अब एनसीसी कैडेट्स की सेमेस्टर परीक्षाएं नहीं हो सकेंगी मिस, यूजीसी ने यूनिवर्सिटीज को कही ये बात

एनसीसी के विद्यार्थी समय-समय पर किसी न किसी गतिविधि में व्यस्त रहते हैं। यूजीसी ने कहा कि कैडेट्स के कैंप में व्यस्त होने के चलते उनके सेमेस्टर परीक्षाएं मिस हो जाया करती थी। यूजीसी ने कैडेट्स की विशेष तिथियों पर परीक्षाएं लेने की व्यवस्था करने की आदेश दिए हैं।

Vinay KumarPublish: Thu, 02 Dec 2021 08:58 AM (IST)Updated: Thu, 02 Dec 2021 08:58 AM (IST)
अब एनसीसी कैडेट्स की सेमेस्टर परीक्षाएं नहीं हो सकेंगी मिस, यूजीसी ने यूनिवर्सिटीज को कही ये बात

जागरण संवाददाता, लुधियाना। नेशनल कैडेट् कोरप (एनसीसी) के विद्यार्थी समय-समय पर किसी न किसी गतिविधि में व्यस्त रहते हैं। अब अगले माह गणतंत्र दिवस सेलिब्रेशन होने जा रहा है जिसके चलते कैडेट्स रिपब्लिक डे कैंप में व्यस्त हैं। यह कैंप नवंबर-दिसंबर माह में लगाए जाते हैं। यूजीसी ने कहा कि अब से पहले देखने में आता था कि कैडेट्स के कैंप में व्यस्त होने के चलते उनके सेमेस्टर परीक्षाएं मिस हो जाया करती थी और उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ता था लेकिन अब से ऐसा नहीं होगा।

यूजीसी ने सभी उच्च शिक्षण संस्थानों को निर्देश दिए हैं कि कैडेट्स की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए विशेष तिथियों पर विशेष परीक्षाएं लेने की व्यवस्था की जाए। इसके लिए कैडेट को दोबारा री-टेस्ट के लिए अपीयर होने के लिए न बुलाया जाए। यूजीसी ने कहा कि इस प्रयास से न तो कैडेट्स को किसी तरह की दिक्कत का सामना करना पड़ेगा और न ही उनके, सेमेस्टर एगजाम मिस हो सकेंगे।

विभिन्न कालेजों के विद्यार्थी बनते हैं ट्रेनिंग कैंप का हिस्सा

अगर कालेजों की बात करें तो तकरीबन हर कालेज के ही बहुत से विद्यारि्थयों ने एनसीसी को अडाप्ट किया होता है और वह समय-समय पर बहुत से ट्रेनिंग कैंप का हिस्सा बनते हैं।खैर अब रिपबि्लक डे कैंप में कैडेट्स व्यस्त हैं और दूसरी तरफ इसी महीने से कैडेट्स की सेमेस्टर परीक्षाएं भी शुरू होने जा रही है। ऐसे में यूजीसी ने कैडेट्स के हित की सोची है। रामगढि़या गल्र्स कालेज मिल्लरगंज की प्रिसिंपल डा. राजेश्वरपाल कौर की मानें तो यूजीसी की यह पहल अच्छी है। ऐसा पहली बार है जब एनसीसी कैडेट्स के लिए यूजीसी ने उच्च शिक्षण संस्थानों को निर्देश दिए हैं कि उनके लिए स्पेशल परीक्षा लेने क आयोजन किया जाए। उन्होंने कहा कि अभी कालेजों को पंजाब यूनिवरि्सटी की तरफ से ऐसा कोई निर्देश नहीं आया है लेकिन यूजीसी ने अगर निर्देश दिए हैं तो आने वाले दिनों में कालेजों तक यूनिवर्सिटी की तरफ से यह आदेश मिल जाएंगे।

Edited By Vinay Kumar

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept