रोचक हो सकता है बंगा का सियासी अखाड़ा, पांच के बीच हो सकती है टक्कर

बंगा विधानसभा चुनाव में सभी राजनीतिक दलों के उम्मीदवार मैदान में उतर चुके हैं।

JagranPublish: Fri, 28 Jan 2022 10:13 PM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 10:20 PM (IST)
रोचक हो सकता है बंगा का सियासी अखाड़ा, पांच के बीच हो सकती है टक्कर

जगदीश लाल कलसी, बंगा

बंगा विधानसभा चुनाव में सभी राजनीतिक दलों के उम्मीदवार मैदान में उतर चुके हैं। अब राजनीतिक दंगल में बंगा में पांच कोणीय मुकाबला होता दिख रहा है। इंडियन नेशनल कांग्रेस ने पूर्व विधायक त्रलोचन सिंह सूंढ़ पर भरोसा जताया है। भारतीय जनता पार्टी ने पूर्व विधायक बंगा चौधरी मोहनलाल को उम्मीदवार बनाया है। अकाली दल तथा बसपा की ओर से निवर्तमान विधायक सुखविदर कुमार सुक्खी को टिकट दी गई है। आम आदमी पार्टी ने अकाली दल के पूर्व विधायक रहे बलवंत सिंह सरहाल के बेटे कुलजीत सरहाल को टिकट थमाया है। इसी तरह संयुक्त किसान मोर्चा ने आप के टिकट के प्रबल दावेदार रहे राजकुमार महल को उम्मीदवार बनाकर मैदान में उतार दिया है। शिरोमणि अकाली दल मान की ओर से मक्खन सिंह तारापुरी उम्मीदवार होंगे। इसके अलावा मनजीत सिंह भंगल सीपीआई सीपीएम तथा लोक भलाई पार्टी के उम्मीदवार भी चुनाव मैदान में अभी उतरने बाकी है।

बंगा से संयुक्त समाज मोर्चा के उम्मीदवार राजकुमार को बंगा से सीपीआई सीपीएम लोक भलाई पार्टी के अलावा अन्य वामपंथी विचारकों का समर्थन मिलने की पूरी संभावना है। अगर ऐसा होता है, तो राजकुमार बंगा में छोटे-छोटे किरती किसान संगठनों के अलावा वामपंथी वोटों को हासिल करके दूसरे राजनीतिक पार्टियों के उम्मीदवारों को कड़ी टक्कर देने के मुकाबले में खड़े हो सकते हैं। आप से राजकुमार को टिकट न मिलने से बंगा विधानसभा क्षेत्र से 50 लोगों की टीम ने इस्तीफा दिया है, जिसमें पंजाब कैडर, जिला केडर तथा विधानसभा बंगा कैडर के पदाधिकारी शामिल हैं। ये सभी पदाधिकारी अभी तक आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार कुलजीत सरहाल के पक्ष में प्रचार में नहीं निकले हैं। अब ये राजकुमार के लिए काम करेगे। इसके साथ ही किसानों का बोर्ड शिरोमणि अकाली दल बादल के साथ जुड़ा था। अब वह किसान संघर्ष के दौरान संयुक्त मोर्चे के साथ जुड़ेगा। जो कि अकाली दल बादल के लिए हानिकारक होगा। इसी तरह आप, अकाली दल बादल तथा बसपा से धनराशि जुटने पंजाब बसपा नाम की नई पार्टी बनाई है। उसके कार्यकर्ता भी बंगा के 70 बूथों पर सक्रिय हैं, जो कि संयुक्त संघर्ष मोर्चा के उम्मीदवार के पक्ष में प्रचार करेंगे। मोहनलाल भी काटेंगे कांग्रेस, बसपा व अकाली दल के वोट

बंगा से भाजपा उम्मीदवार चौधरी मोहल्ला बसपा, कांग्रेस तथा अकाली दल के वोट काटने में सफल रहेंगे। उन्होंने विभिन्न राजनीतिक दलों के राजनीतिक लोगों से संपर्क साधना शुरू कर दिया है। मोहनलाल बसपा, अकाली दल से दो बार बंगा के विधायक रहे हैं तथा कांग्रेस में पिछले दिनों सक्रिय रहे हैं तथा सांसद मनीष तिवाड़ी को जिताने में उनकी अहम भूमिका रही है। अब अपने लिए वोटों का जुगाड़ करना उनके लिए आसान है।

बंगा से शिरोमणि अकाली दल बादल तथा बसपा के उम्मीदवार डा. सुखविदर कुमार सुखी बेशक चुनाव प्रचार में सबसे आगे निकले हैं। उनके समर्थक में भी ऐसा ही प्रचार कर रहे हैं कि डा. सुक्खी बंगा से जीते हुए उम्मीदवार हैं, मगर जमीनी हकीकत पर क्षेत्र के राजनीतिक लोग कुछ अलग ही बयान करते हैं। डा. सुक्खी के साथ बहुजन समाज पार्टी चल रही है। मगर बहुजन समाज पार्टी से पंजाब बसपा के पदाधिकारी डा. सुक्खी के खिलाफ हैं तथा बंगा में बसपा का वोट बंट गया है। शिरोमणि अकाली दल बादल का वोट किसान मोर्चे के लोग कुछ हद तक काट लेंगे। इसके अलावा मोहनलाल दो बार विधायक रहे हैं तथा उनकी कुछ अकाली नेताओं पर निजी पकड़ है व अकाली नेता चाहे पार्टी के साथ चले, मगर वोट मामले पर वो मोहनलाल का समर्थन करेंगे। इसके अलावा कांग्रेस के कुछ पार्षद तथा ग्रामीण क्षेत्र के पदाधिकारी भी मोहनलाल के साथ है। इसीलिए डा. सुखविदर कुमार सुक्खी भाजपा उम्मीदवार मोहनलाल तथा संयुक्त किसान मोर्चा के उम्मीदवार राजकुमार के बीच में घिरे नजर आ रहे हैं। उन्हें अपनी जीत के लिए लिए कड़ा समर्थन जुटाने की जरूरत होगी।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept