वृक्षों के बिना मनुष्य का जीवन असंभव : संत सीचेवाल

पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में पिछले लंबे समय से कार्यरत संत बलबीर सिंह सीचेवाल ने पौधे लगाए।

JagranPublish: Fri, 28 Jan 2022 10:16 PM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 10:16 PM (IST)
वृक्षों के बिना मनुष्य का जीवन असंभव : संत सीचेवाल

जागरण संवाददाता, नवांशहर : पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में पिछले लंबे समय से कार्यरत संत बलबीर सिंह सीचेवाल ने अपनी नवांशहर यात्रा के दौरान एसकेटी प्लांटेशन टीम के सदस्यों के साथ बारादरी गार्डन में पौधरोपण किया। इस मौके पर उन्होंने पर्यावरण संरक्षण के मुद्दे को चुनावी मैनिफेस्टो में शामिल करने के व्यापक अभियान के अंतर्गत नवांशहर में प्रेस कांफ्रेंस के लिए आए थे।

संत सीचेवाल ने पौधरोपण करने के बाद अपने पर्यावरण संदेश में कहा कि वृक्षों और मनुष्य का बहुत ही गहरा रिश्ता है। शुरू से लेकर अंत तक वृक्ष मनुष्य का साथ निभाते हैं, वृक्ष परमात्मा के द्वारा दिए वो अनमोल तोहफे हैं जो केवल मनुष्य के लिए ही नही इस धरती पर रहते हर सजीव प्राणी के लिए बेहद उपयोगी है। धरती पर जीवन तभी तक संभव है जब तक धरती पर वृक्ष है। उन्होंने कहा कि वृक्ष हमारे सच्चे मित्र हैं जो अभी तक साइंस नही कर पाई वो हमारे लिए वृक्ष करते है। वृक्ष आक्सीजन छोड़ते है और कार्बनडाईआक्साइड ग्रहण करते हैं। एक रिपोर्ट बताती है कि 25 प्रतिशत तक ग्रीन हाउस गैसों के बढ़ने का कारण कम होता वन क्षेत्र है। वृक्ष मुफ्त में हवा को साफ करने का कार्य करते हैं। लाखों रुपये की आक्सीजन के साथ-साथ वृक्ष आर्थिक तौर पर भी मनुष्य की बहुत सहायता करते है। लेकिन फिर भी हम वृक्षों के योगदान को नजरंदाज कर रहे हैं। इसीलिए हमें धरती पर जीवन में वृक्षों की भूमिका को समझते हुए अधिक से अधिक पौधे लगाने का प्रयास करते रहना चाहिए और लगाए हुए पौधों की संभाल करनी चाहिए।

पद्मश्री संत सीचेवाल पिछले पांच वर्षों से जिला शहीद भगत सिंह नगर में एस के टी प्लांटेशन टीम द्वारा किए जा रहे पर्यावरण संरक्षण कार्यों विशेषकर जन्मदिन पर पौधारोपण मुहिम की सराहना की। इस मौके पर हरियाली उत्सव टीम से मनोज कंडा, गो ग्रीन इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन से राजन अरोड़ा, मनोज जगपाल, कुनाल पुरी, अखिल शर्मा शामिल रहे।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept