This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

लुधियाना में युवक ने की आत्महत्या, स्वजनों ने पुलिस के खिलाफ आधी रात काे लगाया धरना; टाॅर्चर करने का आरोप

युवक के पिता रिशीपाल ने कहा कि कुछ दिन पहले हरगोबिंद नगर में हुई गैंगवार की जांच के दौरान थाना डिविजन नंबर तीन की पुलिस ने अरुण को भी हिरासत में लिया था। थाने में पुलिस ने उसे बुरी तरह टाॅर्चर किया गया।

Vipin KumarSat, 12 Jun 2021 08:53 AM (IST)
लुधियाना में युवक ने की आत्महत्या, स्वजनों ने पुलिस के खिलाफ आधी रात काे लगाया धरना; टाॅर्चर करने का आरोप

लुधियाना, जेएनएन। मोती नगर की डाॅ. अंबेडकर काॅलोनी (घोड़ा कालोनी) के 22 वर्षीय युवक अरुण कुमार ने जहरीला पदार्थ निगलकर आत्महत्या कर ली। सिविल अस्पताल में शुक्रवार को उसने दम तोड़ दिया। गुस्साए स्वजनों ने अस्पताल में शव रखकर पुलिस पर उसे थाने में टार्चर करने के आरोप लगाए। मांग की कि परिवार को मुआवजा दिया जाए और एसीपी सेंट्रल वरियाम सिंह का तबादला किया जाए।

यह भी पढ़ें-Loot In Ludhiana : लुधियाना में पंप से गन प्वाइंट पर 81 हजार व मोबाइल लूटे, पेट्रोल भरवाने आए तीन बदमाशाें ने दिया अंजाम

गैंगवार के दौरान पुलिस ने अरुण को भी लिया था हिरासत में

युवक के पिता रिशीपाल ने कहा कि कुछ दिन पहले हरगोबिंद नगर में हुई गैंगवार की जांच के दौरान थाना डिविजन नंबर तीन की पुलिस ने अरुण को भी हिरासत में लिया था। थाने में पुलिस ने उसे बुरी तरह टाॅर्चर किया गया। वीरवार को जब वह घर आया तो उसने पुलिस की प्रताड़ना के बारे में बताया था। वीरवार शाम वह घर से चला गया। रात साढ़े दस बजे जब लौटा तो उसके मुंह से झाग निकल रहा था।

अस्पताल में प्रदर्शनकारियों को शांत करने के लिए थाना डिवीजन नंबर दो और थाना बस्ती जोधेवाल के प्रभारी मौके पर पहुंचे। इसके बाद मेडिकल बोर्ड ने शव का पोस्टमार्टम किया। इसमें फारेंसिक एक्सपर्ट डा. चरण कमल, डाॅ. शीतल शर्मा शामिल थे। इस दौरान वीडियोग्राफी भी की गई।

---

यह भी पढ़ें-लुधियाना में मई व जून में कोविड प्रोटोकाल से हुए 1229 अंतिम संस्कार, विभाग के रिकार्ड में कुल 678 मौतें

किसी को नहीं किया टाॅर्चर

थाना डिवीजन नंबर तीन की प्रभारी मधु बाला का कहना है कि अरुण सहित तीन को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था। पूछताछ से पहले ही स्वजनों ने थाने के बाहर प्रदर्शन शुरू कर दिया था जिस कारण उसे छोड़ना पड़ा था। टाॅर्चर करने वाली तो कोई बात नहीं है।

 

Edited By: Vipin Kumar

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

लुधियाना में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!