चुनाव आयोग ने डीएसपी दाखा को भेजा कारण बताओ नोटिस

श्री अकाल तख्त साहित के जत्थेदार के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी कर उसे इंटरनेट मीडिया पर शेयर करने के मामले में सांसद रवनीत सिंह बिट्टू के खिलाफ कार्रवाई को लेकर 20 महीने बाद नया मोड़ आ गया है।

JagranPublish: Fri, 28 Jan 2022 01:54 AM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 01:54 AM (IST)
चुनाव आयोग ने डीएसपी दाखा को भेजा कारण बताओ नोटिस

राजन कैंथ, लुधियाना : श्री अकाल तख्त साहित के जत्थेदार के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी कर उसे इंटरनेट मीडिया पर शेयर करने के मामले में सांसद रवनीत सिंह बिट्टू के खिलाफ कार्रवाई को लेकर 20 महीने बाद नया मोड़ आ गया है। चुनाव आयोग ने इस मामले में शिकायत मिलने के 24 घंटे के अंदर संज्ञान लेते हुए डीएसपी दाखा को नोटिस जारी कर आज तक कार्रवाई नहीं करने का कारण पूछा है।

मुल्लांपुर दाखा के रहने वाले जगसीर सिंह ने 25 जनवरी को मुख्य चुनाव अधिकारी डा. एस करुणा राजू को एक शिकायत भेजी थी। इसमें बताया था कि वह लुधियाना से कांग्रेस के सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने सिख धर्म के सर्वोच्च स्थान श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार हरप्रीत सिंह के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग करते हुए उन्हें नया भिडरावाला बनने का नाम दिया था। उनकी तुलना पंजाबी गायकों से करते हुए उनके परिवार की धार्मिक भावनाओं को आहत किया था। सिख धर्म के सबसे पवित्र स्थान की गोलक की चिता करने की असहनीय टिप्पणी की थी। इस कारण 21 जून 2020 में उन्होंने डीएसपी दाखा के पास शिकायत दर्ज करवाकर बिट्टू के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

नौ माह तक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके बाद 23 मार्च 2021 को उन्होंने सूचना के अधिकार के तहत जानकारी मांगी, लेकिन जानकारी नहीं दी गई। अपील करने पर 12 मई 2021 को आइजी लुधियाना रेंज ने जवाब देने के निर्देश दिए। डीएसपी ने इसके बावजूद सूचना नहीं दी। 22 जुलाई को सूचना अधिकार आयोग चंडीगढ़ में दूसरी अपील की गई। आयोग ने डीएसपी को 18 अक्टूबर 2021 को तलब कर लिया। थाना दाखा ने एक दिन पहले 17 अक्टूबर को एक अधूरी सूचना जारी कर आयोग को गुमराह किया। सही जवाब न मिलने पर आयोग ने एक बार फिर से डीएसपी को 19 जनवरी 2022 को तलब किया। इससे ठीक एक दिन पहले पुलिस ने 18 जनवरी को एक सूचना जारी की कि उक्त वीडियो दिल्ली से जारी किया गया था। इसलिए स्थानीय पुलिस इस पर कार्रवाई नहीं कर सकती है। जगसीर सिंह ने आरोप लगाया कि पुलिस ने यह बताने में 19 महीने लगा दिए। यह मामला मेरे कार्यभार संभालने से पहले का है। जगसीर सिंह की शिकायत निकलवा कर जांच की जाएगी। कानून के अनुसार पर बनती कार्रवाई की जाएगी।

जतिदरजीत सिंह, डीएसपी दाखा

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम