एनआइए ने जसविंदर सिंह मुल्तानी पर 10 लाख का इनाम रखा, लुधियाना बम ब्लास्ट की साजिश में उसका हाथ होने की आशंका

सिख्स फार जस्टिस के जसविंदर सिंह मुल्तानी के बारे में जानकारी देने वाले को नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी ने इनाम देने की घोषणा की है। लुधियाना कोर्ट बम ब्लास्ट में मुल्तानी का नाम आने के बाद एनआइए ने उस पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है।

Vinay KumarPublish: Tue, 18 Jan 2022 09:22 AM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 11:04 AM (IST)
एनआइए ने जसविंदर सिंह मुल्तानी पर 10 लाख का इनाम रखा, लुधियाना बम ब्लास्ट की साजिश में उसका हाथ होने की आशंका

जागरण संवाददाता, लुधियाना। सिख्स फार जस्टिस के जसविंदर सिंह मुल्तानी के बारे में जानकारी देने वाले को नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआइए) ने 10 लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की है। लुधियाना कोर्ट बम ब्लास्ट में मुल्तानी का नाम आने के बाद एनआइए ने उस पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। यह पहला ब्लास्ट नहीं है, जिसमें मुल्तानी का नाम सामने आया है, बल्कि मुंबई के अलावा देश के अन्य हिस्सों में हुए आतंकी हमलों की साजिश में भी उसका नाम सामने आया है।

मुकेरियां के मंसूरपुर (जिला होशियारपुर) का रहने वाला जसविंदर लंबे समय से एनआइए के राडार पर है। पाकिस्तान की एजेंसी आइएसआइ के साथ मिलकर भारत विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में एनआइए चंडीगढ़ को उसकी तलाश है और उसके ऊपर दस लाख का इनाम रखा गया है। उल्लेखनीय है कि उसके खिलाफ 31 दिसंबर को गृह मंत्रालय के आदेश पर केस दर्ज किया गया था। मुल्तानी पिछले दिनों जर्मनी में रह रहा था और उसे वहां की एजेंसी ने बुलाकर पूछताछ की थी। साथ ही उसकी गिरफ्तारी की भी चर्चाएं हुई थी, लेकिन एक दिन बाद उसने एसजेएफ के गुरपतवंत सिंह पन्नू के साथ इंटरनेट मीडिया पर आकर अपनी गिरफ्तारी का खंडन किया था।

एनआइए की वांटेड सूची में शामिल मुल्तानी के संबंध में अधिकारियों ने कहा कि देश के अलावा विदेशों में आतंकी घटनाओं के सूत्रधार मुल्तानी के बारे में किसी तरह की सूचना एनआइए कंट्रोल रूप में साझा करें। नियमों के अनुसार सूचना देने वाले की पहचान गुप्त रखी जाएगी। एनआइए ने सूचना देने के लिए नंबर (011-24368800, 0172-2682900, 01) भी जारी किया है। एनआइए का कहना है कि मुल्तानी ने विदेशों में रहकर कई खालिस्तान समर्थकों के साथ भारत विरोधी साजिश रची और पंजाब में भी युवाओं को सोशल मीडिया के मार्फत से उन्हें पंजाब को भारत से अलग करने के लिए बहकाता रहा है।

इतना ही नहीं, पंजाब में आतंकी गतिविधियों के लिए मुल्तानी विदेशों में फंड एकत्रित कर हथियार, एक्सप्लोसिव की तस्करी करवाता रहा है। एनआइए का मानना है कि पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव में दहशत फैलाने के लिए भी काम कर रहा है। वह खालिस्तानी नेता हरदीप सिंह निज्जर, परमजीत सिंह पम्मा, सबी सिंह, कुलवंत सिंह का भी करीबी है।

Edited By Vinay Kumar

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept