बड़ी व छोटी माली की कुश्ती बराबरी पर छूटी

अंत में छिज मेला कमेटी ने सर्वसम्मति से निर्णय ले कर बड़ी माली के पहलवानों को एक लाख एक हजार रुपए व सिरोपे दे कर सम्मानित किया तथा छोटी माली के पहलवानों को 51 हजार रुपए व फूल मालाएं पहना कर पुरस्कृत किया।

JagranPublish: Sat, 25 Jun 2022 04:23 PM (IST)Updated: Sat, 25 Jun 2022 04:23 PM (IST)
बड़ी व छोटी माली की कुश्ती बराबरी पर छूटी

संवाद सहयोगी, जुगियाल: गांव कोट में छिज मेला कमेटी की ओर से पूर्ण सिंह पठानियां, बलकार सिह, पम्मी पठानियां, सूबेदार मेजर सिकंदर सिंह पठानिया की देखरेख में बाबा लखदाता के दरबार के समीप विशाल छिज मेला करवाया गया। इसमें पंजाब, हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, सेना व पुलिस के कई नामी पहलवानों ने भाग लिया। छिज मेले की शुरुआत से पहले बाबा लखदाता के दरबार में झंडे की रस्म अदा कर पूरे विश्व की शांति के लिए दुआ मांगी गई। इसके बाद छिज मेला कमेटी की ओर से कुश्तियों को शुरू करवाया गया।

छिज मेले में 200 से अधिक कुश्तियां करवाई गई। इसमें लोकल पहलवानों ने भी अपने जोर की आजमाइश की। बड़ी माली की कुश्ती भिमिया जम्मू व लवप्रीत खन्ना के बीच हुई। काफी देर तक दोनों पहलवानों में कुश्ती होने के बावजूद कोई नतीजा नहीं निकल सका। इस पर दोनों की कुश्ती बराबरी में छुड़वा दी गई। इसके बाद छोटी माली की कुश्ती गोपी लिलियां व रवि में हुई। इसमें भी कोई परिणाम न निकला व कुश्ती बराबरी में छुड़वा दी गई। अंत में छिज मेला कमेटी ने सर्वसम्मति से निर्णय ले कर बड़ी माली के पहलवानों को एक लाख एक हजार रुपए व सिरोपे दे कर सम्मानित किया तथा छोटी माली के पहलवानों को 51 हजार रुपए व फूल मालाएं पहना कर पुरस्कृत किया। बाबा लखदाता के दरबार के समीप विशाल मेला भी आयोजित हुआ। कमेटी के पदाधिकारियों ने बताया कि ऐसे छिज मेलों के आयोजनों से युवाओं को अपनी शक्ति की पहचान बनाने का अवसर मिलता है तथा युवा वर्ग को नशों से दूर रह कर देश हित व समाज कल्याण के कार्य करने के लिए प्रेरणा मिलती है।

इस अवसर पर पूर्ण सिंह, प्रवीण सिंह, सूबेदार मेजर सिकंदर सिंह पठानिया, सरपंच सिकंदर सिंह, बचित्तर सिंह, जग्गा सिंह, हरविद्र सिंह, अजीत सिंह, करनैल सिंह व अन्य उपस्थित रहे।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept