जगराओं में सरकारी राशन डिपो में बांटी जा रही खराब गेहूं, डिपो होल्डर के खिलाफ उपभोक्ताओं का प्रदर्शन

पंजाब सरकार द्वारा गरीब जरूरतमंद लोगों को राशन डिपो से अनाज बांटा जाता है। शनिवार को विभाग के डिपो पर बांटा जा रहा गेहूं खराब और बदबूदार होने के कारण उपभोक्ताओं में गुस्से की लहर नजर आ रही है।

Vipin KumarPublish: Sat, 22 Jan 2022 01:54 PM (IST)Updated: Sat, 22 Jan 2022 01:54 PM (IST)
जगराओं में सरकारी राशन डिपो में बांटी जा रही खराब गेहूं, डिपो होल्डर के खिलाफ उपभोक्ताओं का प्रदर्शन

संवाद सहयोगी, जगराओं (लुधियाना)। पंजाब सरकार की तरफ से जरूरतमंद लोगों को राशन डिपो से अनाज बांटा जाता है। शनिवार को विभाग के डिपो पर बांटा जा रहा गेहूं खराब और बदबूदार होने के कारण उपभोक्ताओं ने प्रदर्शन किया। मोहल्ला गांधी नगर में गुरु के भट्टे पर रमेश कुमार के राशन डिपो पर से गेहू ले जाने वाले मलकीत सिंह, जगसीर सिंह, बलजिंदर सिंह, नाजुक मर्दाना और हरविंदर पाल सिंह ने राशन डिपो से मिली हुई गेहूं दिखाते हुए कहा कि इस गेहूं से गंदी बदबू आ रही है और यह खाने लायक नहीं है।

उन्होंने कहा कि जब यह गेहूं को पिसवाने के लिए वह आटा चक्की पर लेकर गए तो आटा चक्की के मालिक ने कहा कि इस गेहूं को बार-बार रुला लगाने के बाद भी इसकी बदबू नहीं जाती और लोग उनसे उलाहना देते हैं। जिस कारण वह इस राशन डिपो से आ रही गेहूं को पीसने के लिए नहीं ले रहे। उपभोक्ताओं ने आरोप लगाया कि जब उन्होंने खराब गेहूं देने संबंधी डिपो मालिक से कहा तो उसने कहा कि यही गेहूं मिलेगा। उपभोक्ता हरविंदर पाल सिंह ने रमेश कुमार के राशन डिपो पर से उन्हें कम तोल में गेहूं देने के आरोप लगाए। जब डिपो मालिक से कम गेहूं देने के लिए नाराजगी जताई तो उसके कहा कि इस बार आप को गेहूं दे देते हैं अगली बार से हमारे डिपो पर नहीं आना।

क्या कहना है डिपो मालिक का

इस संबंध में गुरु का भट्टा पर राशन डिपो के मालिक रमेश कुमार से बात की गई तो उन्होंने ने कहा कि इस बार गेहूं इसी तरह के आया है। जिसे वह बांट रहे हैं । उन्होंने उपभोक्ताओं की शिकायत मिलने पर विभाग के अधिकारियों को भी सूचित किया है । कम तोल में राशन देने पर वह कोई संतुष्टि जनक जवाब नहीं दे पाए और कहा कि उन्होंने उपभोक्ता की शिकायत पर उसे बाद में पूरा राशन दे दिया था।

क्या कहना है विभाग के अधिकारी का

इस संबंध में विभाग के अधिकारी एएफएसओ बेअंत सिंह ने कहा कि खराब गेहूं आने के संबंध में उन्हें गांव गालिब कलां और शहर के अन्य क्षेत्रों से भी सूचना मिली है। इस बार बांटने के लिए गेहूं मार्कफेड एजेंसी द्वारा भेजा गया है। खराब गेहूं की जांच के लिए इंस्पेक्टर की ड्यूटी लगा रहे हैं , जो मौके पर जाकर चेक करेंगे और खराब गेहूं को वहां से उठवा कर और गेहूं भेजा जाएगा ताकि उपभोक्ताओं को सही गेहूं मिल सके। डिपो होल्डर द्वारा तोले कम अनाज देने के आरोप पर उन्होंने कहा कि इसकी भी जांच की जाएगी। अगर डिपो होल्डर उपभोक्ताओं को तोल में काम राशन देता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी ।

Edited By Vipin Kumar

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept