पाठशाला मंदिर में भक्तों ने किया हनुमान चालीसा का पाठ

। श्री सनातन धर्म पाठशाला मंदिर में बने प्राचीन हनुमान जी के मंदिर में भक्तों ने हनुमान जी के दर्शन कर मंगल कामना करते सर्वभले की प्रार्थना की और दरबार में ज्योति प्रचंड की।

JagranPublish: Tue, 18 Jan 2022 03:15 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 03:15 PM (IST)
पाठशाला मंदिर में भक्तों ने 
किया हनुमान चालीसा का पाठ

संवाद सहयोगी, मोगा

श्री सनातन धर्म पाठशाला मंदिर में बने प्राचीन हनुमान जी के मंदिर में भक्तों ने हनुमान जी के दर्शन कर मंगल कामना करते सर्वभले की प्रार्थना की और दरबार में ज्योति प्रचंड की।

इसके उपरांत श्रद्धालुओं ने सामूहिक रूप से श्री हनुमान चालीसा का पाठ किया। गायकों ने चीर के छाती अपनी बोले पवन पुत्र हनुमान, जय सिया राम जय जय सिया राम, राम बिना दुख कौन हरे, जय जय जय हनुमान जी. आदि भजनों का गायन करके भक्ति रस बिखेरा। पंडित अरुण शुक्ला ने बताया कि भगवान की भक्ति में वो शक्ति है जो हमें आत्मबल प्रदान करती है। ये जीवन में आगे बढ़ने की प्रेरणा देती है। जीवन में कितनी भी मुश्किलें और दुख क्यों न हो हनुमान चालीसा का पाठ करने से सभी दूर हो जाते हैं। बजरंगबली अपने भक्त की भक्ति पर प्रसन्न होकर उसकी समस्त मनोकामना पूर्ण करते हैं। उन्होंने कहा कि समय-समय पर सुख और दुख आते रहते हैं, अपने अपने आप खत्म हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के इस दौर में हमें एक दूसरे का साथ देना चाहिए। उन्होंने बताया कि मंदिर में हर महीने माता बगलामुखी का हवन करवाया जाता है।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept