ईयर एंडर 2021: काेराेना की दूसरी लहर से लिया सबक, लुधियाना में बडे़ स्तर पर आक्सीजन प्लांट स्थापित

Year Ender 2021 काेविड की दूसरी लहर के बाद जिला प्रशासन ने प्राइवेट अस्पतालों में भी 3000 से अधिक बेड का इंतजाम किया गया है। इसके अलावा सिविल अस्पताल और सीएमसी अस्पताल में पीडियाट्रिक कोविड आइसीयू तैयार किए गए हैं।

Vipin KumarPublish: Thu, 30 Dec 2021 10:35 AM (IST)Updated: Thu, 30 Dec 2021 10:35 AM (IST)
ईयर एंडर 2021: काेराेना की दूसरी लहर से लिया सबक, लुधियाना में बडे़ स्तर पर आक्सीजन प्लांट स्थापित

लुधियाना, [आशा मेहता]। Year Ender 2021: दूसरी लहर में कोरोना के डेल्टा वेरिएंट ने जो तबाही मचाई है, उससे सबक जरूर मिला। दूसरी लहर में आक्सीजन की कमी सबसे अधिक खली है। तीसरी लहर में आक्सीजन की कमी न आए, इसे लेकर बडे़ स्तर पर आक्सीजन प्लांट स्थापित कर दिए गए हैं। चंडीगढ़ रोड स्थित एमसीएच में 500 एलपीएम, सिविल अस्पताल में एक 700 एलपीएम और एक 1000 एलपीएम का पीएसए प्लांट स्थापित हो चुका है। वहीं रायकोट में 250 एलपीएम, जवददी में 165 एलपीएम, खन्ना सिविल अस्पताल में 300 एलपीएम के प्लांट स्थापित किए जा चुके हैं।

इसके अलावा शहर के सीएमसी, डीएमसी, प्रोलाइफ, ग्लोबल अस्पताल, अरोड़ा अस्पताल, जीटीबी अस्पताल, गुरु नानक अस्पताल, राड़ा साहिब अस्पताल में भी पीएसए प्लांट स्थापित किए गए हैं। वहीं सिविल अस्पताल में कोविड मरीजों के लिए बेड कैपिसिटी बढ़ाकर अब 180 से 190 तक कर दी गई है। जबकि जिले के सरकारी अस्पतालों में इस साल काेविड मरीजाें के लिए 400 बेड का इंतजाम किया जा चुका है।

यह भी पढ़ें-ईयर एंडर 2021: लुधियाना के हलवारा इंटरनेशनल एयरपोर्ट टर्मिनल बिल्डिंग का काम शुरू, फ्लाइट का इंतजार

प्राइवेट अस्पतालों में भी 3000 से अधिक बेड का इंतजाम

जिला प्रशासन ने  प्राइवेट अस्पतालों में भी 3000 से अधिक बेड का इंतजाम किया गया है। इसके अलावा सिविल अस्पताल और सीएमसी अस्पताल में पीडियाट्रिक कोविड आइसीयू तैयार किए गए हैं। दूसरे अस्पतालों को भी कोविड आइसीयू तैयार करने के लिए कहा गया है। गाैरतलब है कि काेराेना की दूसरी लहर में लुधियाना जिले में सबसे ज्यादा केस आए थे। इस दाैरान नाइट कर्फ्यू लगाने की भी नाैबत आ गई थी। हालांकि अब शहर में काेराेना के मामलाें की रफ्तार अचानक कम जरूर हुई है, लेकिन खतरा अभी बरकरार है। इसकाे लेकर जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग सतर्क है।

यह भी पढ़ें-लुधियाना स्टेशन में चलती ट्रेन पर चढ़ने के प्रयास में अचानक गिरी महिला, फिर हुआ कुछ ऐसा की बच गई जान

Edited By Vipin Kumar

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept