पनबस व पीआरटीसी के अनुबंध कर्मियों का धरना आज

पंजाब रोडवेज पनबस व पीआरटीसी कांट्रेक्ट वर्कर यूनियन सरकार की वादाखिलाफी के खिलाफ 20 जनवरी को सभी जिला के उपायुक्तों के कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन करेगी।

JagranPublish: Wed, 19 Jan 2022 08:34 PM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 08:34 PM (IST)
पनबस व पीआरटीसी के अनुबंध कर्मियों का धरना आज

जागरण संवाददाता, जगराओं :

पंजाब रोडवेज पनबस व पीआरटीसी कांट्रेक्ट वर्कर यूनियन सरकार की वादाखिलाफी के खिलाफ 20 जनवरी को सभी जिला के उपायुक्तों के कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन करेगी। इसके साथ ही 24 जनवरी को सूबे के परिवहन मंत्री अमरिंद्र सिंह बड़िंग के हलके में झंडा मार्च निकाला जाएगा।

यूनियन के सूबा ज्वाइंट सचिव जलौर सिंह गिल व डिपो जनरल सचिव अवतार सिंह और डिपो प्रधान सोहन सिंह ने कहा कि सरकार व भ्रष्ट प्रबंधन के खिलाफ यूनियन ने बीती 17 जनवरी से आंदोलन शुरू किया है। उन्होंने कहा कि कहा कि सरकार की तरफ से 842 नई बसें खरीदने और 400 करोड़ रुपये से बस अड्डों के नवीनीकरण की बातें महज दिखावे को लेकर की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि नई बसें बैकों से कर्जा लेकर खरीदी गई हैं और बस अड्डों के लिए भी कर्जा लिया गया है। इसके अलावा ट्रांसपोर्ट माफिया भी पहले की तरह चल रहा है और नाजायज बसों की गिनती तेजी से बढ़ी है। इसके अलावा अभी तक बसों के टाइम टेबल भी नहीं बने और बने थे उनको भी रद किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि प्रबंधन कर्मचारियों से आए दिन धक्केशाही कर रही है जिसके चलते कर्मियों को संघर्ष के लिए मजबूर होना पड़ा है। उन्होंने कहा कि सरकार ने यूनियन की सभी मांगों को मानते हुए 15 जनवरी को हड़ताल समाप्त करवाई थी लेकिन अब चुनाव आचार संहिता लगते ही सरकार फिर पल्ला झाड़ गई है। इसके अलावा रिश्वत लेकर अपनों को विभाग में भर्ती किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार ने मांगे नहीं मानी तो कर्मचारी फिर से बस स्टैंड बंद करने पर मजबूर होंगे, जिसकी जिम्मेवारी विभाग के अधिकारियों की होगी।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम