भारत-पाक युद्ध की 50वीं वर्षगांठ पर फ्लाइंग अफसर निर्मल सिंह सेखों को नमन

भारत-पाक के बीच हुए 1971 युद्ध की 50वीं वर्षगांठ पर डीसी दफ्तर में कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में इस युद्ध के हीरो रहे फ्लाइंग अफसर निर्मलजीत सिंह सेखों की प्रतिमा पर डिप्टी कमिश्नर वरिदर शर्मा की अगुआई में पुलिस सेना व सेना के पूर्व अधिकारियों ने नमन किया।

JagranPublish: Sat, 04 Dec 2021 09:12 PM (IST)Updated: Sat, 04 Dec 2021 09:12 PM (IST)
भारत-पाक युद्ध की 50वीं वर्षगांठ पर फ्लाइंग अफसर निर्मल सिंह सेखों को नमन

जागरण संवाददाता, लुधियाना : भारत-पाक के बीच हुए 1971 युद्ध की 50वीं वर्षगांठ पर डीसी दफ्तर में कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में इस युद्ध के हीरो रहे फ्लाइंग अफसर निर्मलजीत सिंह सेखों की प्रतिमा पर डिप्टी कमिश्नर वरिदर शर्मा की अगुआई में पुलिस, सेना व सेना के पूर्व अधिकारियों ने नमन किया। पुलिस की टीम ने युद्ध में मिली जीत की खुशी में फ्लाइंग अफसर निर्मलजीत सिंह सेखों की प्रतिमा को सलामी दी। इस समारोह में वीर चक्र विजेता कर्नल रिटायर एचएस काहलों, विग कमांडर एमएस रंधावा, कर्नल एसएस भुल्लर, कैप्टन नछत्तर सिंह, सूबेदार भूपिदर सिंह, चेयरमैन केके बावा व अन्य शामिल रहे। इस मौके पर डीसी वरिदर शर्मा ने जीओजी से पहुंचे सदस्यों व ब्रिगेड कमांडर नीरज शर्मा का धन्यवाद किया।

डीसी ने कहा कि शहीद निर्मलजीत सिंह सेखों ने इसी लुधियाना की धरती पर जन्म लिया और भारत पाक युद्ध में अदम्य साहस दिखाया। उन्होंने कहा कि निर्मलजीत सिह सेखों का जन्म 17 जुलाई 1943 को इस्सेवाल गांव में हुआ। चार जुलाई 1967 को सेना में शामिल हुए और 1971 में भारत-पाक युद्ध में अदम्य साहस दिखाते हुए 14 दिसंबर को शहीद हुए। उन्होंने पाकिस्तान के जहाजों को खदेड़ने में अहम भूमिका निभाई थी। उनकी इस वीरता के लिए सरकार ने सर्वोच्च सेना पुरुस्कार परमवीर चक्र से सम्मानित किया।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept