वायदों से मुकर रही सरकार

भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहा सूबा समिति के बुलावे पर किसानों का धारना जारी रहा।

JagranPublish: Sun, 02 Jan 2022 06:19 PM (IST)Updated: Sun, 02 Jan 2022 06:19 PM (IST)
वायदों से मुकर रही सरकार

संवाद सूत्र, श्री मुक्तसर साहिब

भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहा सूबा समिति के बुलावे पर डीसी दफ्तर के समक्ष चल रहा धरना रविवार को 14वें दिन में शामिल हो गया।

धरने में नेताओं ने कहा कि चन्नी सरकार की तरफ से मानी गई मांगों को लागू न करने पर समूह जत्थेबंदी में रोष पाया जा रहा है और चन्नी सरकार बैठक कर अपने वायदों से मुकर रही है। इसके रोष के तौर पर डीसी के दफ्तरों समेत सचिवालय का घेराव किया गया है। इस घेराव के दौरान पंजाब सरकार का पिट सियापा किया गया है।

जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष हरबंस कोटली, महासचिव गुरभगत सिंह भलाईआना, सचिव गुरादित्ता भागसर, मनोहर सिंह सिक्खा वाला, हरचरन सिंह लक्खेवाली, गुरतेज सिंह, दविदर सिंह, जगसीर सिंह, गुरपाश सिंह सिघेवाला, गुरमीत सिंह ने संबोधित किया। नेताओं ने कहा कि पंजाब की चन्नी सरकार बार-बार अपने वायदों से मुकर रही है, जिस को किसी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। नेताओं ने कहा कि नए साल पर किसानों ने कड़ाके की ठंड की परवाह न करते हुए मांगों मनवाने के लिए चन्नी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की है। वक्ताओं ने कहा कि खुदकुशी पीडित परिवारों के परिजनों नौकरियां और कर्ज माफी साथ साथ आंदोलनकारी किसानो पर पुलिस द्वारा किए गए मामलों को वापस लेना, मानी मांगों के अलावा पंजाब के कर्ज ग्रस्त किसानों मजदूरों का मुकम्मल कर्ज मुक्ति, हर घर रोजगार और बरसाती के कारण खराब हुई फसलों का मुआवजा देना व किसानों म•ादूरों समर्थकी कर्ज कानून्न बनाने आदि मांगों तक संघर्ष जारी रहेगा।

इस मौके पर तरसेम सिंह खुंडे हलाल, बाज सिंह, पिप्पल सिंह, हरपाल सिंह व गांवों के प्रधान सचिव भी मौजूद थे।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम