Punjab: लुधियाना में खुलेगा पहला मुस्लिम गर्ल्स कालेज, शाही इमाम बाेले-हिजाब और तिलक पर कोई पाबंदी नहीं

लुधियाना में हबीब गर्ल्स कालेज के लिए जगह ले ली गई। पंजाब के शाही इमाम ने कहा कि यह जनरल कालेज होगा इसमें सर्वधर्म की जरूरतमंद बेटियों को फ्री में शिक्षा भी दी जाएगी। यह मील का पत्थर साबित हाेगा।

Vipin KumarPublish: Mon, 16 May 2022 03:46 PM (IST)Updated: Mon, 16 May 2022 08:11 PM (IST)
Punjab: लुधियाना में खुलेगा पहला मुस्लिम गर्ल्स कालेज, शाही इमाम बाेले-हिजाब और तिलक पर कोई पाबंदी नहीं

जेएनएन, लुधियाना। ऐतिहासिक जामा मस्जिद में बीती रात बुलाई गई भिन्न-भिन्न मस्जिदों के प्रधान साहिबान और इमाम साहिबान व सामाजिक संगठनों के जिम्मेदारों की मीटिंग में एक ऐतिहासिक फैसला लेते हुए शाही इमाम पंजाब मौलाना मुहम्मद उस्मान रहमानी लुधियानवी ने ऐलान किया कि लुधियाना के मुस्लिम समाज की तरफ से  बेटियों के लिए जल्दी ही लुधियाना में मुस्लिम गर्ल्स कालेज की स्थापना की जाएगी।

उन्होंने बताया की यह कालेज स्व. शाही इमाम पंजाब मौलाना हबीब उर रहमान सानी लुधियानवी का सपना था इसलिए यह संस्थान उनको ही समर्पित किया गया है। शाही इमाम मौलाना मुहम्मद उस्मान रहमानी लुधियानवी ने इस विषय में बुलाए गए पत्रकार सम्मेलन में कहा कि लुधियाना में बनाने जा रहे हबीब गर्ल्स कालेज के लिए जगह ले ली गई हैं और जल्दी ही कैंपस का डिजाइन फाइनल होते ही कालेज बनना शुरू हो जाएगा।

कालेज का स्थापना समारोह 10 सितंबर को आयोजित होगा। शाही इमाम ने कहा कि यह जनरल कालेज होगा इसमें सर्व धर्म की जरूरतमंद बेटियों को फ्री में शिक्षा भी दी जाएगी। शाही इमाम मौलाना मुहम्मद उस्मान लुधियानवी ने कहा कि इस कालेज में मुस्लिम बेटियां हिजाब, सिख बेटियां दस्तार और हिंदू बेटियों को तिलक लगाकर पढ़ने की आजादी होगी किसी भी बेटी पर पहनावे को लेकर कोई पाबंदी नहीं लगाई जायेगी। उन्होने बताया की हबीब गर्ल्स कालेज में सभी डिग्री कोर्स करवाए जाएंगे।

मस्जिदों के नमाजी देंगे योगदान

शाही इमाम पंजाब ने कहा कि इस कालेज की भव्य इमारत को बनाने के लिए शहर और प्रदेश की सभी मस्जिदों के नमाजी योगदान देंगे। इस काम को सुचारू रूप से चलाने के लिया अहरार फाउंडेशन (एनजीओ) की स्थापना कर दी गई है। हबीब गर्ल्स कालेज के मार्गदर्शन के लिए बुद्धिजीवियों उद्योगपतियों, नौकरशाही और धार्मिक विद्वानों पर आधारित एडवाइजरी बोर्ड बनाया जा रहा है। शाही इमाम ने बताया कि कालेज का हास्टल साथ ही बनेगा ताकि पंजाब के सभी शहरों से अल्पसंख्यक समुदाय की बेटियां यहां रहकर शिक्षा हासिल कर सकें।

Edited By Vipin Kumar

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept