकी पंचायत को पता लग सके कि इस तालाब के नाम कितनी जमीन है।

JagranPublish: Sat, 25 Jun 2022 05:28 PM (IST)Updated: Sat, 25 Jun 2022 05:28 PM (IST)
सरपंच ने तालाब की सफाई और निशानदेही के दिए निर्देश

संवाद सहयोगी, मामून: गांव पड़ियालाहडी में पंचायत का इजलास किया गया। इसमें गांव सरपंच रेनू बाला और सचिव रमेश लाल उपस्थित रहे। इस दौरान सरपंच ने कहा कि गांव के तालाब की सफाई करवाई जाए और उसकी निशानदेही भी करवाई जाए, ताकि ताकी पंचायत को पता लग सके कि इस तालाब के नाम कितनी जमीन है। इसके साथ गंदे पानी की निकासी के लिए नाला भी बनाया जाए। अभी तक गांव में गंदे पानी की निकासी के लिए कोई भी नाला नहीं बनाया गया है। इससे घरों का सारा गंदा पानी या तो नालियों में खड़ा रहता है या कुछ पानी गांव के तालाब में पड़ता है। वहीं, पीने के पानी की समस्या के बारे में भी सचिव को अवगत करवाया गया। इस पर गांव सचिव ने कहा कि इस समस्या का हल कुछ दिनों में निकाल दिया जाएगा।

गांव में बने श्मशानघाट में जो अभी-अभी डीप बोर लगाया गया है, उसमें पानी की मोटर लगवा दी गई है। अभी मोटर को बिजली का कनेक्शन नहीं मिला है। श्मशान घाट में नहाने के लिए एक टंकी का प्रबंध भी किया जाए। सचिव ने आए हुए लोगों को बुढ़ापा पेंशन लगाने के बारे में बताया व कहा कि औरतों को बुढ़ापा पेंशन लगवाने की आयु 58 साल है और पुरुषों की आयु 65 साल होनी चाहिए।

इस मौके पर रंजीत कुमार, जनकराज, निर्मला देवी, सोमादवी, पूर्व सरपंच रोशन लाल, मोहनलाल, रघुवीर सिंह, थूडु राम, सागर सिंह, अंग्रेज सिंह, महेंद्र सिंह, रमेश कुमार, छज्जू राम, जसवंत सिंह आदि मौजूद रहे।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept